Saturday , January 16 2021
Breaking News
Home / उत्तर प्रदेश / वाराणसी : संतों ने मुस्लिमों से मांगी ज्ञानवापी मस्जिद, कहा- जो हिंदुओं का है वो दे दो नहीं तो..

वाराणसी : संतों ने मुस्लिमों से मांगी ज्ञानवापी मस्जिद, कहा- जो हिंदुओं का है वो दे दो नहीं तो..

वाराणसी. अखिल भारतीय संत समिति की राष्ट्रीय कार्यकारिणी में शामिल होने वाराणसी पहुंचे संतों ने मुस्लिम समाज से हिंदुओं की सारी संपत्ति वापस करने की अपील की है। कहा कि जो हिंदुओं का है उसे दे दो नहीं तो जिस तरह से अयोध्या लिया है, वैसे ही बाकी भी ले लेंगे। संतों ने कहा कि अगर मुस्लिम समाज हमारी बात नहीं मानेगा तो आंदोलन होगा। 02 जनवरी से वाराणसी में आयोजित हुई अखिल भारतीय संत समिति की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की दो दिवसीय बैठक में देश भर के साधु-संत शामिल हुए। बैठक में काशी विश्‍वनाथ, ज्ञानवापी विवाद सहित लव-जिहाद और अन्‍य धार्मिक मसलों पर मंथन के साथ ही राम मंदिर निर्माण पर भी चर्चा की गई।

बैठक के अंतिम दिन रविवार की सुबह संतों ने काशी विश्वनाथ मंदिर में दर्शन पूजन किया और कॉरिडोर के निर्माण कार्य को भी देखा। गंगा का दर्शन-पूजन किया। इस दौरान मीडियाकर्मियों से बात करते हुए सन्तों ने मुस्लिम समाज से अपील करते हुए हिंदुओं की संपत्ति लौटाने की अपील की। ऐसा नहीं करने पर आंदोलन की चेतावनी भी दी।

राम मंदिर के लिए धन-संग्रह अभियान
अखिल भारतीय संत समिति की बैठक में पारित प्रस्ताव में कहा गया कि संतों की यह सभा विश्व हिन्दू परिषद को यह आदेश देती है कि विश्व के सभी हिन्दू धर्मावलम्बी तथा रामभक्तों से सम्पर्क कर मंदिर निर्माण हेतु धनसंग्रह के पुनीत कार्य में लगें। इसमें देश के सभी संत भी जुटेंगे। प्रस्ताव में कहा गया कि बैठक आह्वान करती है कि देश की संत शक्ति सभी जातीय भेदभाव मिटाकर समरस समाज बनाने के अपने कार्य को तीव्रगति दें, ताकि परिवार परम्परा को पुनः स्नेह और धर्मपालन से मजबूत किया जा सके। इससे अपनी बहन-बेटियों को किसी के बनावटी प्रेमजाल में पड़ने से भी बचाया जा सकेगा। धर्म परिवर्तन कर चुके लोगों से हिंदू धर्म में वापसी भी अपील की गई।

सरकार की तारीफ
अखिल भारतीय संत समिति की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में कहा गया कि बीते कुछ वर्षों में भारत की केंद्रीय सत्ता में राष्ट्रीय हितों एवं भारतीय संस्कृति के प्रति सकारात्मक चिंतन व कार्य से युक्त सरकार के आने के बाद अनेक क्षेत्रों में महत्त्वपूर्ण कार्य हुए हैं। इनमें श्रीराम जन्मभूमि पर भव्य मंदिर निर्माण के मार्ग को प्रशस्त करने के साथ ही श्री काशी विश्वनाथ धाम कॉरिडोर समेत देश के सभी प्रतिष्ठित तीर्थस्थलों के विकास की योजना को मूर्त रूप देना आदि शामिल हैं।

loading...
loading...

Check Also

ट्रम्प की विदाई से पहले एक बार मिलना चाहती हैं पामेला एंडरसन, बोलीं- असांजे को माफी दे जाएं

अभिनेत्री और मॉडल पामेला एंडरसन अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प के साथ मुलाकात चाहती हैं, ताकि ...