Thursday , September 24 2020
Breaking News
Home / क्राइम / सच का सबूत: लाख छिपाने के बावजूद चीन की खुली पोल, सामने आई गलवान में मारे गए उसके सैनिक की कब्र

सच का सबूत: लाख छिपाने के बावजूद चीन की खुली पोल, सामने आई गलवान में मारे गए उसके सैनिक की कब्र

नई दिल्ली। पूर्वी लद्दाख की गलवान वैली (Ladakh Galwan Vellay) में भारत-चीन (India-China Rift) के सैनिकों के बीच हुए हिंसक संघर्ष में अपने मारे गए सैनिकों को लेकर चीन (China) ने अब तक कोई खुलासा नहीं किया है। वह लगातार इस बात को छिपाता रहा है कि इस संघर्ष में उसके कितने जवान शहीद हुए हैं। हालांकि चीन मानता है कि इस संघर्ष में उसका नुकसान हुआ है। मगर वह मारे गए सैनिकों की संख्या पर परदा डाल रहा है।

इसके बावजूद चीन की पोल खुलती नजर आ रही है। चीन के ही सोशल मीडिया पर गलवान में मारे गए चीनी सैनिकों की कब्रों की तस्वीरों को देखा जा सकता है। ये तस्वीरें वायरल हो रही हैं। चीन से बीते दिनों ऐसी भी खबरें भी सामने आईं हैं, जिसमें उसने अपने मारे गए सैनिकों के अंतिम संस्कार को भी छिपाने की कोशिश की हैै। उनके परिवारों को उसने चुप रहने की हिदायत दी है।

इसके अलावा सरकार ने उनसे इस तरह के समारोह न करने की हिदायत दी है। एक चीनी विशेषज्ञ का कहना है कि लाख छिपाने के बावजूद अब मारे गए चीनी सैनिकों की कब्रें सोशल मीडिया पर दिखाई दे रही हैं। गौरतलब है कि इस हिंसक संघर्ष में भारत के 20 जवान शहीद हो गए थे। वहीं अमरीकी मीडिया का कहना है कि इसमें चीन के 40 से अधिक सैनिक मरे थे।

चीन छिपा रहा था राज

चीन के लगातार कहने के बावजूद, ऐसे कई सबूत सामने आए हैं जब मारे गए और घायल सैनिकों को गलवान घाटी से एयरलिफ्ट सामने आते रहे, जिनमें मारे गए और घायल सैनिकों को गलवान से ले जाने के लिए हैलीकॉप्टर की तस्वीरें भी शामिल हैं। इस बात को छुपाने के लिए चीन ने अपने मारे गए सैनिकों का सम्मान के साथ अंतिम संस्कार भी नहीं किया, जिसे लेकर उन सैनिकों के परिजनों में नाराजगी दिखी। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक चीन में सैनिकों के परिजनों को सिर्फ अस्थि कलश दिए गए थे। इसके अलावा सार्वजानिक शोक सभा न करने और न दफनाने की भी हिदायत दी गई थी। चीनी सेना के इस दबाव के बाद कई जगह प्रदर्शन भी हुए।

क्या है ये वायरल तस्वीर

ट्विटर पर जारी तस्वीरों में मौजूद चीनी मामलों के विशेषज्ञ एम टेलर फ्रैवल का दावा किया है कि चीन की माइक्रोब्लॉगिंग साइट Weibo पर एक तस्वीर वायरल हो रही। ये एक चीन के सैनिक की कब्र है। ये गलवान में शहीद हो गया था। तस्वीर में मौजूद ये कब्र 19 साल के एक चीनी जवान की है। इसकी मौत ‘चीन-भारत सीमा रक्षा संघर्ष’ में जून 2020 में हो गई थी। इस में उसका पूरा परीक्षय भी दिया गया है। उसकी सैनिक यूनिट का नाम भी दिया गया है। टेलर के अनुसार वह 13वीं सीमा रक्षा रेजिमेंट का हिस्सा है।

भारतीय सीमा में घुस आए थे

बीती 15 जून को चीनी सैनिक भारतीय सीमा में घुस आए थे। इसके बाद उन्हें समझाने के लिए भारतीय सैनिक बातचीत के लिए गए थे। कुछ देर में चीनी सैनिकों ने कांटेदार लाठियों से हमला कर दिया। इस घटना में 20 भरतीय जवान शहीद हो गए थे। वहीं चीन ने ये स्वीकार ही नहीं किया कि उसके सैनिक भी शहीद हुए हैं।

Check Also

बड़ी कामयाबी : लेजर-गाइडेड ऐंटी टैंक मिसाइल दागेगा हमारा ‘अर्जुन’, कई किलोमीटर दूर उड़ेंगे दुश्मन के परखच्‍चे

नई दिल्‍ली चीन सीमा पर तनाव के बीच भारत रोज नए-नए हथियारों का टेस्‍ट कर ...