Saturday , September 26 2020
Breaking News
Home / जरा हटके / बिहार से खुशखबरी : 15 दिन पहले कोरोना प्रभावित टॉप-10 राज्यों में था सबसे पीछे, अब देश में नंबर वन

बिहार से खुशखबरी : 15 दिन पहले कोरोना प्रभावित टॉप-10 राज्यों में था सबसे पीछे, अब देश में नंबर वन

पटना. बिहार में प्रतिदिन होने वाले कोरोना सैंपल जांच की संख्या ने फिर अपना रिकॉर्ड तोड़ा। गुरुवार की तुलना में इसमें 17 हजार के लगभग बढ़ोतरी हुई। पिछले 24 घंटे में देश के सभी राज्याें में सबसे ज्यादा 121320 सैंपल की जांच बिहार में हुई। इसमें 3911 नए संक्रमितों की पहचान हुई है। इस तरह राज्य में कुल संक्रमितों की संख्या बढ़कर 98370 हो गई है। खुशी की बात यह है कि बिहार में संक्रमण की दर कम होकर 3.23% हो गई है। 2800 और मरीज ठीक हुए। अब तक राज्य में कुल 65307 संक्रमित स्वस्थ हैं। शुक्रवार को पटना में सर्वाधिक 487 संक्रमित मिले।

देश में 24 घंटे में 848728 जांच, इनमें 14% बिहार में

कोरोना जांच के मामले में बिहार के बाद दूसरे स्थान पर उत्तर प्रदेश है। इस अवधि में देश में 848728 कोरोना सैंपल की जांच हुई है, जिसमें बिहार में 121320, उत्तर प्रदेश में 96106, आंध्र प्रदेश में 50664 और तेलंगाना में 22046 सैंपल की जांच हुई है। देश में हुई कुल जांच का 14.3% बिहार में हुआ है।

देश में कोरोना से 50 हजार मौतें, अब मौतों की दर आधी

भारत में शनिवार शाम तक कोरोना से मौतों की संख्या 50 हजार पार हो जाएगी। देश में अब रोज 900 से ज्यादा मौतें होने लगी हैं। यह औसत अमेरिका और ब्राजील के बराबर ही है। लेकिन, राहत की बात यह है कि भारत में जिस रफ्तार से नए मरीज बढ़ रहे हैं, उस रफ्तार से मौतें नहीं बढ़ रही हैं।

मसलन, देश में शुरुआती 10 हजार मौतें 16 जून तक हो गई थीं, तब कुल 3.54 लाख मरीज थे। यानी इनमें से 2.82% मरीजों की मौत हुई। लेकिन, पिछली 10 हजार मौतें 5.96 लाख मरीजों में से हुई हैं, यानी सिर्फ 1.68% मरीज नहीं बचाए जा सके।

मौतों के मामलों में सबसे खराब स्थिति महाराष्ट्र की है। वहां देश के 22% मरीज हैं, जबकि मौतें 38% हो चुकी हैं। इसी तरह गुजरात में देश के 3% मरीज हैं, पर मौतें 6% हो चुकी हैं।

Check Also

WHO चीफ ने फिर चाटे चीन के तलवे, क्लीनचिट देते हुए कहा- कुदरती है कोरोना

करीब 9 महीने पहले चीन के वुहान से कोरोना वायरस फैलना शुरू हुआ था। उसके ...