Friday , April 23 2021
Breaking News
Home / उत्तर प्रदेश / बांदा की इस जेल में सख्त निगरानी में रहेगा मुख्तारअंसारी, आधुनिक असलहों के साथ पंजाब पहुंची UP पुलिस

बांदा की इस जेल में सख्त निगरानी में रहेगा मुख्तारअंसारी, आधुनिक असलहों के साथ पंजाब पहुंची UP पुलिस

लखनऊ/बांदा
बाहुबली विधायक मुख्तार अंसारी को पंजाब की रोपड़ जेल से यूपी की बांदा जेल में लाने की तैयारियां चल रही हैं। इस बीच जेल में सुरक्षा के कड़े बंदोबस्त किए गए हैं। बांदा जेल की दो बैरक के इर्द-गिर्द तीन लेयर का सुरक्षा घेरा बनाया गया है। इन दो बैरकों को मिलाकर मुख्तार अंसारी के लिए तन्हाई सेल बनाई गई है। बताते चलें कि सुप्रीम कोर्ट ने 26 मार्च को मुख्तार को पंजाब से यूपी जेल शिफ्ट करने का आदेश दिया था।

आइए आपको बताते हैं कि मुख्तार के लिए कैसा सुरक्षा घेरा बनाया गया है…

बाहरी सुरक्षा घेरे में दो सिविल पुलिस टीम
त्रिस्तरीय सुरक्षा घेरे में सबसे बाहरी चक्र सिविल पुलिस की दो टीमों के हवाले है। इन दोनों टीमों में एक-एक सब इंस्पेक्टर और 10-10 हथियारबंद कॉन्स्टेबल हैं। दूसरे सुरक्षा चक्र के तहत बांदा जेल के प्रवेश द्वार के पास स्पेशल सीसीटीवी लगाई गई है। जेल के पांच अधिकारियों की टीम इस सीसीटीवी फुटेज के जरिए चौबीसों घंटे सुरक्षा व्यवस्था की निगरानी करेगी।

अंदरूनी सिक्योरिटी कवर में जेल वॉर्डरों की टीम
इसके बाद बारी आती है तीसरे सुरक्षा चक्र की। मुख्तार के लिए बनाए गए सबसे अंदरूनी सिक्योरिटी कवर में जेल वॉर्डरों की टीम है। एक वरिष्ठ जेल अधिकारी का कहना है कि जेल विभाग के हेडक्वॉर्टर से सुरक्षा ऑडिट किया गया था। इसके बाद सुरक्षा व्यवस्था को और चाक-चौबंद किया गया है। इसके साथ ही एक जेल अधिकारी को लखनऊ स्थित जेल मुख्यालय के लगातार संपर्क में रहने के लिए तैनात किया गया है।

मुख्तार को लेकर आने वाले रूट्स की रेकी
चित्रकूट धाम रेंज के आईजी के सत्यनारायण का कहना है कि बांदा जेल के बाहर पीएसी की एक यूनिट को भी तैनात किया गया है। जेल के बाहर एक अस्थाई पुलिस आउटपोस्ट बनाने का भी निर्देश दिया गया है। इसके अलावा बांदा पुलिस ने उन रास्तों की रेकी भी की है, जहां से मुख्तार अंसारी को जेल लाने की तैयारी है। आईजी सत्यनारायण का कहना है कि बांदा पुलिस को हाई अलर्ट पर रखा गया है। जिले के तमाम लॉज, होटल और रेस्ट हाउस की सोमवार सुबह ही जांच-पड़ताल की जा चुकी है।

बैरक नंबर 15 होगा मुख्तार नया ठिकाना
बांदा जेल की बैरक नंबर 15 माफिया डॉन मुख्तार अंसारी का नया ठिकाना होगा। सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए जेल के बड़े पेड़ों को छंटवा दिया गया है। इसके साथ ही जेल के आसपास की बिल्डिंगों से भी मुख्तार पर नजर रखी जाएगी। बैरक नंबर-15 को सीसीटीवी कैमरों से भी लैस किया गया है। उसकी हर एक गतिविधि पर सीसीटीवी कैमरे से नजर रखी जाएगी। फिलहाल बांदा जेल में उसे वीआईपी ट्रीटमेंट नहीं मिलने वाला है।

दो साल से मुख्तार रोपड़ जेल में बंद
सुप्रीम कोर्ट ने 26 मार्च को पंजाब सरकार को आदेश दिया था कि संगीन मुकदमों में आरोपी विधायक मुख्तार अंसारी को उत्तर प्रदेश सरकार को सौंपा जाए। पंजाब पुलिस 2 साल पहले बांदा जेल से ही एक मुकदमे के सिलसिले में मुख्तार अंसारी को पंजाब ले गई थी। मुख्तार अंसारी बीते दो साल से पंजाब की रोपड़ जेल में बंद है।

आधुनिक असलहों के साथ पंजाब पहुंची है UP पुलिस

ADG प्रयागराज जोन प्रेम प्रकाश को मुख्तार अंसारी को पंजाब से बांदा जेल लाने की जिम्मेदारी दी गई है। अंसारी को सड़क मार्ग से ही बांदा जेल शिफ्ट किया जाएगा। सोमवार को बांदा पुलिस लाइन से चित्रकूट धाम मंडल के करीब 100 जवानों को पंजाब रवाना किया गया था। 20 से अधिक पुलिस की गाड़ियों के काफिले में वज्र वाहन और एंबुलेंस भी शामिल हैं।

टीम में एक सीओ, दो इंस्पेक्टर, छह सब इंस्पेक्टर, 20 हेड कांस्टेबल, 30 कांस्टेबल और एक कंपनी PAC के जवान हैं। पुलिसकर्मी बुलेटप्रूफ जैकेट और अन्य हाइटेक सुविधाओं के साथ रवाना हुए। एम्बुलेंस में जिला अस्पताल के वरिष्ठ डॉक्टर एसडी त्रिपाठी के साथ स्वास्थ्य विभाग की टीम भी रवाना हुई थी। यह टीम आज सुबह 4 बजे रूपनगर पुलिस लाइन पहुंची थी।

मुख्तार के बड़े भाई ने जेल में षडयंत्र की आशंका जताई

मुख्तार के बड़े भाई और गाजीपुर से बसपा सांसद अफजाल अंसारी ने आशंका जताई है कि उत्तर प्रदेश की जेल में रखे जाने पर मुख्तार अंसारी के साथ कोई षडयंत्र रचा जा सकता है। अफजाल अंसारी ने इसके खिलाफ कोर्ट जाने के संकेत दिए हैं। कहा कि जब राज्य सरकार द्वारा की सुरक्षा पर संकट पैदा किया जा रहा है तो न्यायपालिका की शरण में जाने के सिवाय कोई अन्य विकल्प नहीं बचता है। वहीं, इससे पहले बीते बुधवार को मुख्तार की पत्नी आफशां अंसारी ने राष्ट्रपति को पत्र भेजकर पति के लाइफ प्रोटेक्शन की मांग की थी।

मुख्तार अंसारी को क्यों लाया गया था पंजाब?

8 जनवरी 2019 को मोहाली के एक बड़े बिल्डर की शिकायत पर वहां की पुलिस ने अंसारी के खिलाफ 10 करोड़ की फिरौती मांगने का केस दर्ज किया था। 12 जनवरी को प्रोडक्शन वारंट हासिल करने के लिए पुलिस कोर्ट पहुंची। 21 जनवरी 2019 को मोहाली पुलिस मुख्तार अंसारी को प्रोडक्शन वारंट पर उत्तर प्रदेश से मोहाली ले आई। 22 जनवरी को कोर्ट ने उसे एक दिन की रिमांड पर भेज दिया। 24 जनवरी को उसे न्यायिक हिरासत में रोपड़ जेल भेज दिया गया।

8 बार लौटी UP पुलिस

2 साल में उत्तर प्रदेश पुलिस की टीम 8 बार अंसारी को लेने पंजाब गई, लेकिन हर बार सेहत, सुरक्षा और कोरोना का कारण बताकर पंजाब पुलिस ने सौंपने से इनकार कर दिया। पंजाब पुलिस डॉक्टर की सलाह का हवाला देती रही कि अंसारी को डिप्रेशन, शुगर, रीढ़ की बीमारियां हैं। ऐसे में उसे कहीं और शिफ्ट करना ठीक नहीं है। कानपुर में बिकरु कांड के आरोपी विकास दुबे के एनकाउंटर के बाद अंसारी ने जान का खतरा बताया था, उसने पत्र लिखकर आशंका जताई थी कि जैसे दुबे की जीप पलट गई और जान चली गई, ऐसे मेरी भी जा सकती है।

 

 

loading...
loading...

Check Also

30 अप्रैल को है महिला कांस्टेबल की शादी, लॉकडाउन के कारण छुट्‌टी नहीं मिली तो थाने में ही रस्म अदायगी

डूंगरपुर।  आमतौर पर थानों में चोर-बदमाश की धरपकड़ की बातें, मुजरिमों को हड़काने की आवाज ...