Sunday , April 18 2021
Breaking News
Home / ऑफबीट / महाराष्ट्र के कोरोना का कहर तेज़ : नागपुर में एक बेड पर दो मरीज, 3 मंत्री भी हुए होम क्वारैंटाइन

महाराष्ट्र के कोरोना का कहर तेज़ : नागपुर में एक बेड पर दो मरीज, 3 मंत्री भी हुए होम क्वारैंटाइन

महाराष्ट्र में पिछले 24 घंटे में कोरोना के 47 हजार 288 मामले सामने आए हैं और 155 की संक्रमण से जान गई है। आंकड़ों के लिहाज से महाराष्ट्र दुनिया का सबसे बड़ा हॉटस्पॉट बन गया है। नए केसों के मामले में महाराष्ट्र अब केवल अमेरिका से पीछे है, जहां पिछले 24 घंटों में 50 हजार 329 मरीज मिले हैं। कोरोना के हालात देखते हुए राज्य में 30 अप्रैल तक वीकेंड लॉकडाउन है। रात में धारा 144 भी लागू की गई है।

प्रतिबंधों के बावजूद नए केस तेजी से बढ़ रहे हैं। हालात ये हैं कि पुणे में एक भी वेंटिलेटर बेड खाली नहीं है। नागपुर की एक फोटो सामने आई है, जिसमें एक ही बेड पर दो-दो मरीज दिखाई दे रहे हैं। इधर, मुंबई में कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए BMC ने सभी समुद्री बीच 30 अप्रैल तक के लिए बंद कर दिए हैं। पिछले रविवार को जुहू बीच पर लोगों की बड़ी भीड़ देखने को मिली थी।

3 मंत्री भी होम क्वारैंटाइन हुए

महाराष्ट्र के मंत्री और अहमदनगर जिले के नेवासा क्षेत्र से विधायक शंकरराव गडाख, मंत्री संदीपान भुमरे भी कोरोना पॉजिटिव हुए हैं। दोनों ने सोशल मीडिया पर ये जानकारी दी। दोनों होम क्वारैंटाइन हैं। कैबिनेट मंत्री वर्षा गायकवाड़ के बंगले पर काम करने वाले 5 कर्मचारी भी कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं। मंत्री वर्षा ने खुद को होम क्वारैंटाइन कर लिया है।

केंद्र ने कहा- लॉकडाउन का संक्रमण पर सीमित असर
केंद्र सरकार ने कहा है कि महाराष्ट्र में वीकेंड लॉकडाउन कारगर नहीं है। अंग्रेजी अखबार इंडियन एक्सप्रेस ने सूत्रों के हवाले से एक रिपोर्ट दी है। इसमें बताया गया है कि केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव राजेश भूषण ने महाराष्ट्र के मुख्य सचिव सीताराम कुंटे को पत्र लिखा था। इस पत्र में कहा गया था कि राज्य का ध्यान सख्त और प्रभावी नियंत्रण पर होना चाहिए, न कि लॉकडाउन लगाने पर। उन्होंने कहा था कि रात के कर्फ्यू, वीकेंड लॉकडाउन का संक्रमण का सीमित प्रभाव पड़ता है। प्रशासन को सख्त और प्रभावी नियंत्रण की रणनीति पर ध्यान देना चाहिए।

केंद्र की 30 टीमें रिव्यू करेंगी, राज्य 5 हजार डॉक्टर तैनात करेगा
केंद्र ने महाराष्ट्र में एक्सपर्ट की 30 टीमें भेजी हैं, जो हालात का रिव्यू करेंगी। ये टीमें संक्रमण रोकने, नई रणनीति पर काम करेंगी। महाराष्ट्र के चिकित्सा शिक्षा मंत्री अमित देशमुख ने कहा है कि 5,000 चिकित्सा अधिकारी और 15,000 नर्स तैनात जल्द किए जाएंगे। इसके साथ ही राज्य में मेडिकल की पढ़ाई कर रहे अंतिम वर्ष के छात्रों को जल्द इंटर्नशिप के लिए उपलब्ध कराया जाएगा।

पुणे: अब 7 बजे सुबह तक नाइट कर्फ्यू

पुणे के ICU में मौजूद 508 वैंटिलेटर बेड में से एक भी बेड अब खाली नहीं है। ICU में बिना वैंटिलेटर के कुल 394 में से सिर्फ 7 बेड ही खाली है। कोविड-19 पेशेंट के लिए पुणे जिला प्रशासन ने कुल 7236 बेड रिजर्व किए हैं। इनमें से मंगलवार दोपहर तक सिर्फ 1081 बेड ही खाली थे। पुणे महानगर पालिका के मुताबिक, बिना ऑक्सीजन के सिर्फ 693 और ऑक्सीजन के साथ 381 बेड ही खाली हैं। जिले के शहरी इलाकों में नाइट कर्फ्यू सुबह 7 बजे तक बढ़ा दिया गया है। पहले यह सुबह 6 बजे तक था। शाम 6 बजे के बाद फूड की होम डिलीवरी पर भी पाबंदी लगा दी गई है।

मुंबई: 14 लाख लोगों का वैक्सीनेशन किया गया
मुंबई में सोमवार को 9 हजार 857 नए मरीज मिले, जबकि 21 लोगों की जान गई। अब तक संक्रमण से 11 हजार 797 लोगों की मौत हो चुकी है। मुंबई में 74,522 एक्टिव केस हैं। यहां सोमवार को कुल 117 टीकाकरण केंद्रों पर 52,740 लोगों का टीकाकरण किया गया है। इसी के साथ मुंबई में टीकाकरण का कुल आंकड़ा 14,11,328 हो गया है। इस बीच, सीएम उद्धव ठाकरे ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र लिखकर 25 साल से अधिक उम्र के सभी लोगों को कोरोना टीकाकरण की इजाजत देने की अपील की है।

व्यावसायिक संस्थानों ने लिया बंद का फैसला
मुंबई में मंगलवार को ज्यादातर प्रमुख व्यावसायिक संस्थानों ने 30 अप्रैल तक बंद रखने का फैसला किया है। संस्थानों ने अपने-अपने मार्केट में नोटिस भी लगाया है। इसमें पंचरत्न, डायमंड मार्केट (बीकेसी), तांबा काटा, स्वदेशी मार्केट, भुलेश्वर, खेतवाड़ी, सीपी टैंक, मस्जिद बंदर, अब्दुल रेहमना स्ट्रीट, झवेरी बाजार और नागपाड़ा शामिल हैं।

नागपुर: मरीजों की संख्या तेजी से बढ़ी, MP-CG से भी आ रहे लोग
नागपुर में मरीजों की संख्या तेजी से बढ़ रही है। अस्पतालों में बेड घटते जा रहे हैं। GMC अस्पताल की एक तस्वीर सामने आई है, जिसमें एक ही बेड पर दो-दो मरीज दिखाई दे रहे हैं। अस्पताल के मेडिकल सुपरिटेंडेंट अविनाश गवांडे ने कहा कि ऐसा इसलिए हो रहा है कि ना केवल शहरों, बल्कि ग्रामीण इलाकों के मरीज भी आ रहे हैं। छत्तीसगढ़ और मध्य प्रदेश से भी मरीज आ रहे हैं, जिसकी वजह से मरीजों की संख्या बढ़ रही है।

औरंगाबाद: ऑक्सीजन सिलेंडर की मांग बढ़ी
औरंगाबाद में कोविड-19 मरीजों की संख्या 15,341 तक पहुंच गई है। यहां ऑक्सीजन सिलेंडर की मांग तीन गुना तक बढ़ गई है। खाद्य एवं औषधि प्रशासन (FDA) के एक अधिकारी ने बताया, ’14 मार्च को जिले में ऑक्सीजन का उपभोग 17.10 टन प्रतिदिन था। अब यह बढ़कर 49.50 टन प्रतिदिन हो गया है। सरकार ने ऑक्सीजन की एक कीमत तय कर दी है और इसकी आपूर्ति 15.22 रुपए प्रति क्यूबिक मीटर की दर से हो रही है, जो कि अभी सबसे ज्यादा है। पहले यह कीमत घट कर 12 रुपए हो गई थी, क्योंकि मांग कम थी।’

loading...
loading...

Check Also

बच्ची का मुंह रह गया खुला, लेकिन वरुण ने मासूम को नहीं खिलाया केक-देखे Vedio

बॉलीवुड एक्ट्रेस कृति सेनन और वरुण धवन इन दिनों अपनी फिल्म भेड़िया की शूटिंग कर ...