Sunday , November 29 2020
Breaking News
Home / ख़बर / बिहार में मतदान के बीच अखबारों में मुस्कुराते दिखे मोदी-नीतीश, जानिए इसके पीछे का असल मकसद !

बिहार में मतदान के बीच अखबारों में मुस्कुराते दिखे मोदी-नीतीश, जानिए इसके पीछे का असल मकसद !

पटना
बिहार विधानसभा चुनाव में एनडीए के दो प्रमुख घटक दलों बीजेपी और जेडीयू दूसरे चरण की वोटिंग वाले दिन आपस में एकता दिखाने की कोशिश की है। दोनों पार्टियों ने कोशिश की है कि जमीनी स्तर के कार्यकर्ताओं को भी ये मैसेज रहे कि उनके बीच किसी किस्म की दूरी नहीं है। इसी प्रयास के तहत मंगलवार को बिहार के तमाम अखबारों में बड़े साइज का विज्ञापन दिया गया है। यह विज्ञापन जेडीयू की ओर से प्रकाशित कराया गया है। इस विज्ञापन की खास बात यह है कि इसमें पीएम मोदी और सीएम नीतीश दोनों की बराबर साइज की तस्वीर लगाई गई है।

हाल ही में बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष संजय जायसवाल ने स्वीकार किया था कि एनडीए नेताओं के बीच सामंजस्य की कमी देखने को मिली थी। दरअसल, डिप्टी सीएम और बीजेपी के वरिष्ठ नेता सुशील मोदी ने अपनी एक जनसभा में आरोप लगाया था कि जेडीयू सांसद अजय मंडल गठबंधन विरोधी कार्य कर रहे हैं।

जेडीयू के प्रवक्ता राजीव रंजन प्रसाद ने कहा कि बचे हुए वोटिंग से पहले जमीनी स्तर के कार्यकर्ताओं को संदेश दे दिया गया है कि बीजेपी और जेडीयू में किसी किस्म की दूरी नहीं है। बीजेपी और जेडीयू के नेताओं से कहा गया है कि वे अपने-अपने स्तर से इस कन्फ्यूजन को दूर करें। बीजेपी और जेडीयू दोनों ने अनुभव किया है कि जमीन पर किसी किस्म के कन्फ्यूजन होने पर दोनों पार्टियों को नुकसान होगा। इसलिए दोनों दलों ने इस कमी को दूर करने की कोशिश की है।

परपैंती की जनसभा में बीजेपी नेता सुशील मोदी ने कहा कि मुझे मालूम हुआ कि जेडीयू सांसद गठबंधन विरोधी कार्य कर रहे हैं। मैंने उनसे परसों ही फोन पर कहा- अजय मंडल जी आप बीजेपी और जेडीयू के कारण ही सांसद बने हैं। मुझे पता चला है कि आप मतदाताओं में भ्रम फैला रहे हैं। आपका भी चुनाव आएगा तब जनता आपको जवाब देगी।

हालांकि जब सुशील मोदी ने ये बातें कही तब अजय मंडल सभा में मौजूद नहीं थे। बाद में उन्होंने आरोप को सिरे से खारिज कर दिया और कहा कि मैं एनडीए के साथ हूं। डिप्टी सीएम सुशील मोदी को गलतफहमी हो गई होगी। मैंने कोई भी काम गठबंधन विरोधी नहीं किया है।

एक और सभा में आरोप लगाते हुए सुशील मोदी ने अमन पासवान को लेकर कहा कि हमारी पार्टी ने पहले जिन्हें विधायक बनाया था, जो पांच साल गोवा और मुंबई में मौज मस्ती करते थे, आज वे विरोधी से पैसा लेकर वोट काटने के लिए चुनावी मैदान में उतर गए हैं। इस सीट पर बीजेपी ने ललन कुमार पासवान को टिकट दिया है जबकि पूर्व विधायक अमन पासवान निर्दलीय मैदान में हैं।

भागलपुर में जेडीयू सांसद अजय मंडल का ऑडियो वायरल हो रहा है, जिसमें वे निर्दलीय प्रत्याशी अमन पासवान के पक्ष में लोगों को और जेडीयू कार्यकर्ताओं को वोट करने की अपील कर रहे हैं।

यहां बता दें कि इससे पहले बीजेपी ने एक विज्ञापन जारी किया था जिसमें केवल पीएम मोदी की तस्वीर लगी थी। इसके अलावा पीएम मोदी की तमाम रैलियों में चिराग पासवान पर सीधा हमला नहीं किए जाने से भी बीजेपी और जेडीयू के बीच कन्फ्यूजन की बातें राजनीतिक गलियारे में हो रही हैं। पहले चरण की वोटिंग के बाद एनडीए खेमा डैमेज कंट्रोल में जुटा है। उम्मीद की जा रही है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी मंगलवार को होने वाली रैली में इस कन्फ्यूजन को दूर करने की कोशिश कर सकते हैं।

loading...
loading...

Check Also

पक्की खबर : फरवरी में हो सकते हैं यूपी पंचायत चुनाव, औपचारिक ऐलान का इंतजार!

नोएडा. त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव अगले साल फरवरी में हो सकते है। प्रशासनिक सूत्रों से इसके ...