Sunday , September 20 2020
Breaking News
Home / उत्तर प्रदेश / योगी का विवादित पोस्टर : सपा नेता ने सरकार पर लगाया महामारी के बहाने उगाही का आरोप

योगी का विवादित पोस्टर : सपा नेता ने सरकार पर लगाया महामारी के बहाने उगाही का आरोप

लखनऊ. उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में दारुलशफा की दीवारों पर समाजवादी छात्रसभा के नेता द्वारा सीएम योगी का विवादित पोस्टर लगाया गया है। जिसमे योगी ब्राह्मणों के ऊपर फरसा ताने खड़े हुए हैं। जबकि अखिलेश यादव को मुकुट पहना कर उन्हें बचाने वाला दर्शाया गया है। यही नही पोस्टर में भगवान परशुराम का चित्र भी बना हुआ है। इससे पहले भी राजधानी के कुछ वीवीआईपी इलाकों में विवादित पोस्टर लगाए थे। वहीं हजरतगंज इंस्पेक्टर अंजनी पांडेय ने कहा है कि विवादित पोस्टर हटवा दिया गया है। लगाने वाले के खिलाफ केस दर्ज करने की कार्यवाही की जा रही है।

पोस्टर में किनारे ही एक कार्टून बनाया गया है जिसमें सफेद कोट पहने व्यक्ति मरीज का इलाज कर रहा है। ऑक्सीजन सिलेंडर के रूप में सीएम योगी की तस्वीर लगाई गई है। इसके ऊपर “कोविड महामारी की आड़ में धन की उगाही” स्लोगन लिखा है। यही नही फरसा लिए सीएम योगी के पीछे केशव मौर्य और जेपी नड्डा की तस्वीर भी बनाई गई है।

ब्राह्मण पॉलिटिक्स से प्रेरित है पोस्टर
दीवारों पर चिपका पोस्टर ब्राह्मण पॉलिटिक्स से प्रेरित है। पोस्टर में श्री परशुराम भगवान का चित्र बनाया गया है। सीएम योगी को ब्राह्मणों पर फरसा ताने दिखाया गया है। जबकि नीचे लिखा है “बन्द करो ब्राह्मणों पर अत्याचार, न भरष्टाचार, न अत्याचार, अबकी बार अखिलेश सरकार।

इससे पहले भी लगाए थे विवादित पोस्टर
16 जून 2020 को राजधानी लखनऊ में वीवीआईपी गेस्ट हाउस की दीवार पर विवादित पोस्टर लगाए गए थे। जिसमें 69 हजार सहायक शिक्षक भर्ती और पशुधन विभाग में टेंडर घोटाले को लेकर यह पोस्टर थे। इन 10 विवादित पोस्टरों में पोस्टर लगाने वाले का नाम नहीं था लेकिन इन विवादित पोस्टर में सीएम योगी आदित्यनाथ और कैबिनेट मंत्री सिद्धार्थ नाथ सिंह के साथ आरोपियों की फोटो को दिखाया गया था। कुछ ही देर के बाद पुलिस ने पोस्टर हटवा दिए थे।

Check Also

भारत-चीन के पचड़े में यूं ही नहीं कूदे पुतिन, इसके पीछे तो है बड़ी पुरानी प्लानिंग

मॉस्को :  भारत और चीन के बीच जारी विवाद में रूस की एंट्री से सियासी ...