Thursday , November 26 2020
Breaking News
Home / क्राइम / बलात्कारी बाबा : ‘संत’ के कमरे में बच्ची को भेजती थी शिष्या, शरीर में दैवीय स्थापना के नाम पर होता दुष्कर्म

बलात्कारी बाबा : ‘संत’ के कमरे में बच्ची को भेजती थी शिष्या, शरीर में दैवीय स्थापना के नाम पर होता दुष्कर्म

वडोदरा में ठगी और दुष्कर्म केस में हाल ही में जेल की हवा खा रहे बगलामुखी मंदिर के पाखंडी संत प्रशांत उपाध्याय की शिष्या दिशा जॉन ने अब राज उगलने शुरू कर दिए हैं। हाल में अरेस्ट की गई दिशा ने पुलिस पूछताछ में यह बात कुबूल कर ली है कि प्रशांत के कहने पर वह बच्ची को उसके बेडरूम में भेजा करती थी। क्योंकि, प्रशांत उससे कहता था कि वह उसके शरीर में दैवीय शक्तियों की स्थापना करता है। दिशा का यह भी कहना है कि वह प्रशांत से इतनी प्रभावित थी कि उसकी किसी बात को नकार नहीं पाती थी। दिशा से पुलिस की पूछताछ जारी है, इसलिए प्रशांत से जुड़े और भी कई राज से पर्दा उठने की संभावना है।

क्या है पूरा मामला

वडोदरा के बगलामुखी मंदिर के पाखंडी संत प्रशांत उपाध्याय के खिलाफ एक युवती ने हाल ही में दुष्कर्म की शिकायत दर्ज करवाई है। युवती ने शिकायत में कहा है कि प्रशांत ने 2013 से 2017 तक कई बार उसके साथ रेप किया। पीड़िता का कहना है कि उस समय उसकी उम्र 13 साल थी और वह प्रशांत के आश्रम में गुरु सेवा करने आई थी। प्रशांत ने उसका इलाज करने के बहाने उसके शरीर में दैवीय शक्ति की स्थापना करने की बात पर उसके साथ तीन सालों तक दुष्कर्म किया था। छोटी होने और प्रशांत के प्रभाव के डर के मारे उसने यह बात किसी को नहीं बताई थी।

शरीर में दैवीय शक्ति की स्थापना करने की बात करता था दुष्कर्म।

वैकेशन में गुरु की सेवा करने आई थी आश्रम
युवती ने शिकायत में यह भी कहा है कि उसके पिता वारसिया बगलामुखी ब्रह्मास्त्र विद्या मंदिर में समय-समय पर दर्शन के लिए जाते थे और सत्संग में प्रशांत उपाध्याय से प्रभावित थे। इसके बाद पूरा परिवार इस मंदिर में जाने लगा था। वह भी गुरु सेवा के लिए आश्रम जाने लगी थी। इस बीच उसे सिर में तकलीफ होने पर प्रशांत उपाध्याय ने उसे दवाइयां देनी शुरू की थीं। दवाओं की जगह प्रशांत ने उसे नशे की गोली देकर दुष्कर्म किया था। दुष्कर्म के बाद प्रशांत ने उससे कहा कि वह उसके शरीर में दैवीय शक्ति की स्थापना कर रहा है। इसके बाद तीन सालों तक कई बार दुष्कर्म किया।

प्रशांत उपाध्याय की सेविका व दुष्कर्म की सह-आरोपी दिशा जॉन।

प्रशांत की तीन शिष्याओं को बनाया है सह-आरोपी
पीड़िता ने शिकायत में प्रशांत की तीन अन्य शिष्याओं को भी सह आरोपी बनाया है। पीड़िता का कहना है कि ये तीनों शिष्याएं…दिशा जॉन, दीक्षा जसवानी और उन्नति जोशी उसे प्रशांत के पास भेजा करती थीं। इस मामले में पुलिस ने दिशा जॉन को अरेस्ट किया है। दीक्षा के दुबई में कहीं होने के चलते उसकी तलाश की जा रही हैं। वहीं, अन्य तीसरी शिष्या उन्नति के बारे में अभी तक पता नहीं चल सका है कि वह कहां है। उन्नति के कुछ परिचितों का कहना है कि वह कई साल पहले गुजरात छोड़ चुकी है।

पीड़िता इसलिए रही चुपचाप
पीड़िता का कहना है कि वह उस समय मात्र 13 साल की थी। इसलिए किसी को बताने में डरती थी। वहीं, खुद उसका परिवार भी प्रशांत से काफी प्रभावित था। इसके बाद वह पारिवारिक कारणों और लोक-लाज के चलते वह इतने सालों तक चुपचाप रही। लेकिन, हाल ही में जब एक अन्य लड़की ने प्रशांत के खिलाफ दुष्कर्म और धोखाधड़ी का मामला दर्ज करवाया तो उसकी भी हिम्मत खुल गई।

खुदकुशी की कोशिश की थी प्रशांत ने
बता दें, बीते मई महीने में दुष्कर्म मामले के आरोपी प्रशांत उपाध्याय ने अपने घर पर नींद की गोलियां खाकर खुदकुशी की कोशिश की थी। इस दौरान वह 15 दिनों की जमानत पर जेल से बाहर आया था और जमानत अवधि खत्म होने के चलते सुसाइड की कोशिश की थी।

loading...
loading...

Check Also

बच्चों के नाम पर जरूर खोलें ₹150 से ये सरकारी खाता, पढ़ाई के लिए 19 लाख रुपए मिलेंगे

बच्चों की पढ़ाई अच्छे से हो और भविष्य में वो एक काबिल इंसान बन सके ...