Sunday , July 12 2020
Breaking News
Home / उत्तर प्रदेश / यूपी में कोरोना हुआ बेकाबू, 685 नए केस से मचा हड़कंप, इतनी मौत कि हर कोई सन्न !

यूपी में कोरोना हुआ बेकाबू, 685 नए केस से मचा हड़कंप, इतनी मौत कि हर कोई सन्न !

उत्तर प्रदेश में कोरोना संक्रमण के मामले घट नहीं रहे हैं। बीते 24 घंटे में राज्य में 685 नए मामले सामने आए। इसके बाद अब राज्य में संक्रमितों की संख्या 22,828 हो गई है। वहीं, 12 और लोगों की मौत हो गई। इससे प्रदेश में अब तक कोरोना से 672 की जान जा चुकी है। लखनऊ सेंट्रल बार एसोसिएशन के उपाध्यक्ष (मध्य) के कोरोना संक्रमित मिलने के बाद जिला न्यायालय को दो दिनों के लिए बंद कर दिया गया है। सैनिटाइजेशन के बाद अदालत को फिर से खोला जाएगा।

राज्य में कोविड टेस्टिंग सात लाख के पार
स्वास्थ्य विभाग के प्रमुख सचिव अमित मोहन प्रसाद ने बताया कि, प्रदेश में 6,650 एक्टिव केस हैं। जिनका अस्पताल में इलाज जारी है। अब तक कुल 15,506 मरीज ठीक होकर डिस्चार्ज हो चुके हैं। रिकवरी रेट इस समय 66.86% है। बताया कि, रविवार को प्रदेश में कुल 22,387 सैंपल की टेस्टिंग की गई। प्रदेश में सैंपल टे​स्टिंग का आंकड़ा 7 लाख पार कर चुका है। अब तक कुल 7,07,839 सैंपल की टेस्टिंग हुई है।

मेरठ मंडल में पूरी सतर्कता के साथ चले सर्विलांस अभियान
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सोमवार सुबह कोविड-19 की टीम इलेवन के साथ एक से 31 जुलाई तक संचालित किए जाने वाले संचारी रोग नियंत्रण अभियान की तैयारियों की समीक्षा की। सीएम ने कहा कि प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र, सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र आदि को संचारी रोग के संबंध में सतर्क रखा जाए। स्वच्छता के सम्बन्ध में कोई शिथिलता नहीं होनी चाहिए। उन्होंने गौतमबुद्ध नगर तथा गाजियाबाद के साथ ही पूरे मेरठ मंडल में पूरी सतर्कता तथा सावधानी बरते जाने का निर्देश दिया है।

सभी विभागों में बने कोविड हेल्प डेस्क

सीएम ने कहा कि टेस्टिंग क्षमता बढ़ाने हेतु संसाधनों का पूरा उपयोग किया जाए। ट्रूनैट मशीनों तथा रैपिड एन्टीजेन टेस्ट मशीनों को पूरी क्षमता से संचालित करते हुए ज्यादा से ज्यादा टेस्ट किए जाएं। निजी अस्पतालों में ट्रूनैट मशीनों के प्रयोग के बढ़ावा दिया जाए। सीएम ने कोविड हेल्प डेस्क की स्थापना के कार्य को तेज गति से जारी रखने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा कि सभी विभागों एवं संस्थाओं में ‘कोविड हेल्प डेस्क’ स्थापित की जाए। निजी चिकित्सालयों को हेल्प डेस्क की स्थापना के लिए प्रेरित किया जाए।

Check Also

कोरोना का लगातार बढ़ रहा कहर, इन 3 बातों ने बढ़ा दी है भारत की टेंशन

घातक कोरोना वायरस से जंग लड़ रहे भारत के लिए शनिवार कुछ डरावने आंकड़े लेकर ...