Saturday , September 19 2020
Breaking News
Home / क्राइम / लखीमपुर में हैवानियत: बलात्कार-हत्या पर सियासी उबाल, दरिंदगी पर पुलिस ने बताया सबकुछ

लखीमपुर में हैवानियत: बलात्कार-हत्या पर सियासी उबाल, दरिंदगी पर पुलिस ने बताया सबकुछ

 

लखीमपुर खीरी :  उत्तर प्रदेश के लखीमपुर खीरी में मासूम बच्ची के साथ रेप की घटना ने सबको हिलाकर रख दिया है। मामले में दो आरोपियों को गिरफ्तार कर रासुका लगाई गई है। पुलिस ने पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट का हवाला देते हुए रेप के बाद आंखें निकालने और जीभ काटने की बात से इनकार किया है। वहीं अब इस मामले में विपक्ष भी हमलावर हो गया है। मायावती के बाद अब अखिलेश यादव और कांग्रेस नेता जितिन प्रसाद ने भी कानून व्यवस्था पर सवाल उठाए हैं।

लखीमपुर खीरी के एसपी सत्‍येंद्र कुमार ने आंख निकालने और जीभ काटने की बात से इनकार करते हुए बताया, ‘पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट और पंचनामा दोनों के आधार पर यह जो कहा जा रहा है कि उसकी आंखें फूटी हैं या उसकी जीभ काटी गई, यह पूरी तरह से असत्य है। पोस्टमॉर्टम या पंचनामा किसी में भी इसकी पुष्टि नहीं हुई है।’

आंख निकालने और जीभ काटने की बात पर यह बोले एसपी
एसपी ने आगे कहा, ‘मौके पर जो डेडबॉडी मिली थी उसमें आंख के पास हल्का सा ब्लड लगा हुआ था। चूंकि वह गन्ने का खेत था और गन्ने के खेत में जब भी कोई भी व्यक्ति जाता है,गन्ने के पेड़ की नुकीली पत्तियों से आंख के पास हल्का रगड़ लग जाता है जिससे ब्लड आ जाता है।’ एसपी ने आगे कहा, ‘जब भी गला दबाया जाता है तो दांतों के बीच जीभ अक्सर दब जाती है, ऐसा ही इस मामले में भी हुआ है। जीभ काटने की बात पूर्णतया निराधार है।

आरोपी का पीड़िता के परिवार से था विवाद
एसएचओ ईसानगर ने बताया, ‘आरोपी संजय का उसके खेत में खुले में शौच को लेकर लड़की के परिवार से विवाद हो चुका है। लड़की का शव आरोपी के गन्ने के खेत में मिला और परिवार ने शिकायत में उसका नाम दर्ज कराया। पूछताछ के दौरान संजय ने स्वीकार किया कि उसने अपने साथी संतोष के साथ मिलकर लड़की को मारा। लड़की की आंखें नहीं निकाली गई थीं। जो आंख के पास निशान दिख रहा है कि वह गन्ने की नुकीली पत्तियों की वजह से है।’

जितिन प्रसाद ने उठाए सवाल- पुलिस क्या करती रही
बच्ची के साथ रेप के मामले में विपक्ष हमलावर हो गया है। कांग्रेस नेता जितिन प्रसाद ने ट्वीट किया, ‘पुलिस क्या करती रही जो इतनी बड़ी घटना घटित हो गई? इसके लिए जिम्मेवार लोगों पर भी कार्रवाई होनी चाहिए और परिवार की भी सुरक्षा का ध्यान रखा जाना चाहिए ताकि अब उन्हें कोई भयभीत न कर सके।’

अखिलेश-माया का योगी सरकार पर हमला
वहीं अखिलेश ने भी योगी सरकार पर सवाल करते हुए ट्वीट किया, ‘यूपी के लखीमपुर खीरी में एक बेबस किशोरी से दुष्कर्म के बाद निर्मम हत्या इंसानियत को झकझोर देने वाली घटना है। भाजपाकाल में यूपी की बच्चियों व नारियों का उत्पीड़न चरम पर है। बलात्कार, अपहरण, अपराध व हत्याओं के मामले में भाजपा सरकार प्रश्रयकारी क्यों बन रही है?’ इससे पहले मायावती ने मामले में ट्वीट करते हुए कहा था कि समाजवादी पार्टी और बीजेपी में कोई अंतर नहीं रह गया है।

क्या है मामला?
घटना लखीमपुर के ईसानगर थाना क्षेत्र के पकरिया गांव की है। यहां एक 13 वर्षीय बच्ची का शव खेत में पड़ा मिला था। शव मिलते ही इलाके में हड़कंप मच गया। सूचना पर पहुंची पुलिस ने शव को पोस्टमॉर्टम के लिए भेजा और आरोपियों की तलाश शुरू कर दी थी। मेडिकल जांच में बच्ची से रेप और गला दबाकर हत्या करने की पुष्टि हुई है।

इस बारे में लखीमपुर खीरी के एसपी सत्‍येंद्र कुमार ने बताया, ‘ईसानगर थानाक्षेत्र के पकरिया गांव में बच्ची से रेप और हत्या की घटना सामने आई है। पुलिस ने घटना के दोनों आरोपियों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है। बच्ची का पोस्टमॉर्टम कराया गया है। उसकी गला घोंटकर हत्या हुई है।’

Check Also

शादी से पहले ऐसी मांग किया दूल्हा, भरी महफिल में दुल्हन हो गई शर्मिंदा

शादी हर लड़की का सपना होता है, हर लड़की उस सपने के साथ अपनी जिंदगी ...