Wednesday , September 23 2020
Breaking News
Home / ख़बर / बिहार में कोरोना पर सरकार का बड़ा फैसला, संक्रमितों के लिए Good News से कम नहीं

बिहार में कोरोना पर सरकार का बड़ा फैसला, संक्रमितों के लिए Good News से कम नहीं

पटना. कोरोना का संक्रमण बढ़ा तो बिहार सरकार ने राज्य के निजी अस्पतालों को कोरोना के मरीजों का इलाज करने की अनुमति दे दी। निजी अस्पतालों ने इलाज तो शुरू किया, लेकिन जल्द ही मरीजों से मनमाने तरीके से पैसा वसूल करने की शिकायत आने लगी।

पटना के जेडीएम हॉस्पिटल ने तो कच्चा बिल देकर मरीज के परिजनों पर 634200 रुपए देने का दबाव बनाया। इन शिकायतों के चलते स्वास्थ्य विभाग ने पूरे बिहार के निजी अस्पतालों के लिए इलाज की दर तय कर दी। पटना के प्राइवेट हॉस्पिटल अब 18 हजार रोज से अधिक फीस नहीं ले पाएंगे।

इलाज की दर तय करने के लिए अस्पतालों को तीन कैटेगरी में बांटा गया है। श्रेणी ए में पटना के अस्पताल हैं। श्रेणी बी में भागलपुर, मुजफ्फरपुर, दरभंगा, गया और पूर्णिया के हॉस्पिटल हैं। श्रेणी सी में शेष अन्य जिले के अस्पताल हैं। हर श्रेणी के अस्पताल को दो वर्ग में बांटा गया है। पहला एनएबीएच से मान्यता प्राप्त अस्पताल और दूसरा एनएबीएच से गैर मान्यता प्राप्त अस्पताल। इसके बाद मरीज की स्थिति और उसे मिलने वाली सुविधा के अनुसार रेट तय किया गया है।

श्रेणी- ए के निजी अस्पताल का रेट

हॉस्पिटल की कैटेगरी मध्यम बीमार मरीज

आइसोलेशन बेड
(ऑक्सीजन के साथ)

गंभीर रूप से बीमार मरीज

आईसीयू (बिना वेंटिलेटर केयर के)

अत्यंत गंभीर रूप से बीमार मरीज

आईसीयू (वेंटिलेटर केयर के साथ)

एनएबीएच से मान्यता प्राप्त 10 हजार (पीपीई किट के 1200 रुपए शामिल) 15 हजार (पीपीई किट के 2000 रुपए शामिल) 18 हजार
(पीपीई किट के 2000 रुपए शामिल)
एनएबीएच से गैर मान्यता प्राप्त 8 हजार (पीपीई किट के 1200 रुपए शामिल) 13 हजार (पीपीई किट के 2000 रुपए शामिल) 15 हजार
(पीपीई किट के 2000 रुपए शामिल)

श्रेणी- बी के निजी अस्पताल का रेट

हॉस्पिटल की कैटेगरी मध्यम बीमार मरीज

आइसोलेशन बेड
(ऑक्सीजन के साथ)

गंभीर रूप से बीमार मरीज

आईसीयू (बिना वेंटिलेटर केयर के)

अत्यंत गंभीर रूप से बीमार मरीज

आईसीयू (वेंटिलेटर केयर के साथ)

एनएबीएच से मान्यता प्राप्त 8 हजार (पीपीई किट के 1200 रुपए शामिल) 12 हजार (पीपीई किट के 2000 रुपए शामिल) 14400
(पीपीई किट के 2000 रुपए शामिल)
एनएबीएच से गैर मान्यता प्राप्त 6400 (पीपीई किट के 1200 रुपए शामिल) 10400 (पीपीई किट के 2000 रुपए शामिल) 12 हजार
(पीपीई किट के 2000 रुपए शामिल)

श्रेणी- सी के निजी अस्पताल का रेट

हॉस्पिटल की कैटेगरी मध्यम बीमार मरीज

आइसोलेशन बेड
(ऑक्सीजन के साथ)

गंभीर रूप से बीमार मरीज

आईसीयू (बिना वेंटिलेटर केयर के)

अत्यंत गंभीर रूप से बीमार मरीज

आईसीयू (वेंटिलेटर केयर के साथ)

एनएबीएच से मान्यता प्राप्त 6 हजार (पीपीई किट के 1200 रुपए शामिल) 9 हजार (पीपीई किट के 2000 रुपए शामिल) 10800
(पीपीई किट के 2000 रुपए शामिल)
एनएबीएच से गैर मान्यता प्राप्त 4800 (पीपीई किट के 1200 रुपए शामिल) 7800 (पीपीई किट के 2000 रुपए शामिल) 9 हजार
(पीपीई किट के 2000 रुपए शामिल)

Check Also

कोरोना को हराने की ओर बढ़ा हरियाणा, बहुत सुकून देगा ये ताजा आंकड़ा

हरियाणा में कोरोना को मात देने वाले मरीजों की संख्या में लगातार इजाफा हो रहा ...