Saturday , July 4 2020
Breaking News
Home / उत्तर प्रदेश / राजीव गांधी फाउंडेशन की चीनी फंडिंग पर बढ़ा बवाल, बीजेपी अध्यक्ष ने सोनिया गांधी से पूछे 10 सवाल

राजीव गांधी फाउंडेशन की चीनी फंडिंग पर बढ़ा बवाल, बीजेपी अध्यक्ष ने सोनिया गांधी से पूछे 10 सवाल

राजीव गांधी फाउंडेशन को लेकर बीजेपी ने शनिवार को कांग्रेस और सोनिया गांधी पर एक बड़ा हमला किया। बीजेपी ने सवाल किया कि 130 करोड़ देशवासी जानना चाहते हैं कि कांग्रेस ने सत्ता में रहते हुए क्या-क्या काम किया। कांग्रेस पर तीखा प्रहार करते हुए बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा ने कहा कि कांग्रेस बताए कि चीन की तरफ से राजीव गांधी फाउंडेशन को पैसा क्यों दिया गया। गांधी परिवार द्वारा किए कर्मों के बारे में 130 करोड़ देशवासी जानना चाहता है कि कांग्रेस ने सत्ता में रहते हुए क्या-क्या काम किया और किस तरह से आपने देश के विश्वस के साथ विश्वासघात किया है।

बीजेपी अध्यक्ष ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर सोनिया गांधी से 10 सवाल पूछे। बीजेपी अध्यक्ष ने कहा कि कुछ दिन पहले ट्वीट करके राजीव गांधी फाउंडेशन पर प्रश्न उठाए थे, आज पी चिदंबरम कहते हैं कि फाउंडेशन पैसे लौटा देगा। देश के पूर्व वित्त मंत्री जो खुद बेल पर हों, उसके द्वारा ये स्वीकारना होगा कि देश के अहित में फाउंडेशन ने नियम की अवहेलना करते हुए फंड लिया।

जेपी नड्डा ने कहा कि मैं कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया जी को ये कहना चाहता हूं कि कोरोना के कारण या चीन की स्थिति के कारण मूल प्रश्नों से बचने का प्रयास न करें। भारत की फौज देश की और हमारी सीमाओं की रक्षा करने में सक्षम है और प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी के नेतृत्व में देश सुरक्षित है।

बीजेपी अध्यक्ष ने सवाल किया कि RCEP का हिस्सा बनने की क्या जरूरत थी? चीन के साथ भारत का व्यापार घाटा 1.1 बिलियन अमरीकी डॉलर से बढ़कर 36.2 बिलियन अमरीकी डॉलर कैसे हो गया?

कांग्रेस और कम्युनिस्ट पार्टी ऑफ चाइना के बीच सटीक संबंध क्या है? दोनों के बीच टैक्टिक अंडरस्टैंडिंग क्या है? हस्ताक्षरित और अहस्ताक्षरित एमओयू क्या है? देश जानना चाहता है।

उन्होंने पूछा कि पीएम नेशनल रिलीफ फंड जो लोगों की सेवा और उनको राहत पहुंचाने के लिए है, उससे 2005-08 तक राजीव गांधी फाउंडेशन को पैसा क्यों गया? हमारे देश की जनता इसका जवाब जानना चाहती है।

यूपीए शासन में कई केंद्रीय मंत्रालयों, सेल, गेल, एसबीआई, अन्य पर राजीव गांधी फाउंडेशन को पैसा देने के लिए दबाव बनाया गया। देश की जनता इसका कारण जानना चाहती है।

मेरा कांग्रेस से सवाल है कि मेहुल चौकसी से राजीव गांधी फाउंडेशन में पैसा क्यों लिया गया? मेहुल चौकसी को लोन देने में मदद क्यों की गई?

कांग्रेस और सोनिया गांधी पर निशाना साधते हुए कहा कि पीएम नेशनल रिलीफ फंड का ऑडिटर कौन है? ठाकुर वैद्यनाथन एंड अय्यर कंपनी ऑडिटर थी। रामेश्वर ठाकुर इसके फाउंडर थे। वो राज्य सभा के सांसद थे और 4 राज्यों के राज्यपाल रहे। कई दशकों तक उसके ऑडिटर रहे। देश जानना चाहता है कि ऐसे लोगों ऑडिटर बनाकर क्या सरकार करना चाह रही थी। पीएम नेशनल रिलीफ फंड में एक ट्रस्टी कांग्रेस पार्टी का अध्यक्ष भी है।

Check Also

कोरोना BREAKING : इंदौर में हुआ मौत छुपाने का खेल, अब बताया सच ताकि कम लगे डेथ रेट !

इंदौर. कोरोना से हो रही मौतों के मामले में स्वास्थ्य विभाग के आंकड़ों में बड़े हेरफेर ...