Thursday , October 1 2020
Breaking News
Home / क्राइम / यूरोप ट्रिप पर सुशांत, रिया और शौविक एक दिन में ही स्विजरलैंड से फ्रांस दो बार आए-गए, क्यों?

यूरोप ट्रिप पर सुशांत, रिया और शौविक एक दिन में ही स्विजरलैंड से फ्रांस दो बार आए-गए, क्यों?

सुशांत सिंह राजपूत की मौत के मामले में एक और बड़ा खुलासा हुआ है। रिया चक्रवर्ती ने ईडी को बताया है कि सुशांत की तबीयत यूरोप ट्रिप के बाद खराब रहने लगी। इस यूरोप ट्रिप में सुशांत सिंह राजपूत, रिया चक्रवर्ती और उनके भाई शौविक चक्रवर्ती गए हुए थे। तीनों ने स्विट्जरलैंड, फ्रांस, इटली, ऑस्ट्रिया और यूएई की सैर की थी। रिया ने बताया कि इटली में सुशांत सिंह राजपूत ने एक पेंटिंग देख ली जिसके बाद से उनकी तबीयत खराब रहने लगी।

रिया के अनुसार इस पेंटिंग को देखने के बाद सुशांत सिंह राजपूत को भूत प्रेत नजर आने लगे। यानी कि रिया के अनुसार इटली में एक पेंटिंग के कारण ही सुशांत सिंह राजपूत की स्थिति खराब होने लगी। अब सवाल यह उठ रहा है कि अगर इटली के बाद से ही सुशांत की तबीयत खराब हुई तो रिया सुशांत को लेकर तुरंत मुंबई क्यों नहीं आई बल्कि वह ऑस्ट्रिया क्यों चली गई?

स्विट्जरलैंड एक दिन में दो बार

सुशांत सिंह राजपूत की यूरोप ट्रिप 3 अक्टूबर को शुरू हुई। उन्होंने पहले फ्रांस की यात्रा की। उसके बाद फ्रांस से स्विजरलैंड गए, स्विजरलैंड से फ्रांस फिर वापस आए और फ्रांस से फिर स्विजरलैंड गए। फिर उसके बाद स्विजरलैंड से सुशांत, रिया और शौविक चक्रवर्ती इटली रवाना हुए। इटली के बाद तीनों लोग 21 अक्टूबर को ऑस्ट्रिया रवाना हो गए। ऑस्ट्रिया के बाद यूएई होते हुए 28 अक्टूबर को मुंबई लौट आए।

सबसे बड़ी बात ये कि 9 अक्टूबर से 11 अक्टूबर के बीच सुशांत और रिया अपने भाई के साथ करीब 30 घंटों के अंदर दो बार स्विट्जरलैंड रवाना होते हैं। पहले स्विजरलैंड से फ्रांस आते हैं लेकिन फ्रांस से फिर स्विजरलैंड रवाना हो जाते हैं। स्विट्जरलैंड से फ्रांस की दूरी करीब 670 किलोमीटर है। सवाल यह उठता है कि आखिर में ये लोग स्विट्जरलैंड और फ्रांस के दो बार चक्कर क्यों लगाते हैं?

3 अक्टूबर से 9 अक्टूबर तक सुशांत और रिया अपने भाई के साथ फ्रांस में रुकती है। 9 अक्टूबर से 11 अक्टूबर तक ये लोग स्विट्जरलैंड में रहते हैं लेकिन फ्रांस-स्विट्जरलैंड दो बार आते जाते हैं। अब ईडी पता लगाने की कोशिश कर रही है कि यह लोग दो बार 30 घंटे के अंदर ही स्विट्जरलैंड क्यों जाते हैं?

loading...
loading...

Check Also

हाथरस कांड पर पुलिस का दावा- जीभ काटने, रीढ़ की हड्डी तोड़ने और आंख फोड़ने की बात झूठी; दो बार बयान बदली थी पीड़िता

15 दिन जिंदगी-मौत से जूझने के बाद हाथरस की 19 साल की लड़की आखिरकार मौत ...