Thursday , April 15 2021
Breaking News
Home / जरा हटके / राजस्थान में कोरोना की दूसरी लहर ज्यादा घातक,  8 दिन में आए रिकॉर्ड 17 हजार से ज्यादा मरीज

राजस्थान में कोरोना की दूसरी लहर ज्यादा घातक,  8 दिन में आए रिकॉर्ड 17 हजार से ज्यादा मरीज

राजस्थान में कोरोना की दूसरी लहर तेजी से बढ़ रही है। इसका असर दिखना शुरू हाे गया। प्रदेश में अप्रैल में रोज औसतन 2146 मरीज मिल रहे हैं। लहर कितनी घातक है इसका अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि अस्पतालों में भर्ती होने वाले 5% मरीज ऐसे हैं जो या तो पहले संक्रमित हो चुके हैं या जिन्हें वैक्सीन का पहला डोज लग चुका है।

कोरोना पर मॉनिटिरिंग और कंट्रोलिंग के लिए बनी स्टेट लेवल कमेटी में शामिल विशेषज्ञ डॉ. वीरेन्द्र सिंह कहते हैं कि लगभग 1000 में से 5 मरीज ऐसे हैं जो पहले संक्रमित हो चुके हैं। उन्होंने बताया कि वे जिस निजी अस्पताल में कोविड मरीजों का इलाज करते हैं वहां 47 मरीज भर्ती हैं, जिसमें से 13 मरीज ऐसे हैं, जो वैक्सीन लगवा चुके हैं। उन्होंने बताया कि पूरे राज्य से जो रिपोर्ट आ रही है उसके मुताबिक, 45 से ज्यादा उम्र के ही लोग कोरोना से संक्रमित होकर अस्पतालों में भर्ती हो रहे हैं। इससे कम उम्र वालों में बहुत ही कम लक्षण नजर आ रहे हैं।

वहीं जयपुर के सबसे बड़े डेडिकेटेड अस्पताल RUHS के अधीक्षक डॉ. अजीत सिंह ने बताया कि RUHS में 300 से ज्यादा मरीज भर्ती हैं, जिसमें कई ऐसे मरीज भी हैं जो कोरोना वैक्सीन का पहली डोज ले चुके हैं। इन मरीजों में किसी की भी स्थिति ज्यादा चिंताजनक नहीं है। ये लोग कम या मध्यम लक्षण वाले मरीज हैं।

8 दिन में आए 17 हजार से ज्यादा मरीज
राजस्थान में अप्रैल में कोरोना का मीटर तेजी से बढ़ा है। बीते 8 दिन के अंदर यहां 17,168 मरीज मिले हैं, जबकि 68 मरीजों की जान चली गई है। राज्य में इस माह 8 दिन में मिले मरीजों की संख्या पिछले साल अप्रैल, मई, जून और इस साल जनवरी, फरवरी और मार्च के पूरे महीने में मिले मरीजों की संख्या से ज्यादा है।

तारीख संक्रमित केस मौत
1 अप्रैल 1350 4
2 अप्रैल 1422 2
3 अप्रैल 1675 3
4 अप्रैल 1729 2
5 अप्रैल 2429 12
6 अप्रैल 2236 13
7 अप्रैल 2801 12
8 अप्रैल 3526 20

दूसरी लहर में छोटे शहरों में भी खतरा बढ़ा
कोरोना की दूसरी लहर में छोटे शहरों में खतरा ज्यादा बढ़ा है। इसमें बारां, डूंगरपुर, बांसवाड़ा, राजसमंद मुख्य रूप से शामिल हैं। इससे पहले पहली लहर में ये जयपुर, जोधपुर, कोटा, भीलवाड़ा, नागौर सहित कुछ अन्य बड़े शहर ज्यादा प्रभावित हुए थे। राज्य में गुरुवार को मिले 3526 नए संक्रमित केसों ने पहली लहर में 24 नवंबर 2020 में मिले 3314 केसों का रिकॉर्ड भी तोड़ दिया है। कल गुरुवार को सबसे ज्यादा जयपुर में 658 नए मरीज मिले थे। जयपुर के अलावा उदयपुर में 497, जोधपुर 372, कोटा 310, डूंगरपुर 215, अलवर 174, चित्तौड़गढ़ 125, सिरोही में 105, राजसमंद से 109 मरीज मिले हैं।

मिनी कंटेनमेंट जोन बनाने पर जोर, जयपुर में 5 स्थानों पर बने, दौसा में 8 बजे से बाजार बंद
राज्य में बढ़ते केसों को पाबंदी लगाने के लिए सरकार ने 10 शहरों में नाइट कर्फ्यू तो लगा ही रखा है, लेकिन अब पूरे राज्य में मिनी कंटेनमेंट जोन बनाने के भी निर्देश दिए हैं। जयपुर की बात करें तो बीते 2 दिन के अंदर यहां 5 स्थानों पर मिनी कंटेनमेंट जोन बनाए हैं। इसके तहत किसी घर या गली के अंदर 5 या उससे ज्यादा केस मिलते हैं। उस घर के आस-पास या गली को कंटेनमेंट जोन घोषित किया जा रहा है। वहीं, अलवर, भरतपुर की तर्ज पर अब दौसा कलेक्टर ने भी आदेश जारी करते हुए रात 8 से सुबह 6 बजे तक शहर के सभी बाजारों को बंद करवाने के निर्देश दिए हैं।

loading...
loading...

Check Also

पंचायत चुनाव : घर आ जा ‘परदेसी’, तेरा ‘प्रधान’ बुलाए रे, वोटरों को बुलाने के लिए सहूलियतों की लगी झड़ी

लखीमपुर-खीरी  : त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव में यदि कहीं पर सबसे अधिक जुनून या उत्साह दिखाई ...