Friday , September 18 2020
Breaking News
Home / क्राइम / मोदी ने दिया सबसे बड़ा ऑर्डर, लद्दाख पहुंच गया ‘भीष्म’, अब शत्रु का संहार तय

मोदी ने दिया सबसे बड़ा ऑर्डर, लद्दाख पहुंच गया ‘भीष्म’, अब शत्रु का संहार तय

पूर्वी लद्दाख की गलवान घाटी में हिंसा के बाद एक बार फिर भारत और चीन के बीच बातचीत का दौर जारी है। दोनों देश अब हर हफ्ते परामर्श और समन्वय के लिए कार्य तंत्र की मीटिंग में पीपल्स लिबरेशन आर्मी की पूर्वी लद्दाख सेक्टर में जारी आक्रामकता पर चर्चा करेंगे और यहां तनाव कम करने के तरीके ढूंढेंगे। लेकिन इसके बावजूद भारत को चीन पर ऐतबार नहीं है। भारत ने एलएसी पर पूरी तरह से युद्ध की तैयारी कर ली है। चीन को जवाब देने के लिए भारत ने अपने सबसे घातक और सबसे भरोसेमंद हथियार टी-90 भीष्म टैंक को लद्दाख में उतार दिया है।

माना जाता है कि लद्दाख के खुले मैदानों में इन टी-90 टैंकों से बेहतर कोई हथियार नहीं है। पूर्वी लद्दाख में स्पांगुर गैप से होकर ये टैंक, सीधे चीन के नियंत्रण वाली सीमा में जा सकते हैं। इसके अलावा लद्दाख के डेमचौक इलाके में रणनीतिक तौर पर पांच महत्वपूर्ण पासों की सुरक्षा का जिम्मा भी ये टैंक आसानी से संभाल सकते हैं। इन दोनों ही इलाकों में खुले मैदान हैं, यहां पर जमीन रेतीली है, इसलिए यहां पर टैंकों के जरिए तेजी से बढ़ना आसान है। स्पांगुर गैप और डेमचौक दोनों ही जगहों से चीन का एक महत्वपूर्ण हाईवे G-219, करीब 50 किलोमीटर ही दूर है। इसलिए अगर युद्ध हुआ तो चीन के लिए इन टैंकों का सामना करना आसान नहीं होगा।

भीष्म टैंक की क्या हैं खूबियां

T-90 भीष्म टैंक रशियन टेक्नोलॉजी से बना मेड इन इंडिया टैंक है
इसमें लेजर गाइडेड INVAR मिसाइल सिस्टम लगा है
चार किलोमीटर तक दुश्मन का कोई भी टैंक बच नहीं सकता
इसके हंटर किलर कॉन्सेप्ट से गनर और कमांडर दोनों ही निशाना लगा सकते हैं
टैंक में 125mm की गन लगी है और ये 60 सेकेंड में 8 गोले फायर कर सकता है
दुनिया के सबसे हल्के टैंक में से एक है
1000 हॉर्स पावर का इंजन है, और ये 72 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से दौड़ सकता है
Self-Entrenching Plate यानी सामने लगे उपकरण के सहारे ये टैंक खुद को छिपाने के लिए खुद खाईं भी खोद सकता है
टैंक दिन हो या रात, हर समय पर युद्ध लड़ने की क्षमता है
इसमें दुश्मन की किसी भी मिसाइल को रोकने का कवच है
भीष्म 5 मीटर गहरी नदी या नाले को भी आसानी से पार कर सकता है

भारत के पास कितने टैंक हैं
भारतीय सेना के पास करीब 4300 टैंक हैं। 2016 में भारत ने लद्दाख में टैंकों की पहली बिग्रेड तैनात की थी। इसमें T-72 टैंक थे, लेकिन जब चीन की तरफ से LAC पर T-95 टैंकों की तैनाती की खबरें आईं, तो भारतीय सेना ने टी-90 भीष्म टैंकों को लद्दाख में उतार दिया।

Check Also

शादी से पहले ऐसी मांग किया दूल्हा, भरी महफिल में दुल्हन हो गई शर्मिंदा

शादी हर लड़की का सपना होता है, हर लड़की उस सपने के साथ अपनी जिंदगी ...