Thursday , July 9 2020
Breaking News
Home / ख़बर / मस्जिद के भोंपू की आवाज कम करने की रिक्वेस्ट की थी जो लड़की, उसको मिला मुंबई पुलिस का नोटिस

मस्जिद के भोंपू की आवाज कम करने की रिक्वेस्ट की थी जो लड़की, उसको मिला मुंबई पुलिस का नोटिस

मस्जिद के लाउडस्पीकर की आवाज कम करने का अनुरोध करने पर महाराष्ट्र की महाविकास अघाड़ी सरकार के अंतर्गत आने वाली मुंबई पुलिस ने करिश्मा भोंसले और उनकी माँ के खिलाफ नोटिस जारी किया है। यह नोटिस करिश्मा की माँ वर्षा गणेश भोंसले के नाम है। इसमें कहा गया है कि करिश्मा का मानखुर्द इलाके में नूरी इलाही सुन्नी वेलफेयर एसोसिएशन की मस्जिद में जाकर वहाँ के अधिकारियों से लाउडस्पीकर की आवाज कम करने के लिए कहना ‘अनुचित’ था, जिससे अजान पढ़ा जा रहा था।

नोटिस में कहा गया है, “24 जून, 2020 को आपने नूरी इलाही सुन्नी वेलफेयर एसोसिएशन की मस्जिद का दौरा किया, जिसमें अजान की आवाज को कम करने की दलील दी गई थी, जो पड़ोस की लाउडस्पीकरों के माध्यम से होती है। अजान की आवाज कम करने के लिए उनसे अनुरोध करने के लिए मस्जिद का दौरा करना आपके लिए अनुचित था। मस्जिद में प्रवेश करने के बजाय, शिकायतकर्ता को नियत कानून का पालन करना चाहिए और शिकायत करने के लिए नजदीकी पुलिस स्टेशन से संपर्क करना चाहिए था।”

इस नोटिस में आगे लिखा है कि इस तरह की हरकतें क्षेत्र में “कानून और व्यवस्था की स्थिति” के लिए खतरा पैदा करती हैं और करिश्मा और उसकी माँ को नियमों का पालन करने का निर्देश दिया। करिश्मा और उनकी माँ के खिलाफ धारा 188 और धारा 149 के तहत मामला दर्ज किया जाएगा और फिर उसके अनुसार आवश्यक कार्रवाई की जाएगी।

गौरतलब है कि मानखुर्द इलाके में रहने वाली करिश्मा भोंसले के अनुसार उनके घर के पास ही मस्जिद की लाउडस्पीकर लगी है, इसलिए वे आवाज काम करने का अनुरोध लेकर मस्जिद गईं। लेकिन, मस्जिद के पास के मुस्लिम समुदाय के लोग करिश्मा और उनकी माँ से बहस कर उन्हें धमकाने और उनके साथ झड़प करने लगे। यही नहीं, जब करिश्मा ने स्थानीय विधायक से इस सम्बन्ध में मदद माँगी तो उन्होंने सलाह दी कि यदि उन्हें लाउडस्पीकर की आवाज से परेशानी है तो उन्हें अपना घर बदल लेना चाहिए।

करिश्मा भोसले ने इस घटना का वीडियो अपने ट्विटर अकाउंट पर शेयर किया था।

इस वीडियो में हिजाब पहने एक महिला करिश्मा से बहस करते हुए कह रही है कि तुम्हारे मंदिर में भी तो घंटा बजता है और क्या हम स्पीकर किसी के घर में लगा रहे हैं? इस पर युवती ने जवाब दिया कि अगर मंदिर में घंटी बजती है तो उहें वहाँ जाकर अपनी बात रखनी चाहिए। लेकिन बुर्का पहने महिला युवती की बात अनसुनी कर उसे वहाँ से जाने को कहते हुए देखी जा सकती है। अगले वीडियो में देखा जा सकता है कि एक और महिला इस युवती और उनकी माँ के साथ बदसलूकी और हाथापाई कर रही है।

उल्लेखनीय है कि देशभर में पहले भी ऐसे कई मामले सामने आए हैं, जब लोगों ने मुस्लिम समुदाय द्वारा लाउडस्पीकर पर बजाई जाने वाली अजान की आवाज से होने वाली परेशानी को जाहिर किया है। पिछले दिनों इलाहाबाद हाईकोर्ट ने एक फैसले में कहा था कि लाउडस्पीकर से अजान देना इस्लाम का हिस्सा नहीं है।

Check Also

राजस्थान में कोरोना : गुरुवार को कहर ढा दी महामारी, मौत के आंकड़े देख हिल गए सभी

जयपुर. राजस्थान में कोरोना संक्रमण के मामले लगातार बढ़ रहे हैं। गुरुवार को 149 कोरोना पॉजिटिव केस ...