Sunday , September 20 2020
Breaking News
Home / उत्तर प्रदेश / यूपी में कोरोना : अगस्त से ज्यादा सितंबर में आ रहे केस, योगी ने अफसरों को दिए ये सख्त निर्देश

यूपी में कोरोना : अगस्त से ज्यादा सितंबर में आ रहे केस, योगी ने अफसरों को दिए ये सख्त निर्देश

लखनऊ. सितंबर माह में कोरोना संक्रमण (Coronavirus in UP) और तेजी से फैल रहा है। बीते चार दिनों में तीन बार कोरोना (Corona) के 6700 से ज्यादा मामले सामने आए हैं। बुधवार को 6711 लोगों में कोरोना की पुष्टि हुई है। इससे पहले मंगलवार को 6743 तो रविवार को सर्वाधिक 6777 कोरोना मरीज मिले थे। सीएम योगी के तमाम प्रयासों के बावजूद सितंबर के केवल नौ दिनों में 54791 मामले सामने आ चुके हैं। इस हिसाब से अगस्त की तुलना में सितंबर में संक्रमण दर ज्यादा है। अगस्त के पहले नौ दिनों में 36693 लोग संक्रमित हुए थे। प्रदेश में सर्वाधिक मामले राजधानी लखनऊ से ही सामने आ रहे हैं, जिसके बाद कानपुर नगर व प्रयागराज में भी तेजी से वृद्धि हो रही है। स्वास्थ्य विभाग का ध्यान भी इन जिलों की ओर केंद्रत है, बावजूद इसके इस पर रोकथाम नहीं हो पा रही है। हालांकि रिकवरी रेट बेहतर है।

अब तक 285029 हुए संक्रमित-

राज्य में अब तक कुल 285029 लोगों संक्रमित हो चुके हैं, इनमें 2,16,901 स्वस्थ होकर डिस्चार्ज हो चुके हैं। रिकवरी का प्रतिशत 76.09 है। प्रदेश में बुधवार को सामने आए आंकड़ों के अनुसार प्रदेश में एक्टिव मामलों की कुल संख्या 64,028 है। प्रदेश में बुधवार को 1,44,360 सैंपल्स की जांच की गई। जिसके साथ ही कुल 69,17,773 सैंपल्स की जांच की जा चुकी है। अमित मोहन ने बताया कि वर्तमान में 33,731 लोग होम आइसोलेशन में हैं। अब तक 1,36,300 लोगों ने होम आइसोलेशन का विकल्प लिया है। 102,569 का होम आइसोलेशन की अवधि समाप्त हो चुकी है।

लखनऊ में सबसे ज्यादा मामले-
यूपी में वर्तमान में लखनऊ में सबसे ज्यादा 8880 एक्टिव केस हैं। प्रतिदिन राजधानी में 900 से 1000 से ज्यादा मामले सामने आ रहे हैं। कुल 31637 लोगों संक्रमित हो चुके हैं। 404 की जान जा चुकी है। वहीं दूसरे नंबर पर कानपुर में 4068, तीसरे नंबर पर प्रयागराज में 3459 एक्टिव केस हैं। सबसे कम 111 रोगी बागपत में हैं। इसके अलावा हाथरस में 123 और महोबा में 130 एक्टिव मामले हैं। सीएम योगी ने लखनऊ, कानपुर नगर तथा प्रयागराज में बढ़ते मामलों पर चिंता जाहिर की है व यहां कॉन्टैक्ट ट्रेसिंग में वृद्धि किए जाने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा कि कोविड-19 के संक्रमण के प्रसार को नियंत्रित करने में इस कार्य की महत्वपूर्ण भूमिका है।

कोविड अस्पतालों में बढ़ाया जाए मैनपॉवर-

टीम-11 संग बैठक में सीएम ने चिकित्सकों तथा पैरामेडिकल स्टाफ को कोविड-19 को देखते हुए प्रशिक्षण देकर कोविड अस्पतालों में मैनपॉवर बढ़ाने की कार्यवाही में तेजी लाने के निर्देश दिए हैं। साथ ही उन्होंने कहा कि कोरोना के प्रति लोगों को सतत जागरूक किया जाए। एल-2 तथा एल-3 कोविड चिकित्सालय में बेड्स की संख्या में वृद्धि की कार्यवाही लगातार की जाए। सीएम ने चिकित्साकर्मियों को मेडिकल संक्रमण से सुरक्षित रखने के लिए उन्हें पीपीई किट, ग्लब्स, मास्क एवं सैनिटाइजर की सुचारू उपलब्धता सुनिश्चित की जाए। साथ ही होम आइसोलेशन में रह रहे कोविड-19 से संक्रमित मरीजों से सीएम हेल्पलाइन नंबर 1076 के माध्यम से भी संवाद स्थापित कर उनके स्वास्थ्य लाभ की जानकारी लेने के निर्देश दिए हैं।

सीरो सर्वे का काम पूरा-
लखनऊ, मेरठ समेत राज्या के 11 ज्यादा संक्रमित वाले जनपदों में सामुदायिक संक्रमण की स्थिति जांचने के लिए सीरो सर्वे शुरू कराया था। अमित मोहन ने बताया कि इसके अंतर्गत सैंपल एकत्र करने का काम बुधवार को पूरा हो गया। अब इसकी एंटीबॉडी के लिए टेस्टिंग की जाएगी और महीने के अंत तक हम बता पाएंगे कि इन 11 बड़े शहरों में संक्रमण का प्रतिशत क्या पाया गया है।

Check Also

काला कानून : बिना सरकारी इजाजत के छंटनी कर सकेगी 300 से कम कर्मचारियों वाली कंपनियां

300 से अधिक कर्मचारियों वाली कंपनियों को जल्द ही सरकार की मंजूरी के बिना भर्ती ...