Friday , January 22 2021
Breaking News
Home / धर्म / शव यात्रा दिखने पर खामोशी से करें ये काम, पूरी होगी हर मनोकामना, बन जाएंगे धनवान

शव यात्रा दिखने पर खामोशी से करें ये काम, पूरी होगी हर मनोकामना, बन जाएंगे धनवान

मृत्यु को प्रकृति का अटल सत्य बताया गया है. इस धरती पर जन्में हर एक व्यक्ति या जानवर को एक न एक दिन मरना ही होता है. गरुड़ पुराण में कहा गया है कि जब किसी व्यक्ति की मृत्यु पास आती है तब यमराज उन्हें कुछ संकेत देते हैं. यमराज के दो दूत मरने वाले लोगों के पास आते हैं और केवल पापी मनुष्यों को ही यम के दूतों से भय लगता है. अच्छे कर्म करने वाले व्यक्ति को मरने के समय अपने सामने दिव्य प्रकाश दिखता है और उन्हें मृत्यु से भय नहीं लगता. गरुड़ पुराण में कहा गया है कि जो मनुष्य मृत्यु को प्राप्त होने वाला होता है वह बोल नहीं पाता. अंत समय में व्यक्ति की आवाज बंद हो जाती है और उसकी आवाज घरघराने लगती है. ऐसा प्रतीत होता है मानो कोई उसका गला दबा रहा हो.

अंतिम समय में उसे ईश्वर की तरफ से दिव्य दृष्टि प्रदान होती है और वह सारे संसार को एकरूप समझने लगता है. आंखों से उसे कुछ नजर नहीं आता. वह अंधा हो जाता है और उसे अपने आस-पास बैठे लोग भी नजर नहीं आते. उसकी समस्त इंद्रियों का नाश हो जाता है. वह जड़ अवस्था में आ जाता है यानी हिलने-डुलने में असमर्थ हो जाता है. इसके बाद उसके मुंह से झाग निकलने लगता है और लार टपकने लगती है. पापी पुरुष के प्राण नीचे के मार्ग से निकलते हैं.

शव यात्रा दिखने पर करें ये काम

मरने के बाद व्यक्ति की शव यात्रा निकाली जाती है. शव यात्रा में व्यक्ति की लाश को 4 लोग मिलकर कंधा देते हैं और उसे शमशान घाट तक पहुंचाते हैं, जहां पर उसका दाह-संस्कार किया जाता है. आप आये दिन किसी न किसी की शव यात्रा देखते होंगे. शव यात्रा दिखने पर बहुत सारे लोग हाथ जोड़ लेते हैं और मरने वाले की आत्मा की शांति के लिए प्रार्थना करते हैं. शव यात्रा देखना वैसे तो अपने आप में ही बेहद दुखद होता है. लेकिन कहते हैं कि शव यात्रा दिखने पर यदि व्यक्ति एक काम कर ले तो उसके मन की सभी मुरादें पूरी हो जाती हैं.

अब आप सोच रहे होंगे कि आपको बहुत मुश्किल काम करना होगा. पर ऐसा कुछ भी नहीं है. हम जो आपको बता रहे हैं वह बहुत आसान सा काम है और उसे करने के लिए आपको कोई मेहनत नही करनी पड़ेगी. दरअसल, मान्यता है कि यदि व्यक्ति शव यात्रा निकलने के दौरान हाथ जोड़कर भगवान शिव का स्मरण कर ले तो भगवान उसकी सभी मनोकामना पूर्ण करते हैं. इसलिए आगे से जब भी आप किसी की शव यात्रा देखें तो हाथ जोड़कर भगवान शिव का स्मरण अवश्य करें और मरने वाले की आत्मा की शांति की कामना करें. ऐसा करने से आपके मन की मनोकामना भी पूरी हो जायेगी और मरने वाले की आत्मा को शांति मिलेगी. इतना ही नहीं, मनुष्य के बुरे समय में आने वाली सभी परेशानियां भी टल जाती हैं.

loading...
loading...

Check Also

आचार्य चाणक्य ने बताई हैं धोखेबाजों की ये 3 आसान पहचान, जरूर जानें

इस दुनिया में धोखेबाज लोगो की कोई कमी नहीं है. मगर अफ़सोस कि किसी भी ...