Sunday , September 27 2020
Breaking News
Home / ख़बर / बिहार का सीरो सर्वे: 7 जिलों में एंटीबॉडी के मामले में समस्तीपुर टॉप, पटना की रिपोर्ट कर देगी हैरान !

बिहार का सीरो सर्वे: 7 जिलों में एंटीबॉडी के मामले में समस्तीपुर टॉप, पटना की रिपोर्ट कर देगी हैरान !

पटना. बिहार में धीरे-धीरे लोगों में कोरोना संक्रमण से लड़ने के लिए रोग प्रतिरोधक क्षमता (एंटीबॉडी) विकसित होने लगा है। यह खुलासा पूरे देश में किए गए सीरो सर्वे में हुआ है। देश के 66 जिलों में हुए सर्वे में सात जिले बिहार के भी हैं। पटना, वैशाली, भोजपुर, मुजफ्फरपुर, समस्तीपुर, कटिहार और भागलपुर में यह सर्वे किया गया है। इस हिसाब से राज्य इन सात जिलों में औसतन 18.81% आबादी में कोरोना के विरुद्ध एंटीबॉडी विकसित हो गया है।

इसमें सबसे अधिक समस्तीपुर में 27.8%, भोजपुर में 21%, वैशाली में 19.7%, पटना में 18.80%, भागलपुर में 18.60%, मुजफ्फरपुर में 16.80% और सबसे कम कटिहार के 9% आबादी में कोरोना से लड़ने की रोग प्रतिरोधक क्षमता विकसित हो गई है।

सीरो सर्वे क्या है, इसमें किसे शामिल किया गया
कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों को देखते हुए सीरोलॉजिकल सर्वे किया गया, जिसे शॉर्ट में सीरो सर्वे भी कहा जाता है। इस सर्वे की मदद से यह पता लगाया जाता है कि क्षेत्र विशेष में कोरोना संक्रमण कितना फैला है? कितनी बड़ी आबादी इस संक्रमण की चपेट में आई है? कितनी आबादी में लोगों के अंदर कोरोना संक्रमण से लड़ने के लिए रोग प्रतिरोधक क्षमता विकसित हो चुकी है? दूसरे शब्दों में कहे तो उनके शरीर में एंटीबॉडी बन चुकी है या नहीं।

विशेषज्ञों की मानें तो अगर कोई व्यक्ति कोरोना संक्रमित होता है, लेकिन उनमें लक्षण नहीं दिखाई देते हैं तो ऐसे लोगों में 5-6 दिन के अंदर अपने आप एंटीबॉडी बनना शुरू हो जाता है। यह वायरस को शरीर में पनपने नहीं देता है। सीरो सर्वे का उद्देश्य इसी दर का पता लगाना है।

Check Also

चीन को लाइन पर लाने के लिए सुगा का बड़ा फैसला, सेना पर खर्चेंगे सबसे ज्यादा पैसा !

चीन की वैश्विक गुंडई मानो थमने का नाम नहीं ले रही है, और ऐसे में ...