Thursday , April 22 2021
Breaking News
Home / ऑफबीट / मुस्तफा ने पहचान छिपा हिंदू महिला से शादी की, गर्भवती हुई तो अस्पताल में आधार कार्ड से खुला राज !

मुस्तफा ने पहचान छिपा हिंदू महिला से शादी की, गर्भवती हुई तो अस्पताल में आधार कार्ड से खुला राज !

बीजेपी शासित राज्यों में लव जिहाद जैसे अपराध पर रोक लगाने के लिए सरकारें कड़ा कानून ला आ रही है. उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश में तो ये कानून लागू हो ही चुका है और हरियाणा में भी लगभग प्रक्रिया पूरी हो चुकी है इसके अलावा गुजरात सरकार भी धर्मांतरण पर रोक लगाने के लिए पूरा मन बना चुकी है,. लेकिन भी फिर लव जिहाद के मामले थमने का नाम नहीं ले रहे हैं. सिर्फ नाम और जगह ही बदलती है लेकिन सारे मामलों की स्क्रीप्ट लगभग एक जैसी ही होती है.. कहीं राहुल नाम बताने वाला अब्दुल निकलता है तो कहीं सचिन नाम बताने वाला फैजल. लेकिन स्टोरी लगभग सैम होती है. इनका एक ही मकसद होता है कि धर्मांतरण करना और फिर निकाह करके कुछ दिनों बात अत्याचार करते हुए गैर मुस्लिम युवतियों को छोड़ देना.

दरअसल मध्य प्रदेश के इंदौर से भी लव जिहाद का एक चौंकाने वाला मामला सामने आया है. रिपोर्ट के मुताबिक, मुस्तफा नाम के एक शख्स ने अपनी पहचान छिपाकर हिंदू महिला से शादी कर ली. महिला जब गर्भवती हुई तो जाँच कराने अस्पताल पहुँची. वहाँ उसने आधार कॉर्ड पर अपने पति का असली नाम देखा. तो वो हक्का बक्का रह गई. कि खुद को हिंदू बताने वाला मुस्लिम कैसे हो गया.

इंदौर के द्वारकापुरी थाने में दर्ज शिकायत के मुताबिक, पिछले साल अप्रैल में प्रेम विवाह करने वाली महिला को एक साल बाद पता चला कि उसका पति गब्बर नहीं, मुस्तफा है. महिला ने बताया कि दोनों की मुलाकात एक बर्थडे पार्टी में हुई थी. इसके बाद दोनों एक-दूसरे के करीब आ गए और विवाह कर लिया. मुस्तफा ने महिला को अपना नाम गब्बर बताया था. लेकिन जब वो गर्भवती हुई और जाँच कराने अस्पताल पहुँची तो उसने आधार कार्ड में मुस्तफा नाम पाया. महिला की शिकायत पर पुलिस ने मुस्तफा के खिलाफ लव जिहाद कानून के तहत मामला दर्ज कर लिया है.

दरअसल हाल ही में मध्य प्रदेश में लव जिहाद और जबरन धर्मांतरण रोकने का नया कानून लागू हुआ है. इस कानून में शादी के बाद बलपूर्वक धर्म-परिवर्तन को गंभीर अपराध माना गया है और इसके लिए 10 साल तक की सजा का प्रावधान है. बता दें कि अधिनियम की प्रस्तावना में लिखा हुआ है कि ये अधिनियम धर्मांतरण के खिलाफ धर्म की स्वतंत्रता को सुनिश्चित करता है,. इसके साथ ही विवाह, धमकी, लालच जैसे अवैध माध्यमों से धर्मांतरण को रोकता है. अब सवाल ये है कि आखिर कुछ लव जिहादियों को कड़े कानून का खौफ नहीं हैं. क्या इस तरह की हरकतों को एक साजिश के तरह अंजाम दिया जा रहा है.

loading...
loading...

Check Also

बड़ी आफत : अब कोरोना के ट्रिपल म्यूटेशन ने बढ़ाई चिंता, छह सैंपल में पाए गए तीन नए वेरिएंट

देहरादून के छह सैंपल में पाए गए तीन नए वेरिएंट, जानिए कितना खतरनाक है ये ...