Sunday , September 27 2020
Breaking News
Home / खेल / शुक्रिया माही : 5 कारण जो धोनी को बनाते हैं दुनिया का सबसे महान क्रिकेटर

शुक्रिया माही : 5 कारण जो धोनी को बनाते हैं दुनिया का सबसे महान क्रिकेटर

भारतीय क्रिकेट में एक महायुग खत्म हो गया है. महेंद्र सिंह धोनी ने संन्यास का ऐलान कर दिया है. अपने अंतर्राष्ट्रीय करियर में धोनी ने क्रिकेट जगत में अपना एक अलग ही मुकाम बनाया, जिसमें वह आने वाले कई वर्षों तक सभी के लिए प्रेरणा का काम करने वाले हैं. जिस तरीके से बल्ले और विकेट के पीछे धोनी ने लगातार कमाल दिखाया है उसकी तारीफ हर समय होती रहेगी.

क्रिकेट के प्रति जूनून और कड़ी मेहनत ने उन्हें आज दुनिया का सबसे महान क्रिकेटर साबित किया हैं लेकिन ये सभी जानते हैं कि उनकी यहाँ तक पहुंचने की राह कितनी कठिन रही हैं. आज इस लेख में हम 5 ऐसे कारण जानेगे, जिनसे ये साबित होता हैं कि धोनी अपनी विकेटकीपिंग, बल्लेबाजी और कप्तानी के कारण विश्व के सबसे महान ऑलराउंडर हैं.

1) ICC की तीनों प्रतिष्ठित ट्रॉफी जीतने वाले दुनिया के अकेले कप्तान

बर्थडे स्पेशल- ये हैं वो पांच वजह, जिससे महेन्द्र सिंह धोनी बने विश्व क्रिकेट के महान क्रिकेटर 2

पूर्व भारतीय कप्तान एमएस धोनी ने बतौर कप्तान कई बड़े कारनामे किये हैं लेकिन आईसीसी द्वारा आयोजित की जाने वाले तीनों ट्रॉफी जीतने उनके करियर की सबसे बड़ी उपलब्धि रही हैं. धोनी ने 2007 में पहली बार कप्तानी की और पहले ही टूर्नामेंट में टी20 वर्ल्ड कप 2007 जीतकर इतिहास रचा.

2011 में एशिया में खेले गए वनडे वर्ल्ड कप में धोनी ने बतौर कप्तान 28 वर्ष बाद भारत को वर्ल्ड चैंपियन बनाया. जबकि 2013 में इंग्लैंड की सरजमी पर भारत ने आईसीसी चैंपियंस ट्रॉफी अपने नाम की थी.

2) वनडे में बतौर बल्लेबाज नंबर 5-6 पर अद्भुत प्रदर्शन

बर्थडे स्पेशल- ये हैं वो पांच वजह, जिससे महेन्द्र सिंह धोनी बने विश्व क्रिकेट के महान क्रिकेटर 3

एमएस धोनी सिर्फ बतौर कप्तान ही नहीं बल्कि एक बल्लेबाज के तौर पर भी कई कीर्तिमान किये हैं. धोनी को आज भी सिमित ओवर क्रिकेट का सबसे बड़ा फिनिशर माना जाता है.

एमएस धोनी वनडे में बतौर विकेटकीपर 10000 रन बनाने वाले दुनिया के दूसरे और भारत के पहले खिलाड़ी हैं. सबसे खास बात ये हैं कि धोनी ने अपने करियर में ज्यादा समय नंबर 5 और 6 पर बल्लेबाजी की थी. नंबर 5 या उससे नीचे बैटिंग करते हुए धोनी ने सिर्फ 212 पारियों में 7333 रन बनायें हैं जोकि उनकी महानता दर्शाता हैं.

3) धोनी की कप्तानी में पहली बार टेस्ट रैंकिंग में टॉप पर पहुंची टीम इंडिया

India's first ever No.1 Test team and where they are today

भारत ने 1933 में इंग्लैंड के विरुद्ध पहला टेस्ट खेला था, जिसके बाद से टीम इंडिया क्रिकेट जगत को कई महान बल्लेबाज और कप्तान दिए हैं लेकिन एमएस धोनी की कप्तानी में जो कारनामा भारतीय टीम ने किया, जो अन्य किसी खिलाड़ी की कप्तानी में कभी नहीं हो पाया.

2009 में भारत की टीम ने 77 वर्षों में पहली बार टेस्ट रैंकिंग में टॉप पर पहुँचाया. इस दौरान टीम के कप्तान और कोई नही बल्कि एमएस धोनी ही थे.

4) क्रिकेट के चाणक्य

Stats Review: Mahendra Singh Dhoni as a captain in international cricket | Sportzwiki

एमएस धोनी क्रिकेट इतिहास के सबसे बुद्धिमान खिलाड़ी माने जाते हैं, ऐसे में उन्हें क्रिकेट का चाणक्य कहना भी गलत नहीं होगा. धोनी ने क्रिकेट के प्रति अपनी समझ से  इतने वर्षों में क्रिकेट जगत में दबदबा कायम किया हैं. धोनी में खेल को परखने की अद्भुत समझ मौजूद है.

मैदान पर रणनीति बनानी हो या टीम के खिलाड़ियों से उनका सर्वोच्च प्रदर्शन निकलवाना हो, धोनी इन सब में हमेशा माहिर रहे हैं.

5) विकेट के पीछे चीते जैसी चाल

MS Dhoni reveals why he doesn't practice wicket-keeping in the nets

क्रिकेट के इतिहास में जब भी सबसे महान विकेटकीपर की बात होगी जब-जब एमएस धोनी को हमेशा याद किया जायेगा. धोनी ने अपने अन्तराष्ट्रीय करियर में बतौर विकेटकीपर जो किया हैं, जिसके करीब पहुंचना भी कई खिलाड़ियों के लिए सपने जैसा हैं.

विकेट के पीछे से टीम के गेंदबाजों को समझाना हो या बिजली की तेजी की तरह स्टंपिंग करना हो, धोनी की ये अद्भुत कला अब दोबारा दिखाना शायद फैन्स को कभी नसीब नहीं हो पाएगी.

Check Also

अच्छी खबर : इस वैक्सीन ने बढ़ाई दुनिया की उम्मीद, एक डोज में ही ठीक हो सकता है मरीज

कोरोनावायरस वैक्सीन की रेस में एक और नाम शामिल हो गया है। जॉनसन एंड जॉनसन ...