Thursday , July 16 2020
Breaking News
Home / ख़बर / मरता महाराष्ट्र : लगातार तीसरे दिन 5000 से अधिक नए केस, मौत का आंकड़ा देख दुआ किया पूरा देश

मरता महाराष्ट्र : लगातार तीसरे दिन 5000 से अधिक नए केस, मौत का आंकड़ा देख दुआ किया पूरा देश

महाराष्ट्र में लगातार तीसरे दिन 5 हजार से अधिक मरीज मिले हैं। सोमवार को 5257 नए मरीज मिले, जबकि 181 लोगों की मौत हो गई। इससे पहले रविवार को 54 सौ और शनिवार को 53 सौ से ज्यादा मरीज मिले थे। राज्य में मरीजों की संख्या बढ़कर 1,69,883 पहुंच गई है। राज्य में लॉकडाउन को 31 जुलाई तक बढ़ा दिया गया है। राज्य के चीफ सेक्रटरी अजॉय मेहता की तरफ से लॉकडाउन बढ़ाने का आदेश जारी किया गया है। इस आदेश में कहा गया है कि राज्य में कोरोना वायरस के फैलने का खतरा लगातार बना हुआ है। इसलिए वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए जरूरी उपाय के तहत ये कदम उठाया जा रहा है।

‘मिशन बिगेन अगेन’ की गाइड लाइन लागू होंगी

मिशन बिगिन अगेन के तहत राज्य सरकार के सभी विभागों को पहले जारी की गई गाइडलाइंस का सख्ती से पालने करने के निर्देश दिए गए हैं। इस लॉकडाउन में भी पहले की तरह ही अतिआवश्यक वस्तुओं की दुकानें  जैसे दूध, सब्जी और दवाइयां समय से खुलेंगी। साथ ही, ऑड-इवन डे में दूसरी दुकानों को भी खोला जा सकता है। इसके साथ ही दफ्तरों में सीमित संख्या में कर्मचारियों की उपस्थिति होगी।

मुंबई में 75 हजार के पार पहुंची संक्रमितों की संख्या 
मुंबई में कोरोना के 1,300 नए केस मिले। यहां मरीजों की संख्या 75 हजार को पार कर गई है। बीएमसी के अनुसार, 75,047 में से 43,154 मरीज स्वस्थ हो चुके हैं। रविवार को 823 मरीजों को स्वस्थ होने पर घर भेज दिया गया। कोरोना से 87 मरीजों की मौत भी हुई। इनमें 55 पुरुष और 32 महिलाएं थीं। अब तक कुल 4,368 लोगों की मौत हो चुकी है।

लॉकडाउन की शर्तें

मास्क पहनना अनिवार्य, दो गज की दूरी (सोशल डिस्टेंसिंग) बनाए रखना जरूरी, बड़ी भीड़ जुटाने पर प्रतिबंध, 50 मेहमानों के साथ शादी का कार्यक्रम, अंतिम संस्कार में 50 से ज्यादा लोग नहीं जुटेंगे। सार्वजनिक जगहों पर थूकने पर लगेगा जुर्माना।

कार्यस्थल के लिए निर्देश

जितना संभव हो सके उतना घर से काम (वर्क फ्रॉम होम), दफ्तर में अलग-अलग शिफ्ट में काम, कर्मचारियों की स्क्रीनिंग और साफ-सफाई का पूरा ख्याल, दफ्तर का बार-बार सैनिटाइजेशन करना अनिवार्य होगा।

पहले की तरह खुलेंगी यहां दुकानें
मुंबई, पुणे, सोलापुर, औरंगाबाद, मालेगांव, नासिक, धुले, जलगांव, अकोला, अमरावती, नागपुर जैसे शहरों में कुछ प्रतिबंधों के साथ इन गतिविधियों को छूट रहेगी। जरूरी सामान की दुकानें पूर्व के आदेश के मुताबिक चलेंगी। गैर जरूरी दुकानें जैसे कि मार्केट प्लेस और मॉल्स 9-5 तक खुलेंगे। ई-कॉमर्स, खाने की होम डिलिवरी, निर्माण स्थल (सरकारी और निजी) को छूट रहेगी।

लॉकडाउन को लेकर मुंबई पुलिस ने कड़े निर्देश जारी किए
मुंबईकरों को अपने घर से 2 किलोमीटर के दायरे में ही बाल कटाने, व्यायाम करने और खरीदारी जैसे काम निपटने होंगे। ऐसा न करने वालों के खिलाफ पुलिस सख्ती बरतेगी। चिकित्सा और ऑफिस जाने के अलावा किसी और काम के लिए कोई घर से 2 किलोमीटर से दूर अपना वाहन ले गया तो उसकी गाड़ी भी जब्त कर ली जाएगी। मुंबई पुलिस के प्रवक्ता डीसीपी प्रणय अशोक ने रविवार को यह जानकारी दी। उन्होंने कहा कि सभी को व्यक्तिगत सुरक्षा और सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों का पालन करना होगा।

यह हैं दिशा-निर्देश
1- केवल अत्यावश्यक सेवाओं के लिए ही घर से बाहर निकलें।
2- घर से बाहर घूमते समय चेहरे पर मास्क लगाना अनिवार्य ।
3- घर से 2 किलोमीटर तक की दूरी पर स्थित बाजार और दुकानों में ही जा सकते हैं।
4- खुली जगह पर व्यायाम भी घर से 2 किलोमीटर के दायरे में ही करने की इजाजत।
5- कार्यालय या चिकित्सा से जुड़ी आपातस्थिति में ही 2 किलोमीटर से आगे जाने की इजाजत।
6- सोशल डिस्टेंसिंग से जुड़े नियमों का पालन करना होगा।
7- नियमों का उल्लंघन करने पर कड़ी कार्रवाई होगी।
8- सोशल डिस्टेंसिंग का पालन न करने वाली दुकानें और दूसरे प्रतिष्ठान बंद कर दिए जाएंगे।
9- रात 9:00 बजे से सुबह 5:00 बजे तक कर्फ्यू, अत्यावश्यक सेवाओं के लिए ही घर से बाहर निकलने की इजाजत
10- बिना वैध वजह के घर से दूर धूम रहीं गाड़ियों को जब्त कर लिया जाएगा।

ठाणे में भी सख्ती
कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों को देखते हुए ठाणे पुलिस ने भी सख्ती बरतनी शुरू कर दी है। ठाणे में भी नाकेबंदी लगा दी गई है। ठाणे ट्रैफिक पुलिस ने चेतावनी दी है कि बिना वजह घूम रहे लोगों की दुपहिया जब्त कर ली जाएगी। निजी कार और टैक्सी में भी ड्राइवर के अलावा सिर्फ एक शख्स को बैठने की इजाजत दी जाएगी। बेहद जरूरी कामों के लिए ही दोपहिया वाहनों की इजाजत दी जाएगी।

Check Also

कोरोना: हॉस्पिटल ने मरीज़ का माफ किया ₹1.52 करोड़ का बिल, वजह भी जान लीजिये

कोरोना वायरस की वजह से बहुत से लोग अस्पतालों में भर्ती हैं। सरकारी अस्पताल में ...