Thursday , July 16 2020
Breaking News
Home / उत्तर प्रदेश / लॉकडाउन : आधा देश तो होने जा रहा बंद, पूरे को ताला लगाने का ऐलान करेगा केंद्र ?

लॉकडाउन : आधा देश तो होने जा रहा बंद, पूरे को ताला लगाने का ऐलान करेगा केंद्र ?

नई दिल्ली. कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए लगातार अलग-अलग राज्य लॉकडाउन बढ़ा रहे हैं। पश्चिम बंगाल, झारखंड और असम के बाद अब मणिपुर में भी 15 जुलाई तक लॉकडाउन बढ़ा दिया गया है। मुख्यमंत्री एन बीरेन सिंह ने रविवार को इसी घोषणा की। स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक अभी तक 1092 लोग संक्रमित पाए गए हैं। यहां 660 एक्टिव केस हैं और 432 लोग ठीक हो चुके हैं।

उधर, महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने कहा कि राज्य में संक्रमण बढ़ता जा रहा है। ऐसे में लॉकडाउन के प्रतिबंधों को हटाने का कोई सवाल ही नहीं बनता है। 30 जून के बाद भी प्रतिबंध लगे रहेंगे। तेलंगाना के मुख्यमंत्री केसीआर ने कहा है कि वह दो-तीन दिन में राज्य में संक्रमण के बढ़ते मामलों की समीक्षा करेंगे। इसके बाद राज्य में लॉकडाउन फिर से लगाना है या नहीं, इस पर फैसला लेंगे।

जनता सहयोग करे ताकि लॉकडाउन न लगाना पड़े

जनता को संबोधित करते हुए उद्धव ठाकरे ने ट्वीट किया, ”आप लोग सरकार का सहयोग करें ताकि फिर से लॉकडाउन न लगाना पड़े।”  उद्धव ने लिखा, ”अगर मैं लॉकडाउन नहीं लगा रहा हूं तो इसका मतलब ये नहीं है कि आप लोग लापरवाही बरतें। बल्कि इस समय हम सभी को अधिक अनुशासन में रहना होगा। अपने वरिष्ठ नागरिकों और बच्चों का ख्याल रखना होगा। घर से तभी निकलें, जब बहुत जरूरी हो। युवाओं को भी सावधानी बरतने की जरूरत है।”

उधर, मुंबई पुलिस ने भी स्थानीय लोगों से अनुरोध किया है कि वह अपने घर से दो किलोमीटर के दायरे में ही निकलें। जरूरी सामान लेना हो, सलून जाना हो दो किलोमीटर के अंदर ही रहें। हालांकि, नौकरीपेशा वाले लोगों को इसमें छूट दी जाएगी।

हालात की समीक्षा के बाद लॉकडाउन पर लेंगे फैसलाः केसीआर
तेलंगाना के मुख्यमंत्री के. चंद्रशेखर राव ने राज्य में तेजी से बढ़ते संक्रमण के मामलों पर चिंता जताई। उन्होंने कहा कि अगले दो से तीन दिनों से राज्य में संक्रमण के प्रसार को लेकर समीक्षा करेंगे। हमारी एक टीम इसकी मॉनिटरिंग करेगी। इसके बाद फिर से लॉकडाउन राज्य में लगाया जाएगा या नहीं इस पर फैसला लेंगे।

कर्नाटक में प्राइवेट अस्पतालों को नोटिस जारी
कर्नाटक सरकार ने राज्य के सभी प्राइवेट अस्पताल को नोटिस जारी किया है। इसमें कहा गया है कि अस्पताल किसी भी संक्रमित मरीज का इलाज करने से इनकार नहीं कर सकते हैं। अगर ऐसा करते हुए कोई पकड़ा जाता है तो उसके खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जाएगी।

कुलमिलाकर धीरे-धीरे आधा देश लॉकडाउन की तरफ बढ़ गया है, ऐसे में अगर केंद्र सरकार एक बार फिर लॉकडाउन लगाने का ऐलान कर दे तो ज्यादा हैरानी नहीं होगी।

Check Also

कोरोना: हॉस्पिटल ने मरीज़ का माफ किया ₹1.52 करोड़ का बिल, वजह भी जान लीजिये

कोरोना वायरस की वजह से बहुत से लोग अस्पतालों में भर्ती हैं। सरकारी अस्पताल में ...