Wednesday , November 25 2020
Breaking News
Home / क्राइम / लद्दाख में लड़ने आ रहीं चीनी ‘बार्बी डॉल’, सनस्क्रीन और लिप बाम लगाकर भारत से लड़ेगी PLA !

लद्दाख में लड़ने आ रहीं चीनी ‘बार्बी डॉल’, सनस्क्रीन और लिप बाम लगाकर भारत से लड़ेगी PLA !

पेइचिंग
लद्दाख में तनाव के बीच चीनी सेना अपने जवानों को सुंदर दिखाने की तैयारी कर रही है। चीन की सराकरी मीडिया ग्लोबल टाइम्स ने हाल में ही एक वीडियो जारी किया है जिसमें चीनी पीएलए के जवान लिप बाम और सनस्क्रीन लगाते हुए दिखाई दे रहे हैं। इस दौरान चीनी सैनिक तिब्बत की ऊंचाई वाले माहौल में अपने स्किन को लेकर बाते करते सुनाई दे रहे हैं।

ग्लोबल टाइम्स ने जारी किया वीडियो
ग्लोबल टाइम्स ने वीडियो जारी कर लिखा कि पीएलए के फ्रंटियर गार्ड स्किनकेयर पर जानकारी दे रहे हैं। गश्त पर जाने से पहले सैनिक जब सनस्क्रीन और लिप बाम लगाते हैं, तब उनका गंभीर दिखने वाला चेहरा क्यूट बन जाता है। ये सैनिक क्रीम के उपयोग को लेकर कुछ अच्छे सुझाव भी दे सकते हैं।

मनौवैज्ञानिक दबाव बनाना चाहता है चीन
चीन का दुष्‍प्रचार तंत्र भारत पर मनोवैज्ञानिक दबाव बनाने और अपनी जनता को खुश करने के लिए अक्‍सर इस तरह के वीडियो और फोटो जारी करता रहता है। इससे पहले भी चीन का दांव उल्‍टा पड़ चुका है और उसकी थू-थू हो चुकी है। चीन यह दिखाना चाहता है कि वह अपने सैनिकों का कितना ध्यान रखता है। जबकि, वास्तविकता यह है कि कम्युनिस्ट चीन में किसी को भी विरोध करने की आजादी नहीं है।

गुब्‍बारे को रॉकेट लॉन्‍चर की शक्‍ल दिया
दरअसल, चीन की सेना पीएलए ने जिस गुब्‍बारे को रॉकेट लॉन्‍चर की शक्‍ल दिया था, वह एक जगह से प‍िचका हुआ था। चीन के दुष्‍प्रचार तंत्र को जब यह अहसास हुआ तो उन्‍होंने इस फोटो को हटा लिया। अब सोशल मीडिया में चीन की जमकर किरकिरी हो रही है। दरअसल, युद्ध में अपने शत्रु देश को धोखा देने के लिए दुनिया के कई देश नकली हथियार तैनात करते हैं।

खच्चरों से साजो सामान पहुंचा रही चीनी सेना
ग्लोबल टाइम्स ने रिपोर्ट में लिखा है कि चीनी सेना की तिब्बती मिलिशिया परिवहन इकाइयां सीमा पर अधिक ऊंचाईयों पर स्थित कठिन वातावरण में आपूर्ति करने के लिए एक व्यावहारिक दृष्टिकोण के रूप में खच्चरों और घोड़ों का भी उपयोग कर रही है। दक्षिण पश्चिम चीन के तिब्बत स्वायत्त क्षेत्र के नगरी प्रान्त के रुतोग काउंटी में तिब्बती मिलिशिया सैनिक की सप्लाई यूनिट चीनी पीपुल्स लिबरेशन आर्मी (पीएलए) के सैनिकों को साजो सामान पहुंचा रही है।

प्रोपगेंडा फैलाने में जुटी चीनी मीडिया
प्रोपगेंडा फैलाते हुए चीनी मीडिया सीसीटीवी ने एक कथित तिब्बती मिलिशिया के सैनिक का बयान जारी किया। जिसमें वह चीनी सेना को अपना समर्थन देने की बात कहता सुनाई दे रहा है। हालांकि, इसकी पुष्टि नहीं हो पाई है कि वह तिब्बती मिलिशिया का ही सैनिक था या कोई और। आए दिन चीन की सरकार समर्थित मीडिया झूठे और मॉर्फ्ड वीडियो जारी कर प्रोपगेंडा फैलाने की कोशिश करती रहती हैं।

loading...
loading...

Check Also

बच्चों के नाम पर जरूर खोलें ₹150 से ये सरकारी खाता, पढ़ाई के लिए 19 लाख रुपए मिलेंगे

बच्चों की पढ़ाई अच्छे से हो और भविष्य में वो एक काबिल इंसान बन सके ...