Thursday , February 25 2021
Breaking News
Home / जरा हटके / बॉम्बे HC का फैसला : सुशांत की बहन के खिलाफ होगी जाँच, रिया ने कराई थी FIR, नहीं होगी रद्द

बॉम्बे HC का फैसला : सुशांत की बहन के खिलाफ होगी जाँच, रिया ने कराई थी FIR, नहीं होगी रद्द

बॉम्बे हाईकोर्ट ने सोमवार (फरवरी 15, 2021) को दिवंगत अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की बहन प्रियंका के खिलाफ दर्ज FIR को रद्द करने से इनकार कर दिया। हालाँकि, उनकी एक अन्य बहन मीतू के खिलाफ दर्ज FIR को रद्द करने का आदेश दिया गया और उन्हें राहत मिली। ये FIR सुशांत सिंह राजपूत की गर्लफ्रेंड रही रिया चक्रवर्ती ने दायर किया था। सुशांत के पिता द्वारा पटना में दर्ज कराई गई FIR में रिया चक्रवर्ती मुख्य अभियुक्त के रूप में नामित की गई थी।

जस्टिस एसएस शिंदे और जस्टिस एमएस कार्णिक की खंडपीठ ने दोनों बहनों द्वारा दायर की गई याचिकाओं पर सुनवाई करते हुए ये फैसला सुनाया, जिन्होंने FIR को रद्द करने की माँग की थी। रिया ने अपने FIR में इन दोनों पर दिल्ली के एक डॉक्टर के साथ मिल कर सुशांत का फेक मेडिकल प्रिस्क्रिप्शन तैयार करने का आरोप लगाया था। सितम्बर 7, 2020 को दायर की गई FIR में कहा गया था कि इस प्रिस्क्रिप्शन के अनुसार दवाएँ लेनी शुरू करने के 5 दिन बाद सुशांत की मौत हो गई

रिया का आरोप है कि राम मनोहर लोहिया अस्पताल के डॉक्टर तरुण कुमार ने प्रियंका और मीतू के कहने पर ‘अवैध रूप से’ वो दवाएँ लिखी थीं। मुंबई पुलिस ने रिया की शिकायत के आधार पर स्वापक ओषधि और मनःप्रभावी पदार्थ अधिनियम (NDPS), 1985 के तहत FIR दर्ज की थी। अक्टूबर 6, 2020 में वकील माधव थोराट के माध्यम से याचिका दायर कर दोनों बहनों ने FIR को रद्द करने का निवेदन किया था।

बॉम्बे HC की खंडपीठ ने कहा कि प्रथम दृष्टया प्रियंका सिंह के खिलाफ मामला बनता है और उनके खिलाफ जाँच में कोई अवरोध नहीं आनी चाहिए। रिया ने अंदेशा जताया था कि इन्हीं दवाओं के खाने से और दवाओं का कॉम्बिनेशन गलत होने से उनकी मौत हुई। जबकि दोनों बहनों का आरोप था कि सुशांत की मौत के मामले में चल रही जाँच को भटकाने के लिए ये FIR दर्ज कराई गई। साथ ही इसमें 91 दिन की देरी को भी रद्द करने का आधार बताया।

उन्होंने आरोप लगाया कि रिया चक्रवर्ती ने अपने खिलाफ दर्ज की गई FIR और CBI जाँच के बाद किसी परोक्ष मंशा से ये मामला दर्ज करवाया। इससे पहले CBI ने भी कहा था कि एक ही मामले की अलग-अलग FIR दर्ज कर के उसकी सामानांतर जाँच नहीं चलाई जा सकती, वो भी जब केंद्रीय एजेंसी जाँच में लगी हो। रिया का कहना है कि उनके कहने के बावजूद सुशांत ने मुंबई के डॉक्टर की बताई दवाएँ लेने की बजाए अपनी बहनों द्वारा बताई गई दवाएँ ली।

इस साल की शुरुआत में साउथ दिल्ली म्युनिसिपल कॉर्पोरेशन ने दिवंगत फिल्म अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत के नाम पर सड़क का नाम रखने वाले प्रस्ताव को पास किया था। पार्षद अभिषेक दत्त ने माँग की थी कि सुशांत सिंह राजपूत इंजीनियरिंग के छात्र थे और दिल्ली से उनका कनेक्शन था, इसीलिए एंड्रयूज गंज वार्ड में रोड नंबर 8 (एंड्रयूज गंज से लेकर इंदिरा कैंप तक की सड़क) का नाम सुशांत सिंह राजपूत के नाम पर कर दिया जाना चाहिए।

loading...
loading...

Check Also

अहमदाबाद का मोटेरा स्टेडियम भारतीय खिलाड़ियों के लिए रहा है खास, जानें 10 खास उपलब्धियां

भारत और इंग्लैंड के बीच 4 टेस्ट मैचों की सीरीज का तीसरा मुकाबला अहमदाबाद के ...