Sunday , March 7 2021
Breaking News
Home / अपराध / बिहार में ‘हाथरस’ जैसा कांड! नाबालिग की रेप के बाद हत्या, मिलीभगत के आरोप में थानाध्यक्ष सस्पेंड

बिहार में ‘हाथरस’ जैसा कांड! नाबालिग की रेप के बाद हत्या, मिलीभगत के आरोप में थानाध्यक्ष सस्पेंड

मोतिहारी, बिहार:  बिहार के मोतिहारी जिले में मासूम पीड़िता के साथ बलात्कार और हत्या के मामले में अब पुलिस एक्शन में नजर आ रही है. मोतिहारी के पुलिस अधीक्षक एस पी नवीन चंद्र झा ने कुण्डवा चैनपुर थानाध्यक्ष को लापरवाही बरतने के आरोप में सस्पेंड कर दिया है. दरअसल, करीब 15 दिन पहले एक 12 वर्षीय बच्ची की रेप के बाद हत्या कर दी गई थी. आरोप है कि घटना के बाद आरोपियों ने मासूम का शव मिट्टी का तेल और नमक डालकर जलवा दिया. यही नहीं, कई दिनों तक स्थानीय थाने में घटना की रिपोर्ट तक नहीं लिखी गई. मृत बच्ची व उसके परिजन नेपाल के थे और यहां मेहनत मजदूरी करके अपना पेट पाल रहे थे.

लापरवाही के आरोप में थानाध्यक्ष पर गिरी गाज
थानाध्यक्ष व आरोपी का ऑडियो वायरल होने के बाद घटना के 11 दिनों तक प्राथमिकी दर्ज नहीं होने से थानाध्यक्ष पर मिलीभगत का आरोप लगा था. इस घटना के बाद मृत बच्ची के पिता का न्याय की गुहार लगाते एक वीडियो वायरल हो गया. वायरल ऑडियो व वीडियो मोतिहारी एसपी नवीन चंद्र झा के पास पहुंचा. जब उन्होंने इसकी जांच कराई तो पता चला कि यह वीडियो नेपाल के रहने वाले खग बहादुर से जुड़ा है, जिसकी मासूम बेटी की 15 रोज़ पहले बलात्कार के बाद हत्या कर दी गयी थी. थानाध्यक्ष व अन्य पर मामले में लीपापोती का आरोप लगा था. पुलिस अधीक्षक ने कार्रवाई करते हुए थानाध्यक्ष को सस्पेंड कर दिया.

नेपाल का रहने वाला है पीड़ित परिवार
घटना के संबंध में मिली जानकारी के मुताबिक, मोतिहारी के सीमावर्ती थाना क्षेत्र के कुण्डवा चैनपुर में नेपाल के खग बहादुर अपने परिवार के साथ सियाराम साह के मकान में रहते थे और मेहनत मजदूरी कर अपना व परिवार का भरण पोषण करते थे. 21 जनवरी को खग बहादुर व उसकी पत्नी फेरी का कार्य करने बाहर गए थे उसी बीच उसकी बेटी की बलात्कार के बाद हत्या कर दी गयी. मृतका का भाई जब घर पहुंचा तो देखा कि उसकी बहन में लहूलुहान अवस्था में पड़ी हुई है. उसने अपने पिता को इसकी सूचना दी और परिजन मासूम को अस्पताल ले गए, जहां डॉक्टर ने उसे मृत घोषित कर दिया.

केरोसिन और नमक डालकर जलाया गया मासूम का शव
उसी वक़्त हरिकिशोर साह ने बहादुर का मोबाइल छीन लिया तथा दीपक साह, विजय साह, अजय साह, रमेश साह, उमेश साह, सुनील साह और देवेन्द्र साह पीड़िता के पिता पर शव को जलाने का दबाव देने लगे. आरोप है कि उन्होंने कहा कि अगर शव नहीं जलाओगे तो तुम्हारा व तुम्हारे परिवार का यही हश्र होगा. इसी बीच, अवनीश कुमार नाम के शख्स ने अपने आपको थाने का स्टाफ बताकर जबरन बहादुर से सादे कागज पर निशान लगवा दिया व शव जलाने के बाद नेपाल भाग जाने की धमकी देने लगा. रात को करीब बारह बजे मृत बच्ची का शव एक सुनसान जगह पर मिट्टी का तेल व नमक के साथ जला दिया.

पीड़िता के पिता का आरोप
पीड़िता के पिता का आरोप है कि पीड़ित परिवार को मुकदमा नहीं दर्ज कराने व किसी को इस घटना के बारे में नहीं बताने की धमकी दी गई. पिता ने बलात्कार व हत्या के मामले में बिनय साह, दीपक कुमार, देवेन्द्र साह व रमेश साह पर बलात्कार व हत्या का आरोप लगाया है. वहीं बाकी लोगो पर मामले को रफा दफा करने व नाजायज दबाव बनाने का आरोप लगाया है.

loading...
loading...

Check Also

पीएम मोदी की ब्रिगेड परेड से हुंकार, कहा-जो भी बंगाल से छीना गया है, उसे वापस लौटाएंगे

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी रविवार को चुनाव प्रचार के लिए पश्चिम बंगाल पहुंचे। इस दौरान उन्होंने ...