Thursday , October 22 2020
Breaking News
Home / क्राइम / ‘सुशांत-रिया की 13 जून की मुलाकात’ पर करणी सेना की मुहर, अपने चश्मदीद का किया खुलासा

‘सुशांत-रिया की 13 जून की मुलाकात’ पर करणी सेना की मुहर, अपने चश्मदीद का किया खुलासा

बीजेपी नेता के बाद अब करणी सेना के नेता सुरजीत सिंह राठौर ने भी दावा किया है कि ‘रिया चक्रवर्ती सुशांत सिंह राजपूत की मौत से एक दिन पहले उनके घर भी थी।’ बता दें कि राठौर 15 जून को मुंबई के कूपर अस्पताल में मौजूद थे।

न्यूज चैनल रिपब्लिक टीवी से बात करते हुए, सुरजीत ने दावा किया कि ‘उन्हें फिल्म निर्माता सूरज सिंह ने बताया था कि रिया 13 जून की रात को सुशांत के घर पर थी लेकिन वहां से चली गई थी।’ सूरज भी 15 जून को अस्पताल में मौजूद थे।

सुरजीत ने कहा- “जब मैं 15 जून को कूपर अस्पताल गया था, तो सूरज सिंह ने मुझे बताया था कि रिया चक्रवर्ती 13 जून की रात सुशांत के आवास पर थी और शायद किसी लड़ाई की वजह से तभी चली गई थी। सूरज सिंह सब कुछ को-ऑर्डिनेट कर रहे थे और उन्होंने रिया को बुलाया था और मुझे उनसे और संदीप से मिलवाया था … मैं उनमें से किसी को भी नहीं जानता।”

यह पूछे जाने पर कि उन्होंने अभी क्यों सार्वजनिक रूप से इसका खुलासा किया है और सुशांत की मौत के तीन महीने बाद भी जांच अधिकारियों से संपर्क क्यों नहीं किया, सुरजीत ने कहा कि ‘उन्हें CBI से संपर्क नहीं किया गया था।’ उन्होंने यह भी कहा कि ‘उन्होंने यह खुलासा पहले भी किया था लेकिन मीडिया ने इसे मिस कर दिया।’

सुरजीत ने घटनास्थल पर संदीप सिंह की उपस्थिति पर भी गौर किया और कहा कि उन्हें बताया गया था कि निर्माता सुशांत के ‘दोस्त’ हैं। इसके अलावा, सुरजीत ने कहा कि ‘वह निजी तौर पर सुशांत को नहीं जानते थे और अब महीनों से सूरज के संपर्क में नहीं हैं।’

इससे पहले अगस्त में, सुरजीत ने मीडिया  को बताया था कि जैसे ही रिया ने कूपर अस्पताल में सुशांत का चेहरा देखा तो उन्होंने ‘सॉरी बाबू’ कहा था। उन्होंने कहा कि ‘रिया के भाई और मां भी सुशांत के शव को देखना चाहते थे, लेकिन मुंबई पुलिस ने ऐसा नहीं करने दिया।’

बीजेपी नेता का बड़ा दावा

इससे पहले मुंबई बीजेपी के नेता विवेकानंद गुप्ता ने गुरुवार को सुशांत मामले में एक बड़ा सनसनीखेज खुलासा किया था जिससे मुख्य आरोपी रिया चक्रवर्ती के झूठ का पर्दाफ़ाश हो गया था। बीजेपी सचिव एडवोकेट ने दावा किया कि ‘रिया सुशांत से उनकी मौत के एक दिन पहले यानि 13 जून को मिली थी।’ विवेकानंद ने बताया कि ‘उन्हें ये जानकारी एक चश्मदीद गवाह ने दी है।’

उन्होंने कहा कि ‘13 जून की देर रात को एक पार्टी के बाद सुशांत रिया को छोड़ने उनके अपार्टमेंट में आए थे और ये सब एक चश्मदीद ने देख लिया जिसने उन्हें जानकारी दी।’ उन्होंने आगे कहा कि ‘मुंबई पुलिस दवाब में काम कर रही है जिसके कारण दो-तीन दिन की जांच को 55 दिन खींच दिया गया।’ उन्होंने कहा कि ‘ये हत्या का मामला है जिसे बिना जांच के ही पुलिस ने आत्महत्या करार दिया था।’

उन्होंने कहा कि ‘सुशांत की बॉडी को किसी ने लटकते हुए नहीं देखा जिससे सभी शक के घेरे में आ जाते हैं।’ बता दें कि एक्टर के फ्लैटमेट सिद्धार्थ पिठानी ने दावा किया था कि ‘उन्होंने ही सुशांत की बॉडी नीचे उतारी थी’, इसपर विवेकानंद ने कहा कि ‘उन्हें ऐसा नहीं करना चाहिए था।’ बीजेपी सचिव ने कहा कि ‘बॉडी देखकर सबसे पहले पुलिस को बुलाना चाहिए था या तस्वीरें लेनी चाहिए थी।’ उन्होंने कहा कि ‘हो सकता है कि सुशांत की बॉडी को मर्डर करने के बाद लटकाया गया होगा।’

उन्होंने आगे कहा कि ‘वह CBI के संपर्क में हैं और सुप्रीम कोर्ट के आदेश के अनुसार सबकुछ एजेंसी को बताएंगे।’ बता दें कि रिया ने दावा किया था कि ‘उनकी 8 जून के बाद सुशांत से कोई बात नहीं हुई थी और वह उनका घर छोड़कर चली गई थी।’ उन्होंने कहा कि ‘सुशांत ने ही उन्हें घर से जाने के लिए कहा था क्योंकि उनकी बहन उनके साथ रहने के लिए आ रही थी।’ हालांकि, विवेकानंद के दावे के बाद, पूरा केस पलट सकता है।

खबर साभार- रिपब्लिक भारत

loading...
loading...

Check Also

साइकिलिंग करती युवती से पता पूछा कार सवार, बातों-बातों में दिखा दिया प्राइवेट पार्ट

नई दिल्ली द्वारका में सुबह साइकलिंग कर रही एक युवती को कार सवार युवक ने ...