Monday , March 1 2021
Breaking News
Home / जरा हटके / महाराष्ट्र में कोरोना का कहर : CM उद्धव का बड़ा फैसला- सभी सरकारी, धार्मिक कार्यक्रमों पर रोक

महाराष्ट्र में कोरोना का कहर : CM उद्धव का बड़ा फैसला- सभी सरकारी, धार्मिक कार्यक्रमों पर रोक

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने रविवार को राज्य की जनता को संबोधित किया। उन्होंने सोमवार से राज्य में भीड़-भाड़ वाले सारे राजनीतिक और धार्मिक कार्यक्रम पर पाबंदी लगाने का ऐलान किया। उन्होंने कहा कि अगर यहीं स्थिति रही तो फिर से राज्य में लॉकडाउन लगाना पड़ सकता है।

उन्होंने लोगों को 8 दिन का अल्टीमेटम देते हुए कहा कि जो लोग लॉकडाउन नहीं चाहते, वे मास्क जरूर पहनें। जो लोग राज्य में लॉकडाउन चाहते हैं, वे बिना मास्क के घरों से बाहर निकलें।

उन्होंने कहा कि राज्य में कोरोना के मामले फिर से बढ़ रहे हैं। अगले 8 से 15 दिनों में हमें पता चल जाएगा कि यह कोरोना की नई लहर है या नहीं? उन्होंने निजी फर्मों से वर्क फ्रॉम होम पॉलिसी अपनाने के लिए कहा है, ताकि भीड़-भाड़ से बचा सके।

अमरावती में एक हफ्ते का लॉकडाउन
मरीजों की संख्या बढ़ता देख महाराष्ट्र सरकार ने एक बार फिर से राज्य के कई शहरों में सख्ती शुरू कर दी है। अमरावती में एक हफ्ते का लॉकडाउन लगाने का फैसला किया गया है। यह सोमवार रात 8 बजे से प्रभावी होगा। इस दौरान जरूरी सामान की दुकानें सुबह 9 बजे से शाम 5 बजे तक खुली रहेंगी।

पुणे में नाइट कर्फ्यू
वहीं, पुणे जिला प्रशासन ने भी नाइट कर्फ्यू लगा दिया है। यहां रात 11 से सुबह 6 बजे तक लोगों को घरों से निकलने पर रोक लग गई है। केवल इमरजेंसी में निकलने की इजाजत होगी। स्कूल-कॉलेज भी 28 फरवरी तक बंद कर दिए गए हैं। पुणे के बाद अब नागपुर, यवतमाल और मुंबई में भी नाइट कर्फ्यू लगाने की तैयारी शुरू हो गई है। राज्य के मंत्री विजय वेड्‌डेटीवार ने भी इसकी पुष्टि की। उन्होंने कहा कि आज मुख्यमंत्री से बैठक में इस पर फैसला हो जाएगा।

केंद्र सरकार ने फिर टेस्टिंग बढ़ाने का आदेश दिया
पूरे देश में हर दिन होने वाली टेस्टिंग में पिछले एक महीने में 5 लाख की गिरावट दर्ज की गई है। दिसंबर तक जहां, हर दिन 11 लाख के करीब लोगों की जांच होती थी, वहां अब औसतन 6 लाख लोगों का टेस्ट हो रहा है। राज्यों में कोरोना केस बढ़ने का एक बड़ा कारण टेस्टिंग की संख्या कम करना भी है। अब फिर से केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने इन सभी 9 राज्यों और केंद्र शासित राज्य सरकारों को पत्र लिखकर टेस्टिंग बढ़ाने का आदेश दिया है। मंत्रालय ने कहा है कि टेस्टिंग के जरिए ज्यादा से ज्यादा कोरोना संक्रमितों को ट्रेस किया जाए ताकि संक्रमण को फिर से फैलने से रोका जा सके।

टॉप-15 संक्रमित देशों में फिर शामिल हुआ भारत
देश एक बार फिर दुनिया के उन 15 देशों की सूची में शामिल हो गया है, जहां कोरोना के सबसे ज्यादा एक्टिव केस हैं। मतलब ऐसे मरीज जिनका इलाज चल रहा है, बाकी या तो ठीक हो चुके हैं या फिर उनकी मौत हो गई है।

भारत इस सूची में 15वें नंबर पर आ गया है। 30 जनवरी को पुर्तगाल, इंडोनेशिया और आयरलैंड को पीछे छोड़ते हुए 17वें नंबर पर पहुंच गया था। तब उम्मीद थी कि जल्द ही दुनिया के टॉप-20 संक्रमित देशों की सूची से भी बाहर हो सकता है, लेकिन पिछले कुछ दिनों से महाराष्ट्र समेत कई राज्यों में एक्टिव केस फिर से बढ़ने लगे। इसकी वजह से भारत अब फिर दुनिया के सबसे संक्रमित देशों में शामिल हो गया।

अमेरिका, फ्रांस और यूके में भी हालत खराब
एक्टिव केस के मामले में अमेरिका पहले नंबर पर है। यहां अभी 92 लाख से ज्यादा मरीजों का इलाज चल रहा है। फ्रांस में 32 लाख और यूके में 16 लाख से ज्यादा एक्टिव केस हैं। इसके अलावा इस सूची में ब्राजील, बेल्जियम, स्पेन, इटली, रूस, मैक्सिको, पोलैंड, आयरलैंड, इंडोनेशिया, अर्जेंटिना और भारत भी शामिल हैं।

अब तक 1.09 करोड़ केस
शनिवार को देश में 13 हजार 919 नए मरीज मिले। 11 हजार 412 लोग ठीक हुए और 89 की मौत हो गई। इस तरह से ओवरऑल एक्टिव केस में 2486 की बढ़ोतरी दर्ज हुई। 9 राज्य और केंद्र शासित राज्य ऐसे रहे जहां, ठीक होने वाले मरीजों से ज्यादा नए मरीजों की संख्या बढ़ी है। इनमें महाराष्ट्र, कर्नाटक, राजस्थान, छत्तीसगढ़, मध्यप्रदेश, हरियाणा, पंजाब, पुडुचेरी, त्रिपुरा और चंडीगढ़ शामिल हैं। देश में अब तक 1 करोड़ 9 लाख 91 हजार से ज्यादा लोग संक्रमण की चपेट में आ चुके हैं। इनमें 1 करोड़ 6 लाख से ज्यादा लोग ठीक हो चुके हैं, जबकि 1 लाख 56 हजार 339 मरीजों की मौत हो गई। अभी 1 लाख 42 हजार 691 मरीज ऐसे हैं जिनका इलाज चल रहा है।

loading...
loading...

Check Also

मिथुन दा की पहली बीवी थीं सुपरमॉडल, कामयाबी के लिए किया इस्तेमाल, फिर शादी तोड़ दी !

मिथुन चक्रवर्ती की इमेज वैसे तो एक भद्र मानूस की है, लेकिन मिथुन बॉलीवुड के ...