Thursday , October 29 2020
Breaking News
Home / क्राइम / सुशांत ने नहीं किया सुसाइड, बेरहमी से किया गया मर्डर, सामने हैं ये 5 सबूत !

सुशांत ने नहीं किया सुसाइड, बेरहमी से किया गया मर्डर, सामने हैं ये 5 सबूत !

सुशांत सिंह राजपूत (Sushant Singh Rajput) की मौत का राज़ अबतक सामने नहीं आ पाया है. इस केस को लेकर अब असल मुद्दा भटकता जा रहा है. लेकिन इस बीच AIIMS ने सुशांत सिंह राजपूत की विसरा रिपोर्ट CBI को सौंप दी है. और बड़ी बात ये है कि एम्स की इस रिपोर्ट का अगर आप पोस्टमार्टम करें तो आप भी बोलेंगे कि सुशांत सिंह राजपूत को बड़ी ही बेरहमी से मार डाला गया. सुशांत के हत्यारे छिपकर बैठे हैं, लेकिन अब उनका काउंटडाउन शुरू हो चुका है क्योंकि अबतक गुत्थी इस बात में उलझी हुई थी कि ये हत्या है या आत्महत्या? मगर अब ये साफ हो रहा है कि सुशांत ने सुसाइड नहीं की बल्कि उन्हें मार डाला गया. आपको सबूत के साथ ये बात समझाते हैं कि सुशांत की हत्या हुई, इस बात पर जांच एजेंसियों भी यकीन करने लगी हैं.

सुशांत के हत्या से जुड़े 5 अहम सबूत

सबूत नंबर 1). ‘सुशांत की हत्या संभव, आत्महत्या नहीं है’

सुशांत सिंह राजपूत के मौत की गुत्थ अब सुलझती दिखाई दे रही है. सुशांत की मौत के मामले में बहुत बड़ा ट्विस्ट आ गया है. ये एंगल AIIMS फॉरेंसिक रिपोर्ट में सामने आया है कि सुशांत सिंह राजपूत की हत्या संभव है, आत्महत्या की आशंका नहीं है. मतलब साफ है, अब हत्यारों का बचना नामुमकिन होता दिख रहा है.

सबूत नंबर 2). लिगचर मार्क सुसाइड का नहीं है

AIIMS फॉरेंसिक रिपोर्ट में ये भी बात सामने आई है कि सुशांत के गले पर मिला निशान (Ligature Mark) सुसाइड का नहीं है. यही वजह है कि इस मामले में सुशांत के हत्या की आशंका जताई गई है.

तस्वीर में ये निशान राउंड शेप में साफ-साफ दिख रहा है. इस निशान को ध्यान से देखकर समझा जा सकता है कि मेरी मौत अगर फंसे में लटकने से होती तो निशान दूसरे तरह का होता. वो मार्क उपर की तरफ जाता दिखता, लेकिन यहां ये साफ होता है कि आत्महत्या करने से ऐसे निशान नहीं पैदा होते.

सबूत नंबर 3). प्रोटोकॉल फॉलो करने में कूपर अस्पताल नाकाम

ये सवाल लगातार उठ रहे थे कि सुशांत की रहस्यमयी मौत बांद्रा में हुई. मुंबई के बांद्रा में कई मशहूर अस्पताल हैं, तो फिर सुशांत की डेड बॉडी को पोस्टमार्टम के लिए कूपर अस्पताल क्यों ले जाया गया? जबकि बांद्रा से कूपर अस्पताल की दूरी 7-8 किलोमीटर से अधिक है. लेकिन आखिर ऐसी क्या वजह थी जिसके चलते पुलिस ने बॉडी को पोस्टमार्टम के लिए बांद्रा से अंधेरी ले गई? वो भी कूपर अस्पताल, जो पहले से ही काफी विवादों में रहा है.

कई बॉलीवुड हस्तियों की रहस्यमयी मौत को आत्महत्या करार देने को लेकर विवादों में रहने वाले कूपर अस्पताल का कोई जवाब नहीं है. बड़ा सवाल तो ये है कि कूपर अस्पताल को सुशांत की डेड बॉडी पर चोट के निशान क्यों नहीं नजर आए? और भला पुलिस के दबाव में आकर डॉक्टरों ने रात के 11 बजे सुशांत का पोस्टमार्टम क्यों किया? उसके बाद ही पोस्टमार्टम करने वाले डॉक्टर्स तब तक छुट्टी पर चले गए, जब तक CBI ने पूछताछ नहीं शुरू की.

सबूत नंबर 4). जहर का कोई संकेत नहीं, लेकिन हत्या संभव

सुशांत की एम्स रिपोर्ट में बड़ा खुलासा हुआ है. AIIMS की रिपोर्ट में ये कहा गया है कि सुशांत के विसरा में किसी तरह का ज़हर नहीं पाया गया है. लेकिन हत्य पर संदेश जाहिर करते हुए ये कहा गया है कि हत्या संभव है.

सबूत नंबर 5). एम्स सीबीआई जांच के अनुरूप है (AIIMS Findigs in Line with CBI Probe)
बता दें, सीबीआई की जांच अपने आखरी दौर में है, AIIMS के फॉरेंसिक साइंस विभाग और CFSL की फाइंडिंग लगभग एक जैसी है. मतलब साफ है, अब CBI हत्यारों की तलाश और हत्या की वजह तलाशने के बिन्दु पर काम करेगी.

AIIMS ने अपने रिपोर्ट में हत्या से इनकार नहीं किया है. साथ ही मर्डर की आशंका जताई है. सुसाइड से इनकार भी कर दिया है. मतलब ये कि कातिलों का चेहरा अब सामने आकर रहेगा. पूरा देश सुशांत को इंसाफ दिलाने के लिए मुहिम चला रहा है. ऐसे में अब ऐसा लगने लगा है कि सुशांत को इंसाफ मिलने वाला है और उनके कातिलों को सजा मिलकर रहेगी.

loading...
loading...

Check Also

पैर पर टैटू बनवाए कुणाल खेमू, VIDEO में तड़पते हुए दिखे, जानें किसने रिकॉर्ड किया उनका हाल

सोहा अली खान और कुणाल खेमू बॉलिवुड के क्यूट कपल हैं। दोनों सोशल मीडिया पर ...