Friday , November 27 2020
Breaking News
Home / ख़बर / 8 सीटों का रिजल्ट देख समझ लीजिए, नीतीश को कितना डैमेज किए चिराग

8 सीटों का रिजल्ट देख समझ लीजिए, नीतीश को कितना डैमेज किए चिराग

पटना :  नीतीश कुमार की पार्टी बिहार चुनाव के नतीजों में तीसरे नंबर पर है। नीतीश कुमार की यह हालत एलजेपी की वजह से हुई है। एलजेपी सुप्रीमो चिराग पासवान ने नीतीश कुमार को बड़ा डैमेज किया है। नीतीश अगर आज तीसरे नंबर पर हैं, तो चिराग पासवान की वजह से ही हैं। चिराग साथ होते बिहार में परिणाम कुछ और होता। रिजल्ट के बाद नीतीश के भविष्य को लेकर भी सवाल उठ रहे हैं।

चुनाव के दौरान चिराग पासवान नीतीश कुमार पर खुल कर वार कर रहे थे। वह डंके की चोट पर दावा कर रहे थे कि 10 नवंबर के बाद नीतीश कुमार सीएम नहीं रहेंगे। रूझानों के बाद एनडीए को बहुमत मिलता दिख रहा है। लेकिन आइए हम आपको 8 सीटों का गणित समझाकर दिखाते हैं कि एलजेपी ने जेडीयू को कैसे नुकसान पहुंचाया है।

महुआ में एलजेपी ने जेडीयू को किया डैमेज
महुआ विधानसभा क्षेत्र से लालू प्रसाद यादव के बड़े बेटे तेज प्रताप चुनाव लड़ते थे। इस बार उन्होंने सीट बदल दिया है। महुआ से आरजेडी ने राकेश रौशन को टिकट दिया था। राकेश रौशन को 30 हजार से ज्यादा वोट मिले हैं। वहीं, जेडीयू उम्मीदवार आसमां परवीन को अभी तक 24 हजार से ज्यादा वोट मिले हैं। लेकिन यहां आरजेडी के राकेश रौशन चुनाव जीत रहे हैं। जबकि एलजेपी उम्मीदवार संजय कुमार सिंह को 12 हजार के करीब वोट मिले हैं। अगर एलजेपी एनडीए में रहती तो शायद परिणाम कुछ और होता।

बेगूसराय जिले मटिहानी सीट पर भी ऐसी ही परिस्थिति बनी है। मटिहानी से सीपीआई उम्मीदवार राजेंद्र प्रसाद सिंह ने जीत हासिल की है। राजेंद्र सिंह को 37 हजार से ज्यादा वोट मिले हैं। वहीं, जेडीयू के बोगो सिंह को 31 हजार से ज्यादा वोट मिले हैं। जबकि एलजेपी के राजकुमार को सिंह को 26 हजार से ज्यादा मत मिले हैं। एलजेपी सीट तो नहीं जीत पाई लेकिन जेडीयू का नुकसान कर दिया है।

महिषी में एलजेपी ने पहुंचाया नुकसान
महिषी में आरजेडी के गौतम कृष्ण जीते हैं। उन्हें 47 हजार से ज्यादा वोट मिले हैं। वहीं, जेडीयू के गुंजेश्वर को 45 हजार से ज्यादा मत मिले हैं। लेकिन एलजेपी ने यहां भी खेल बिगाड़ दिया है। एलजेपी उम्मीदवार ने 7 हजार के करीब वोट काटे हैं।

मंत्री कृष्णनंदन वर्मा हार गए
वहीं, जहानाबाद सीट से जेडीयू के मंत्री कृष्णनंदन वर्मा चुनाव हार गए हैं। कृष्णनंदन वर्मा को 35242 वोट मिले हैं। वहीं, आरजेडी के सुदय यादव को 63225 वोट मिले हैं। वह चुनाव जीत गए हैं। एलजेपी की इंदु देवी कश्यप ने इस सीट पर 20 हजार से ज्यादा वोट काटे हैं।

कुर्था में भी हराया

अरवल जिले के कुर्था में भी यहीं स्थिति रही है। यहां से आरजेडी के बागी कुमार वर्मा चुनाव जीत गए हैं। जेडीयू के सत्यदेव कुशवाहा 8 हजार से ज्यादा मतों से चुनाव हार गए हैं। यहां भी एलजेपी उम्मीदवार भुवनेश्वर पाठक ने 8 हजार से ज्यादा वोट काटे हैं।

नोखा में आरजेडी की जीत
नोखा से आरजेडी की अनिता देवी ने जीत हासिल की है। जेडीयू उम्मीदवार नागेंद्र चंद्रवंशी को 41 हजार से ज्यादा मत मिले थे लेकिन चुनाव हार गए। वहीं, एलजेपी के कृष्णा कबीर ने 11 हजार से ज्यादा वोट काटे हैं।

loading...
loading...

Check Also

स्तनपान कराती मां को चुभी कोई चीज, खोला बेटे का मुंह तो रह गई हैरान !

आयरलैंड में एक बच्चे के साथ ऐसा कुछ हुआ कि साइंस भी हैरान रह गई! ...