Wednesday , January 20 2021
Breaking News
Home / उत्तर प्रदेश / यूपी पंचायत चुनाव पर बोली योगी सरकार, इस तारीख को जारी होगी अधिसूचना

यूपी पंचायत चुनाव पर बोली योगी सरकार, इस तारीख को जारी होगी अधिसूचना

उत्तर प्रदेश में होने वाले त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव की तैयारियां जोरों से जारी हैं. शनिवार को बरेली में पंचायती राज्य मंत्री भूपेंद्र सिंह ने बताया कि 15 फरवरी को अधिसूचना जारी हो सकती है, जबकि मई के पहले सप्ताह तक त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव संपन्न हो जायेंगे. मार्च के अंत या फिर अप्रैल के पहले सप्ताह में ग्राम पंचायत के चुनाव सम्पन्न करवा लिए जाएंगे. इसके बाद क्षेत्र पंचायत और फिर जिला पंचायत का चुनाव कराया जाएगा और मई में त्रिस्तरीय चुनाव संपन्न हो जायेगे.

यह होगा आरक्षण फॉर्मूला
गौरतलब है कि इस समय यूपी पंचायत चुनाव को लेकर तैयारियां जोरों पर चल रही हैं. इसके के तहत प्रत्येक ब्लॉक में एससी-एसटी पिछड़े और सामान्य वर्ग की आबादी अंकित करते हुए ग्राम पंचायतों की सूची वर्णमाला के क्रम में बनाई जाएगी. फॉर्मूले के अनुसार एससी-एसटी और पिछड़े वर्ग के लिए प्रधानों के आरक्षित पदों की संख्या उस ब्लॉक पर अलग-अलग पंचायतों में उस वर्ग की आबादी के अनुपात में घटते क्रम में होगी.

2015 में जो पंचायत एससी-एसटी के लिए आरक्षित थी उन्हें इस बार एससी-एसटी के लिए आरक्षित नहीं किया जाएगा. इसी तरह अगर 2015 में पंचायत का प्रधान पद ओबीसी के लिए आरक्षित था तो इस बार उसे दूसरे वर्ग के लिए आरक्षित किया जाएगा. जानकारों की मानें तो नए नगरीय निकायों के गठन या सीमा विस्तार का आरक्षण पर असर दिख सकता है.

इस नियम के लगाए जा रहे हैं कयास
चुनाव लड़ने वालों के लिए दो बच्चों और न्यूनतम शैक्षिक योग्यता अनिवार्य करने को लेकर तमाम कयास लगाए जा रहे हैं. हालांकि, पंचायती राज मंत्री भूपेन्द्र सिंह के मुताबिक, यूपी सरकार ने अभी इस पर कोई निर्णय नहीं लिया है. अभी इस पर कोई चर्चा नहीं हुई है. लेकिन ये सब मुख्यमंत्री के संज्ञान में है. उन्हें इस पर निर्णय लेना है.

बैलेट पेपर से कराए जाएंगे चुनाव
यूपी पंचायत चुनाव इस बार बैलेट पेपर से कराए जाएंगे. इसको लेकर चुनाव आयोग ने तैयारियां शुरू कर दी हैं. जिलों पर मतपत्र भेजे जाने लगे हैं.

loading...
loading...

Check Also

BJP सांसद हेमा मालिनी के होटल का खर्च उठाना चाहते हैं आंदोलनकारी किसान, जानिए कारण

नई दिल्ली। नए कृषि कानूनों ( Farm Law ) को लेकर किसानों का प्रदर्शन लगातार जारी ...