Wednesday , April 21 2021
Breaking News
Home / ऑफबीट / वायुसेना की बढ़ी और ताकत, फ्रांस से भारत आए 3 और लड़ाकू राफेल विमान-देखे VIDEO

वायुसेना की बढ़ी और ताकत, फ्रांस से भारत आए 3 और लड़ाकू राफेल विमान-देखे VIDEO

 

नई दिल्ली
फ्रांस से राफेल लड़ाकू विमानों की चौथी खेप भारत पहुंच चुकी है। बुधवार को तीन राफेल लड़ाकू विमान भारत की धरती पर उतरे। अगले महीने अभी 7 और राफेल विमान भारत आ सकते हैं। राफेल लड़ाकू विमानों की चौथी खेप के तहत आने वाले इन विमानों ने फ्रांस के इस्तरेस एयर बेस से भारत के लिए नॉन-स्टॉप उड़ान भरी। बीच में यूएई एयरफोर्स ने बीच हवा में इन विमानों में ईंधन भरा। इसके साथ ही भारत के पास अब 14 राफेल लड़ाकू विमान हो चुके हैं।

यूएई एयरफोर्स के टैंकर ने बीच हवा में राफेल में भरा ईंधन
इंडियन एयरफोर्स ने ट्वीट कर 3 और राफेल विमानों के भारत उतरने की जानकारी दी। एयरफोर्स ने ट्वीट किया, ‘फ्रांस के इस्तरेस एयरबेस से डायरेक्ट फ्लाइट के जरिए 3 राफेल की चौथी खेप भारतीय जमीन पर उतर चुकी है।’ एक अन्य ट्वीट में वायु सेना ने लिखा, ‘यूएई एयरफोर्स के टैंकरों ने फ्लाइट के दौरान राफेल में ईंधन भरा। यह दोनों देशों की वायु सेनाओं के बीच मजबूत होते रिश्तों की कड़ी में एक और मील का पत्थर है। शुक्रिया यूएई एयरफोर्स।’ वायुसेना ने इसके साथ राफेल की लैंडिंग का एक वीडियो क्लिप भी शेयर किया है।

2015 में फ्रांस के साथ 36 राफेल लड़ाकू विमानों का हुआ था सौदा
राफेल विमानों का पहला स्क्वॉड्रन अंबाला वायुसेना स्टेशन पर तैनात है। विमानों की पहली खेप पिछले साल 29 जुलाई को फ्रांस से भारत आई थी। भारत ने 59 हजार करोड़ रुपये में 36 लड़ाकू विमान खरीदने के लिए साल 2015 में फ्रांस सरकार के साथ करार पर दस्तखत किए थे।

पिछले साल सितंबर में वायु सेना में शामिल हुआ था राफेल
पिछले साल 10 सितंबर को अंबाला में हुए एक कार्यक्रम में राफेल लड़ाकू विमानों को औपचारिक रूप से वायुसेना के बेड़े में शामिल कर लिया गया था। तीन विमानों की दूसरी खेप तीन नवंबर को भारत आई थी जबकि तीन और विमानों की तीसरी खेप 27 जनवरी को यहां पहुंची थी।

भारत-चीन-भूटान के त्रिकोण पर स्थित हाशिमारा में होगा राफेल का दूसरा स्क्वॉड्रन
अंबाला के बाद अब पश्चिम बंगाल के हाशिमारा में राफेल का दूसरा स्क्वॉड्रन बनाया जा रहा है। राफेल विमान के दूसरे स्क्वॉड्रन को हाशिमारा में मुख्य संचालन अड्डे पर मुस्तैद किया जाएगा। भारत को अगले कुछ महीनों में फ्रांस से और विमान मिलने की उम्मीद हैं। एक स्क्वॉड्रन में लगभग 18 विमान होते हैं।

2023 तक भारत को मिल जाएंगे सभी 36 राफेल
पांच राफेल विमानों का पहला बेड़ा 29 जुलाई को भारत पहुंचा था। इससे करीब चार साल पहले भारत ने फ्रांस के साथ 59,000 करोड़ रुपये की लागत से, ऐसे 36 विमान खरीदने के लिए करार किया था। राफेल विमानों के पहले बैच को 10 सितंबर को वायु सेना में शामिल किया गया था। वायु सेना प्रमुख आर के एस भदौरिया ने पांच अक्टूबर को कहा था कि 2023 तक सभी 36 राफेल विमान वायु सेना में शामिल कर लिये जाएंगे। इससे पहले तक भारत को 11 राफेल लड़ाकू विमानों की आपूर्ति हो चुकी थी जो पहले से ही अंबाला की 17वीं गोल्डन एरो स्क्वॉड्रन का हिस्सा हैं। अब भारत के पास कुल 14 राफेल लड़ाकू विमान हो चुके हैं।

loading...
loading...

Check Also

गोरखपुर में कोरोना ने मचाया हाहाकार, एक दिन में मिले रिकॉर्ड केस, डॉक्टर्स की लिस्ट जारी

गगहा में 31 लोग मिले कोरोना पाजिटिव गोरखपुर। मंगलवार को गगहा एरिया में विभिन्न गांवों ...