Tuesday , September 22 2020
Breaking News
Home / ख़बर / बाजवा की बेइज्जती कराई, फिर इमरान सरकार घुटनों पर आई, कश्मीर पर करने लगे सऊदी-सऊदी !

बाजवा की बेइज्जती कराई, फिर इमरान सरकार घुटनों पर आई, कश्मीर पर करने लगे सऊदी-सऊदी !

दुनियाभर में कुत्ते की पूछ के नाम से मशहूर पाकिस्तान इन दिनों हर जगह अपनी भद्दा पिटवा रहा है. खासकर कश्मीर मुद्दे पर सऊदी अरब को धमकी देना पाकिस्तान को इतना भारी पड़ रहा है कि वहां की हुक्कमरान से लेकर आवाम तक के होश उड़े हैं. ऐसे में अब पाकिस्तान गिड़गिड़ा रहा है. और अब उसने सऊदी के कश्मीर वाले रूख को सही ठहरा दिया है.

जी हां पाकिस्तान की कायर सेना के मुखिया बाजवा को दुनियाभर में भयंकर बेइज्जती कराकर सऊदी से खाली हाथ लौटने के बाद पाकिस्तान घुटनों पर आ गया है. कश्मीर मसले पर सऊदी अरब को मुस्लिम देशों का सम्मेलन बुलाने की धमकी दे रहे पाकिस्तान ने गुरुवार रात कहा, है कश्मीर मसले पर इस्लामिक सहयोग संगठन यानी कि OIC के रुख की वो सराहना करता है. ओआइसी प्रमुख के तौर पर सऊदी अरब की भूमिका प्रशंसनीय है.

बता दें कि दुनिया के 57 मुस्लिम देशों की सदस्यता वाले ओआइसी की अगुआई सऊदी अरब करता है. संयुक्त राष्ट्र के बाद ये दुनिया का दूसरा सबसे बड़ा संगठन है. पांच अगस्त, 2019 को जब जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 को हटाया गया था, तब भारत के खिलाफ पेशबंदी के लिए पाकिस्तान ने ये मसला ओआइसी में उठाया था. लेकिन उस वक्त कंगाल पाकिस्तान को कोई भी तवज्जो नहीं मिली.

उलटे कह दिया गया कि जम्मू-कश्मीर का मसला वो भारत के साथ बातचीत से निपटाए. जिसके बाद से पाकिस्तान सऊदी अरब पर कश्मीर मुद्दे को लेकर ओआइसी की बैठक बुलाने के लिए दवाब बनाने की कोशिश कर रहा है. यहां तक कि हाल ही में विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने ओआइसी की भूमिका पर आपत्ति जताते हुए मुस्लिम देशों का अलग से सम्मेलन बुलाने तक की धमकी दे डाली थी. जिसको लेकर सऊदी ने पाकिस्तान को उसकी औकात दिखानी शुरू कर दी है. जिसका नतीजा ये हुआ है कि सऊदी से पाकिस्तान का हुक्का पानी बंद हो गया. जिससे कंगाल मुल्क पाकिस्तान के हाल और बेहाल हो गए हैं.

दरअसल बौखलाए पाकिस्तान ने कई बार ओआइसी की भूमिका पर सवाल उठाए. यहां तक कि जवाब में दूसरा संगठन खड़ा करने के वास्ते प्रधानमंत्री इमरान खान मलेशिया भी जाने वाले थे लेकिन सऊदी अरब के आंखें दिखाने पर आखिरी वक्त उन्होंने अपना दौरा रद किया. लेकिन बाजवा की सऊदी में घोर बेइज्जती के बाद पकिस्तान के सुर बदल गए है.

पाकिस्तान के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता जाहिद हफीज चौधरी ने कहा, पाकिस्तान और सऊदी अरब के संबंधों में बिल्कुल भी दरार नहीं आई है. दोनों देश मजबूत आर्थिक, राजनीतिक और रक्षा सहयोग कायम किए हुए हैं. यानी कि सऊदी के कड़े तेवरों के आगे पाकिस्तान की सारी हवा निकल गई है. और अब वो सऊदी को मनाने में जुट गया है.

Check Also

ढूंढ-ढूंढकर ढेर कर रही है सेना, जान बचाने के लिए जमीन के नीचे दुबके आतंकी

कश्मीर घाटी में आतंक दम तोड़ रहा है. सेना ने आतंकवादियों की कमर तोड़ दी ...