Thursday , October 29 2020
Breaking News
Home / धर्म / श्मशान से लौटकर आखिर क्‍यों किया जाता है स्‍नान, जानें इसके पीछे का गहरा राज

श्मशान से लौटकर आखिर क्‍यों किया जाता है स्‍नान, जानें इसके पीछे का गहरा राज

सनातन धर्म में भी कुछ ऐसे नियम है, जिन्हे मानना बहुत जरुरी है और ये नियम महत्वपूर्ण भी होते है। सनातन धर्म में ऐसा ही एक नियम अंतिम संस्कार करना है। वैसे क्या आप जानते है, कि सनातन धर्म में अंतिम संस्कार के बाद स्नान क्यों किया जाता है तो आज हम आपको इसका कारण बताते है। दरअसल धर्म शास्त्रों के अनुसार शव यात्रा में शामिल होने और अंतिम संस्कार के मौके पर मौजूद रहने से कुछ समय के लिए ही सही, पर इंसान को जिंदगी की सच्चाई का आभास हो जाता है।

अब आप सोच रहे होंगे कि जब श्मशान जाने के आध्यात्मिक लाभ है, तो अंतिम संस्कार के बाद नहाने की क्या जरूरत है? इसके पीछे धार्मिक और वैज्ञानिक कारण दोनों हैं, आइए जानते हैं उन कारणों के बारे में।

धार्मिक कारण के अनुसार श्मशान भूमि पर आये दिन यही कार्य होता है, जिससे वहां नकारात्मक शक्ति का वास हो जाता है। ऐसे में ये नकारात्मक ऊर्जा कमजोर मनोबल वाले इंसान के लिए नुकसानदायक भी हो सकती है। वही स्त्रिया पुरुषो से ज्यादा भावुक होती है। इसलिए उन्हें श्मशान भूमि पर जाने से रोका जाता है। साथ ही अंतिम संस्कार के बाद भी मृतआत्मा का सूक्ष्म शरीर कुछ समय के लिए वहां मौजूद रहता है और ऐसे में वह अपनी प्रकृति के अनुसार कोई हानिकारक प्रभाव भी डाल सकता है।

वहीं अगर वैज्ञानिक कारण की बात करें तो इसके अनुसार शव का अंतिम संस्कार करने से पहले ही वातावरण सूक्ष्म और सक्रामक कीटाणुओं से ग्रसित हो जाता है। इसके इलावा मरने वाला व्यक्ति भी किसी सक्रामक बीमारी से ग्रसित हो सकता है। ऐसे में वहां मौजूद लोगो में किसी सक्रामक रोग का असर होने की सम्भावना रहती है। वही स्नान करने के बाद ये सक्रामक कीटाणु आदि सब पानी के साथ ही बह जाते है। बस इन्ही कारणों से शव यात्रा के बाद स्नान करना जरूरी है।

loading...
loading...

Check Also

कढ़ाई में भोजन खाना क्यों किया जाता है मना, पीछे है बहुत बड़ी वजह

आपने अक्सर लोगों को कहते हुए सुना होगा कि यदि कुंवारे लोग कढ़ाई में खाना ...