Saturday , December 5 2020
Breaking News
Home / उत्तर प्रदेश / मोदी सरकार की इस योजना का उठाएं फायदा, 1000 रुपए की कमाई होगी रोजाना

मोदी सरकार की इस योजना का उठाएं फायदा, 1000 रुपए की कमाई होगी रोजाना

अगर आप भी रोजगार (Employment) की तलाश में हैं और कमाई का मौका (How to earn money) ढूंढ रहे हैं तो केंद्र सरकार (Central Government) की योजना का फायदा उठा सकते हैं. हर महीने अच्छी कमाई कर सकते हैं. केंद्र सरकार का देश भर में जनऔषधि केंद्र (Jan Aushadi kendra) खोलने पर जोर है. हालांकि, काफी जगह पर यह खुल चुके हैं. आप भी अपने शहर या इलाके के आसपास इसे शुरू कर सकते हैं. स्कीम के तहत सरकार क्वॉलिटी जेनेरिक दवाओं (Generic medicine) को कम दाम में मुहैया कराती है. शहर, गांव या कस्बे कहीं पर भी इसे शुरू किया जा सकता है. एक अनुमान के तौर पर हर महीने 30 हजार रुपए तक की कमाई होती है.

कैसे करें आवेदन? (How to apply for Janaushadi kendra?)
जन औषधि केंद्र खोलने के लिए आवेदन फॉर्म को आप http://janaushadhi.gov.in के लिंक पर जाकर ऑनलाइन डाउनलोड कर सकते हैं. इसे भरने के बाद आपको सीलबंद लिफाफे में निम्नलिखित पते पर भेजना होगा.

सीईओ,
ब्यूरो ऑफ फार्मा पब्लिक सेक्टर अंडरटेकिंग्स ऑफ इंडिया (BPPI),
8वां तल, ब्लॉक ई-1, विडियोकॉन टावर, झंडेवालान एक्सटेंशन।
नई दिल्ली-110055.

क्या आप खोल सकते हैं जनऔषधि केंद्र? (Jan Aushadi kendra eligibility)
जनऔषधि केंद्र खोलने के लिए सरकार की तरफ से कुछ शर्तें तय की गई हैं. इन शर्तों को पूरा करने वाला व्यक्ति जनऔषधि केंद्र का लाभार्थी हो सकता है. इसके तहत तीन कैटेगरी बनाई गई हैं.

  • पहली कैटेगरी के तहत कोई भी बेरोजगार जो फार्मासिस्ट, डॉक्टर या रजिस्टर्ड मेडिकल प्रैक्टिशनर स्टोर खोल सकता है.
  • दूसरी कैटेगरी के तहत ट्रस्ट, एनजीओ, प्राइवेट अस्पताल, सोसायटी और सेल्फ हेल्प ग्रुप भी जनऔषधि केंद्र भी इसके लिए आवेदन कर सकता है.
  • तीसरी कैटेगरी के अंतर्गत राज्य सरकारों की तरफ से नॉमिनेट की गई एजेंसी स्टोर खोल सकती है.

कितनी जगह चाहिए? (How much space do you need)
अगर आप भी जनऔषधि केंद्र के लिए आवेदन करना चाहते हैं तो आपके पास दुकान के लिए कम से कम 120 वर्गफुट कवर्ड एरिया होना चाहिए. अगर सरकार आपके आवेदन पर जनऔषधि केंद्र खोलने की मंजूरी देती है तो सरकार की तरफ से आपको 650 से ज्यादा दवाओं के साथ ही 100 से ज्यादा उपकरण बिक्री करने के लिए उपलब्ध कराए जाएंगे.

सरकार देती है सहायता राशि (Business investment)
आप अगर इस योजना के तहत मेडिकल स्टोर खोलना चाहते हैं तो आपको किसी तरह का निवेश करने की जरूरत नहीं है. जनऔषधि केंद्र खोलने के लिए करीब 2.5 लाख रुपए का खर्च आता है. इसके लिए सरकार की तरफ से 2.5 लाख रुपए की सरकारी सहायता दी जाती है.

इस तरह मिलेगी 2.5 लाख की मदद (Government funding to start business)
योजना के तहत मेडिकल स्टोर खोलने के लिए पहले आपको 1 लाख रुपए की दवाइयां खरीदनी होंगी. बाद में सरकार की तरफ से इसे महीने के आधार पर रीइंबर्समेंट किया जाएगा. सरकार दुकान शुरू करने में लगने वाले इंफ्रास्ट्रक्चर यानी रैक, डेस्क आदि के लिए आपको एक लाख तक की मदद करेगी. फर्नीचर में खर्च हुई रकम को सरकार की तरफ से आपको छह महीने में वापस कर दिया जाएगा. जनऔषधि केंद्र खोलने के लिए कंप्यूटर आदि पर खर्च होने वाले 50 हजार रुपए भी आपको सरकार की तरफ से दिए जाएंगे.

ऐसे मिलेगा सरकार से इंसेटिव (Sarkar ki taraf se incentive)
आपकी दुकान से हर महीने जितने रुपए की दवाओं की बिक्री की जाएगी, उस पर आपको 10 फीसदी का इंसेटिव दिया जाएगा. यह इंसेटिव हर महीने अधिकतम 10 हजार रुपए तक होगा. यानी यदि आप एक महीने में एक लाख रुपए से ज्यादा की दवाएं सेल करते हैं तब भी 10 हजार रुपए का ही इंसेटिव मिलेगा. यह इंसेटिव आपको तबतक मिलेगा, जबतक 2.5 लाख रुपए की लिमिट पूरी नहीं हो जाती है.

इस तरह होगी आपकी इनकम (How to earn money with Modi government scheme)
आप जनऔषधि केंद्र का अप्रूवल मिलने के बाद हर महीने जितने पैसों की दवाएं सेल करेंगे. उस रकम का 20 फीसदी आपको कमीशन के रूप में मिलेगा. इस तरह यदि आपने हर महीने एक लाख रुपए की दवाओं की बिक्री की तो 20 हजार रुपए कमीशन और इंसेटिव मिलाकर आपको कुल 30 हजार रुपए की इनकम हुई. यदि आप दवाओं की बिक्री ज्यादा करते हैं तो आपकी कमाई बढ़ जाएगी.

loading...
loading...

Check Also

भारत के सामने क्यों कांपने लगा हर समुद्री क्षेत्र में अपने पैर पसारने वाला चीन, जानिए

भारत-चीन विवाद के दौरान ज़मीन पर यानि भारत-तिब्बत बॉर्डर पर बेशक चीन की ओर से ...