Sunday , February 28 2021
Breaking News
Home / जरा हटके / भारतीय जाबांजों के सामने चीन की निकली हवा, LAC से हटाए 200 से अधिक टैंक

भारतीय जाबांजों के सामने चीन की निकली हवा, LAC से हटाए 200 से अधिक टैंक

लद्दाख में वास्‍तविक नियंत्रण रेखा (LAC) भारत चीन के बीच पिछले 10 महीने से तनाव चरम पर रहा है. लेकिन दगाबाज चीन को जब भारत की ताकत का अंदाजा हुआ तो घबरा गया. आनन-फानन में उसने अपनी सेना सीमा से पीछे हटानी शुरू कर दी. इसकी जानकारी रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने संसद में दी. राजनाथ सिंह ने बताया है कि विवाद के करीब 10 महीने बाद साउथ और नॉर्थ बैंक से सैनिकों को वापस लेने के लिए चीन के साथ समझौते पर सहमति बनी है. पैंगोंग लेक इलाके में सबसे पहले सेनाएं पीछे की जानी है. भारत-चीन के बीच हुए इस एग्रीमेंट के मुताबिक चीनी सेना अपने सैनिकों को फिंगर 8 के पीछे लेकर जाएगी. भारतीय सेना फिंगर 3 इलाके के पास अपने परमानेंट बेस धन सिंह थापा पोस्ट पर रहेगी. रक्षा मंत्री के बयान से साफ हो चुका है कि फिंगर 3 से लेकर फिंगर 8 के बीच का इलाका नो पेट्रोलिंग जोन रहेगा.

चीन और भारत की सेनाओं ने समझौते के तहत पैंगोंग लेक के उत्‍तरी और दक्षिणी तट से पीछे हटना शुरू कर दिया है. दोनों सेनाएं इलाके में शांति और अमन कायम रखने के लिए आगे बढ़ना चाहती हैं. ऐसे में मीडिया रिपोर्ट के अनुसार चीन की सेनाओं ने इलाके से सिर्फ दो दिनों के अंदर 200 से अधिक टैंकों को पीछे हटा लिए हैं.

बता दें कि सीमा पर नौ महीने तक गतिरोध जारी रहने के बाद यह सफलता मिली है. लोकसभा और राज्यसभा में दिए बयान में रक्षा मंत्री ने हालांकि बताया कि अभी भी पूर्वी लद्दाख में वास्तवित नियंत्रण रेखा पर तैनाती और गश्ती के बारे में कुछ लंबित मुद्दे बचे हुए हैं, जिन्हें आगे की बातचीत में रखा जाएगा.

इस बीच, भारतीय थल सेना द्वारा शेयर किए गए एक वीडियो में पैंगोंग झील के दक्षिणी किनारे से चीन की पीपुल्स लिबरेशन आर्मी (पीएलए) के तीन टैंकों को पीछे हटाते और भारतीय सैनिकों द्वारा एक टैंक को पीछे हटाते हुए देखा जा सकता है. इसके अलावा, दोनों पक्षों के सैनिकों के बीच बैठक की संक्षिप्त फुटेज भी है. सूत्रों ने बताया कि टैंकों और अन्य बख्तरबंद सैन्य साजो सामान को टकराव वाले खास स्थानों से हटाने की प्रकिया पूरी होने के करीब है, जबकि झील के उत्तरी किनारे से सैनिकों को पीछे हटाने का कार्य किया जा रहा है.

बता दें कि पिछले 10 महीने से पूर्वी लद्दाख में सीमा पर दोनों देशों के बीच गतिरोध बना हुआ है. इस गतिरोध को समाप्त करने के लिए सितंबर, 2020 से लगातार सैन्य और कूटनीतिक स्तर पर दोनों पक्षों में कई बार बातचीत हुई.

loading...
loading...

Check Also

अमरीश पुरी से करारी फटकार पाए थे आमिर खान, कारण जानकर चौंक जायेंगे आप !

दरअसल पहले के समय में ऐसी फिल्मे बनाई जाती थी, जिसमे काफी कुछ हट कर ...