Sunday , February 28 2021
Breaking News
Home / अपराध / साड़ी और चूड़ियां पहनकर देवी काली की वेषभूषा में रहने वाले पुजारी की मंदिर परिसर में हत्या

साड़ी और चूड़ियां पहनकर देवी काली की वेषभूषा में रहने वाले पुजारी की मंदिर परिसर में हत्या

बदायूं। बदायूं जिले के ढकनगला गांव में स्थित एक मंदिर के परिसर में 75 वर्षीय पुजारी जय सिंह यादव की हत्या कर दी गई है। ‘सखी बाबा’ के नाम से मशहूर पुजारी जय सिंह यादव पिछले 45 वर्षों से मंदिर में सेवारत थे और साड़ी और चूड़ियां पहनकर ‘देवी काली’ की तरह वेशभूषा में रहते थे।

पुलिस ने बताया कि आरोपी रामवीर यादव फरार हो गया और उसकी गिरफ्तारी के लिए पुलिस की तीन टीमें तैनात की गई है। वह उसी इलाके का रहने वाला है। पुलिस ने कहा, “किस इरादे से हत्या की गई है यह अभी भी अस्पष्ट है।”

हालांकि ग्रामीणों का आरोप है कि मोहजुद्दीनगर के ही रामवीर को शक था कि सखी बाबा ने उसकी पत्नी पर कोई मंत्र पढ़ दिया था, जिससे उसकी पत्नी उससे अलग हो गई और उसके बड़े भाई के साथ रहने लगी। हत्या के वक्त सखी बाबा अपने आवास में चाय बना रहे थे। उसी दौरान आरोपी वहां पहुंच गया और उन पर चाकू से हमला बोल दिया। उनकी चीख-पुकार सुनकर ग्रामीण पहुंचे। तब तक आरोपी मौके से फरार हो गया।

पुलिस ने शनिवार 6 फरवरी को ही आरोपी के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कर ली। आरोपी की तलाश में तीन टीमें लगा दी गईं, लेकिन रविवार शाम तक आरोपी का कुछ पता नहीं चल पाया था।

दूसरी तरफ परिवार वाले सखी बाबा के शव को अपने गांव मानपुर ले गए। रविवार 7 फरवरी की दोपहर को उनका वहीं अंतिम संस्कार कर दिया गया। मोहजुद्दीनगर के लोगों ने कहा भी कि यहीं पर उनका अंतिम संस्कार किया जाए, लेकिन परिवार वालों ने इससे इनकार कर दिया। उन्होंने कहा कि अगर बाबा की मृत्यु साधारण होती तो वह स्वयं मंदिर परिसर में अंतिम संस्कार करते। फिलहाल सखी बाबा की मौत से दोनों गांव में मातमी माहौल है।

सखी बाबा मंदिर परिसर में ही एक झोपड़ी बनाकर वहीं रहते थे। खबरों के मुताबिक, बाबा हर रोज पूजा-अर्चना करते थे और रविवार सुबह एक धार्मिक जुलूस भी निकाला करते थे और इसके बाद झोपड़ी में वापस जाकर आराम करते थे और इसी वक्त रामवीर यादव ने उनकी हत्या की होगी।

पुलिस ने बताया कि कुछ लोगों ने रामवीर को वहां से भागते हुए भी देखा था और फिर उन सभी ने जाकर बाबा को वहां मृत पाया।

वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक संकल्प शर्मा ने कहा, “पुरानी रंजिश के चलते रामवीर यादव ने चाकू घोंपकर सखी बाबा की हत्या कर दी है। रामवीर यहीं का रहने वाला है। हमने उस पर भारतीय दंड संहिता (आईपीसी) की धारा 302 (हत्या) के तहत मामला दर्ज किया है और उसे जल्द ही गिरफ्तार कर लिया जाएगा। हत्या के पीछे का सही कारण अभी भी स्पष्ट नहीं हो पाया है। हमने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है और उनके रिश्तेदारों को सूचित कर दिया है।”

loading...
loading...

Check Also

Corona Vaccination : 1 मार्च से किसको, कैसे और कितने में लगेगा कोरोना टीका, जानें हर सवाल का जवाब

नई दिल्ली कोरोना के खिलाफ देश में 1 मार्च से दूसरे चरण का टीकाकरण अभियान ...