Sunday , November 29 2020
Breaking News
Home / ख़बर / बिहार : सिर्फ इस Exit Poll को सत्ता में वापस आते दिखे नीतीश कुमार, जानें NDA को दी कितनी सीटें ?

बिहार : सिर्फ इस Exit Poll को सत्ता में वापस आते दिखे नीतीश कुमार, जानें NDA को दी कितनी सीटें ?

बिहार विधानसभा चुनाव के संभावित नतीजे क्या होंगे, इसके लिए दैनिक भास्कर ने एग्जिट पोल किया। इसके मुताबिक, 120 से 127 सीटों के साथ NDA की सरकार बनती दिख रही है। हालांकि, राज्य में 30 सीटें ऐसी हैं, जिसके नतीजे नीतीश कुमार का खेल बिगाड़ भी सकते हैं। इन 30 सीटों पर सबसे कड़ा मुकाबला है।

भास्कर के विश्लेषण के मुताबिक, इस चुनाव में भाजपा सबसे बड़ा दल हाेगी। जदयू के मुकाबले राजद थोड़ा फायदे में रहेगा, लेकिन कांग्रेस की परफॉर्मेंस खराब रही तो तेजस्वी यादव मुख्यमंत्री की कुर्सी से दूर रह जाएंगे।

30 सीटों पर कड़ा मुकाबला
सभी 243 सीटों पर वोटरों के बीच से जीत-हार का हिसाब निकालने के बावजूद हम इस नतीजे पर हैं कि 23 सीटों पर तीनतरफा कड़ा मुकाबला है, जबकि 7 सीटों पर आमने-सामने की कड़ी टक्कर है। इन 30 सीटों पर मुख्य रूप से राजद, जदयू और लोजपा के बीच टकराव है। इन सीटों पर नतीजे किस तरफ जाएंगे, ये साफ तौर पर कह पाना अभी मुश्किल है। यहां अगर भाजपा-जदयू ने जमीन गंवाई तो नीतीश की राह मुश्किल होगी।

23 सीटें, जहां तीनतरफा मुकाबला है
नौतन, चिरैया, रुन्नी सैदपुर, निर्मली, किशनगंज, अमौर, रुपौली, बिहारीगंज, गौराबौड़ाम, हथुआ, बनियापुर, मोहिउद्दीननगर, अलौली, पीरपैंती, अमरपुर, कटोरिया, सूर्यगढ़ा, शेखपुरा, हिलसा, पालीगंज, तरारी, कुर्था, सिकंदरा पर तीनतरफा मुकाबला है। इनमें से कई सीटों पर लोजपा राजद और जदयू का खेल खराब करने की स्थिति में है।

7 सीटें, जहां आमने-सामने का मुकाबला है
बोचहा, कुचायकोटे, रघुनाथपुर, गोरियाकोठी, नबीनगर, औरंगाबाद, बोधगया में दो दलों के बीच मुकाबला है।

पहले फेज में NDA और दूसरे-तीसरे फेज में महागठबंधन पिछड़ा
दो महीने पहले तक जदयू के नेतृत्व में NDA को महागठबंधन से बहुत आगे निकल जाने की उम्मीद थी, लेकिन पहले फेज की वोटिंग में हालात बदलते दिखे। पहले फेज में वोटिंग पर्सेंटेज कम देखकर NDA सरकार बनने की उम्मीद टूटती नजर आ रही थी, लेकिन दूसरे और आखिरी फेज ने महागठबंधन के लिए अच्छे संकेत नहीं दिए।

लोजपा 15 साल बाद दहाई का आंकड़ा पार कर सकती है
कांग्रेस अकेली कम से कम 19 सीटें लाती दिख रही है, जबकि राजद को कम से कम 52 सीटें मिल रही हैं। भाजपा 63 और जदयू 58 सीटों पर जीतती दिख रही है। भाजपा के साथ सरकार बनाने का दावा कर रहे चिराग पासवान की लोजपा की 12 से 23 सीटें पक्की नजर आ रही हैं। अगर ऐसा हुआ तो 15 साल बाद लोजपा दहाई का आंकड़ा पार करेगी। हम और VIP को दो-दो सीटें मिलती दिख रही हैं। वामपंथी दल 9 सीटों पर जीतते दिख रहे हैं।

loading...
loading...

Check Also

लद्दाख में MARCOS को देखते ही उड़ गई चीनियों की नींद, लेकिन क्यों?

लगता है चीनी PLA के सैनिक इस कहावत को चरितार्थ करके ही मानेंगे – लातों ...