Wednesday , October 28 2020
Breaking News
Home / क्राइम / बातचीत से नहीं माना चीन, भारत ने तैनात की टैंक रेजिमेंट, अब घुसकर मारेंगे ड्रैगन

बातचीत से नहीं माना चीन, भारत ने तैनात की टैंक रेजिमेंट, अब घुसकर मारेंगे ड्रैगन

लद्दाख में चीन ने भारत के साथ सीमा विवाद को जन्म दिया. जबरन भारतीय जमीन पर कब्जा करने की कोशिश की लेकिन भारतीय सेना ने न सिर्फ उन्हें खदेड़ा बल्कि पैंगोंग झील इलाके की कई महत्वपूर्ण चोटियों पर कब्जा भी किया. अब पिटा चीन बौखलाया हुआ है और ऊल-जलूल बकता घूम रहा है. चीनी मीडिया तो अपनी खबरों में युद्ध कराकर खुद को जीता हुए भी घोषित कर दिया है. सीमा पर तनाव कम करने के लिए चीन-भारत के बीच कई स्तर पर कई वार्ताएं हो चुकी हैं लेकिन चीन अड़ियल रुख के चलते बातचीत का कोई हल नहीं निकला. अब भारत ने सख्त कदम उठाया है. पूर्वी लद्दाख में टैंक रेजिमेंट को मैदान में उतार दिया है. इस रेजिमेंट में भीष्म, अर्जुन समेत कई आधुनिकतम टैंक हैं. जो कुछ ही क्षणों में दुश्मनों को काल बनकर निगल कर सकते हैं.

जानकारी के मुताबिक ये टैंक किसी भी मौसम और वक्त में युद्ध करने की क्षमताओं से लैस हैं. इस टैंक रेजिमेंट की तैनाती के साथ ही भारत ने चीन को स्पष्ट संदेश दे दिया है कि युद्ध की स्थिति में वह उसके कब्जे वाले इलाके में घुसने से भी परहेज नहीं करेगी. भारत ने साफ कर दिया है कि इस बार युद्ध हुआ तो घुसकर मारेंगे.

दरअसल, टैंकों की तैनाती समतल इलाके में युद्ध के लिए होती है. जबकि लद्दाख पहाड़ी इलाका है. हालांकि एलएसी के उस पार अक्साई चिन वाला इलाका पठारी है. जिस पर टैंक आसानी से दौड़ाए जा सकते हैं और युद्ध लड़ा जा सकता है. ऐसा करके भारत ने चीन को अप्रत्यक्ष रूप से बता दिया है कि अब यदि युद्ध हुआ तो वह भारत के इलाके में नहीं बल्कि उसके कब्जे वाले में होगा.

लद्दाख में तैनात सेना की 14वीं फायर एंड फ्यूरी कॉर्प्स के चीफ ऑफ स्टाफ मेजर जनरल अरविंद कपूर ने कहा कि सीमा की रक्षा के लिए टैंकों के साथ इन्फैंट्री कॉम्बेट व्हीकल भी तैनात किए गए हैं. उन्होंने कहा कि अपनी मातृभूमि की रक्षा के लिए जवान पूरे जज्बे के साथ डटे हुए हैं. कहा कि चीन ने यदि किसी भी प्रकार की हिमाकत की तो उसे करारा जवाब मिलना तय है.

loading...
loading...

Check Also

डरावना कोरोना : पेड़ के पत्तों की तरह सूख रही फेफड़ाें की झिल्लियां, मकड़ी के जाले जैसे निशान छोड़े

इन दिनों डॉक्टरों के पास कोविड रिकवर हो चुके मरीजों की लाइन लगी है। हर ...