Thursday , October 22 2020
Breaking News
Home / जरा हटके / बिहार का चुनाव : न तो ‘भाभी जी’ को टिकट मिला और ना ही ‘साली जी’ को, अब खुलके लड़ेंगे ‘तेजु भैया’!

बिहार का चुनाव : न तो ‘भाभी जी’ को टिकट मिला और ना ही ‘साली जी’ को, अब खुलके लड़ेंगे ‘तेजु भैया’!

दानापुर
बिहार विधानसभा चुनाव में आरजेडी चीफ लालू प्रसाद यादव के बड़े बेटे तेज प्रताप यादव की पत्नी और साली दोनों को टिकट नहीं मिला है। तेज प्रताप यादव ने अपनी पत्नी ऐश्वर्या राय के खिलाफ तलाक का मुकदमा दायर कर रखा है। दोनों परिवारों में अलगाव के बाद तेज प्रताप यादव के ससुर चंद्रिका राय ने कहा था कि दामाद तेज प्रताप यादव जिस भी सीट से चुनाव में उतरेंगे वहां से ऐश्वर्या उन्हें चुनौती देंगी

इस बयान के बाद चंद्रिका राय ने आरजेडी से इस्तीफा देने के बाद जेडीयू ज्वाइन कर लिया था। चंद्रिका राय को जेडीयू ने परसा विधानसभा सीट से प्रत्याशी बनाया है। राष्‍ट्रीय जनता दल (राजद) ने इस सीट से रीतलाल को टिकट दे दिया है। चंद्रिका राय के इस बयान के बाद तेज प्रताप यादव की कजिन साली करिश्मा ने आरजेडी ज्वाइन किया था, जिसके बाद अनुमान लगाया जा रहा था कि करिश्मा भी विधानसभा चुनाव में आरजेडी के टिकट पर भाग्य आजमाती हुई दिख सकती हैं।

करिश्मा को भी नहीं मिला टिकट
उम्मीद की जा रही थी कि तेज प्रताप यादव की साली करिश्‍मा राय को दानापुर विधानसभा सीट से टिकट नहीं दिया जाएगा, लेकिन ऐसा नहीं हो पाया है। राष्‍ट्रीय जनता दल (राजद) ने इस सीट से रीतलाल को टिकट दे दिया है। करिश्‍मा राय ने चाचा और पूर्व मंत्री चंद्रिका राय के परिवार का विरोध करके राजद ज्‍वाइन की थी। उन्‍होंने परसा और दानापुर सीट से अपनी दावेदारी की थी। दानापुर क्षेत्र में वह पिछले एक महीने से प्रचार भी कर रही थीं। दोनों ही सीटों पर पार्टी अपने उम्‍मीदवार घोषित कर चुकी है।

करिश्‍मा, तेजप्रताप की पत्‍नी ऐश्‍वर्या राय की बहन और पूर्व मुख्‍यमंत्री दारोगा प्रसाद राय की पोती हैं। उन्‍होंने तीन महीने पहले राष्‍ट्रीय जनता दल को ज्‍वाइन किया था।

तेज प्रताप यादव ने बदली अपनी सीट
आरजेडी प्रमुख लालू प्रसाद के बड़े बेटे तेज प्रताप यादव ने इस बार समस्तीपुर के हसनपुर विधानसभा सीट से नॉमिनेशन किया है। पिछली बार उन्होंने महुआ सीट से जीत दर्ज की थी, लेकिन इस बार वह समस्तीपुर चले गए हैं। तेजप्रताप के छोटे भाई तेजस्वी यादव भी उनके नामांकन दाखिल कराने के लिए हेलीकॉप्टर से पटना से समस्तीपुर पहुंचे थे। तेजप्रताप यादव अपने छोटे भाई तेजस्वी प्रसाद यादव के साथ रोसड़ा अनुमंडल अधिकारी के कक्ष में कागजात जमा करने के लिए गए थे, जबकि आरजेडी के सैकड़ों कार्यकर्ता और समर्थक सोशल डिस्टेंसिंग के मापदंड का उल्लंघन करते हुए बाहर दिखे।

समस्तीपुर के जिलाधिकारी शशांक शुभंकर ने कहा कि मामले की जांच करने के बाद सोशल डिस्टेंसिंग के मापदंड का उल्लंघन करने वालों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। शुभंकर ने कहा कि उन्होंने वीडियो फुटेज के जरिए सोशल डिस्टेंसिंग के मापदंड के उल्लंघन के आरोपों का पता लगाने के लिए कहा है।

तेज प्रताप ने 2015 में वैशाली जिले के महुआ विधानसभा क्षेत्र से चुनाव जीता था लेकिन उन्होंने इस बार अपनी सीट बदलने का निर्णय लिया और हसनपुर से नामांकन दाखिल किया है।

loading...
loading...

Check Also

केरल के मंदिर में घुस आया ‘शाकाहारी मगरमच्छ’, पुजारी ने वापस जाने को बोला और वो चला भी गया !

उत्तरी केरल के कासरगोड के श्री अनंतपुरा मंदिर के परिसर में मंगलवार को एक विशालकाय ...