Monday , July 13 2020
Breaking News
Home / उत्तर प्रदेश / योगी का फॉर्मूला ट्रंप को पसंद आया, इसी से अमेरिका में रामराज्य आएगा

योगी का फॉर्मूला ट्रंप को पसंद आया, इसी से अमेरिका में रामराज्य आएगा

अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की चिंताएं अभी बढ़ी हुई है। एक तो अमेरिका करोनक़ महामारी के बबसे भयंकर दौर से जूज़र रहा है और हार ही में अमेरिका में उत्पात भी होता है। अब चुनाव भी होने वाले है और ऐसे में ट्रम्प जीतोड़ कोशिश कर रहे है की सब कुछ ठीक हो जाये और वे अपने काम मर सफल हो। अर्थात अमेरिका में राम राज्य की स्थापना हो जाये।

ऐसे में डोनाल्ड ट्रम्प ने अब भारत के उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के तरीके को अपनाया है। डोनाल्ड ट्रम्प ने उत्पात करने वालों की फोटो ट्वीट कर उनके बारे में लोगों से जानकारी मांगी है। यह फोटो ट्रम्प ने सार्वजनिक तौर पर पोस्ट की है, ताकि सब देख सके और सख्त कार्यवाही हो सके।

आपको बता दे की भारत की राजधानी दिल्ली और उत्तर प्रदेश में इस साल हुए उत्पात और उपद्रव में बहुत नुक्सान होता था। उपद्रवियों द्वारा किए, सरकारी और निजी संपत्ति को नुकसान पहुंचाया गया था। उत्पात से परेशान होकर सरकारों ने भी इनसे निपटने के आईडिया निकले और इलाके में लगे सीसीटीवी खंगाले।

उत्तर प्रदेश की योगी सरकार ने उपद्रव के दौरान संपत्ति को नुकसान पहुंचाने वालों के पोस्टर निकाले और शहर की प्रमुख सड़कों और चौराहों पर उनको लगा दिया। इसके अलावा शहर के लोगों से इन लोगों की पहचान करने की अपील की गई, जिनकी पहचान हो गई, उनके घर नोटिस पहुंच गए। संपत्ति को नुकसान पहुंचाने का हर्जाना माँगा गया और भरवाया गया हैं। इस मसले पर उत्तर प्रदेश के UP CM योगी आदित्यनाथ ने कहा था कि सरकारी संपत्ति को नुकसान पहुंचाने वालों को छोड़ा नहीं जाएगा, जिन्होंने संपत्ति को नुकसान पहुंचाया है उन्हीं से उसकी वसूली की जाएगी।

अब खबर आई है की कुछ इसी प्रकार से अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप भी उपद्रवियों से निपट रहे हैं। अमेरिका में अश्वेत जॉर्ज फ्लॉयड वाले केस के बाद वहां भी अश्वेत और श्वेत लोगों ने मिलकर अमेरिका के अनेक शहरों में जोरदार प्रदर्शन किए। उत्पात करके करोड़ों रूपये की निजी और सरकारी संपत्ति का नुकसान किया। अब उपद्रव शांत हो गए है।

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने सभी सीसीटीवी फुटेज और वीडियो से प्राप्त उत्पाती लोगों की फोटो अपने ट्वीटर हैंडल से ट्वीट की हैं और लोगों से इनको पहचानने की अपील की है। बता दे की पिछले दो दिनों से ट्रंप लगातार ऐसी तस्वीरें ट्वीट कर रहे हैं। अमेरिका में लेफायेट्टे पार्क में हुए उपद्रव के लोगो के पोस्टर कई जगहों पर लगाए भी गए हैं। इन लोगों पर आरोप है कि इन्होंने अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति एंड्र्यू जैक्सन की प्रतिमा को नुकसान पहुँचाया है। राजधानी वाशिंगटन डीसी में स्थापित एक कॉन्फेडरेट जनरल की प्रतिमा को प्रदर्शनकारियों ने नुकसान पहुँचाया है।

यह घटना 19 जून को हुई जिस दिन को अमेरिका में दास प्रथा के अंत के रूप में मनाया जाता है। ग्रेनाइट के बने मंच पर स्थापित 11 फुट की अलबर्ट पाइक की प्रतिमा को जंजीर के ज़रिये गिराया गया और मूर्ति गिरने पर प्रदर्शनकारियों ने उसपर कूद और चढ़कर नुक्सान पहुँचाया। इस पूरी घटना का वीडियो बनाकर उसे सोशल मीडिया पर पोस्ट भी किया गया था। वीडियो में दिख रहा है कि पुलिस घटनास्थल पर मौजूद थी, लेकिन उन्होंने प्रदर्शनकारियों को रोकने की कोशिश नहीं की।

उस वक़्त उग्र प्रदर्शन करने वालों ने अमेरिका के कुछ शहरों में लगी मूर्तियों में अपना नाम तक लिख दिया। उक्त प्रदर्शन करने वालों ने गिनी चुनी मूर्तियां और स्मारकों को पॉइंट किया। एक समय ऐसा आ गया जब स्थानीय अमेरिकी प्रशासन को ऐसी सभी मूर्तियों को हटाने का काम करना पड़ा। पुलिस की मौजूदगी में ऐसी दर्जनों मूर्तियों को क्रेन की मदद से उठाकर सुरक्षित स्थान पर पहुंचा गया, ताकि प्रदर्शन करने वाले उसे नुकसान न पहुंचा सके। अब अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प द्वारा इन लोगो की तस्वीरें पोस्ट करने से इनके खुलाफ सख्त कार्यवाही की जाएगी।

Check Also

बिहार में ‘काला’ रविवार : हर रिकॉर्ड तोड़ दिया कोरोना, अबतक का सबसे बड़ा आंकड़ा

बिहार में कोरोना वायरस (CoronaVirus) का रविवार को बड़ा ‘विस्‍फोट’ हुआ है। आज राज्य के ...