Saturday , November 28 2020
Breaking News
Home / जरा हटके / पीला ही क्यों होता है स्कूल बसों का रंग, पीछे है बहुत बड़ा कारण

पीला ही क्यों होता है स्कूल बसों का रंग, पीछे है बहुत बड़ा कारण

बचपन में स्कूल तो आप गए ही होंगे, स्कूल का टाइम ऐसा होता है जिसे हम पूरी जिंदगी नहीं भुला पाते। स्कूल में दोस्तों के साथ की गई मस्ती पूरी उम्र याद रहती है। जब आपको स्कूल ले जाने के लिए स्कूल बस आती थी तो आपके मन में कभी ना कभी यह सवाल तो जरूर आया होगा कि आखिर सभी स्कूल बसों का रंग पीला ही क्यों होता है? और केवल उस समय ही नहीं अभी भी आप स्कूल बस को देखकर सोचते होंगे कि आखिर इसके पीले रंग का क्या रहस्य है.

इतने सारे रंग होने के बावजूद भी स्कूल बसों का रंग केवल पीला होना अपने आप में एक सवाल खड़ा करता है। अगर आपको आपके इस सवाल का जवाब नहीं मिला है तो चिंता मत कीजिए आज हम आपको यही बताने वाले हैं कि आखिर स्कूल बसों का रंग पीला ही क्यों होता है। तो आइए जानते है

स्कूल बसों का रंग पीला ही क्यों होता है?

अगर आप सोचते हैं कि बसों को सुंदर दिखाने के लिए इनको पीला रंग किया जाता है तो आप गलत हैं। आपको बता दें कि स्कूल बसों का रंग पीला चुनने के पीछे भी एक खास वजह है, और केवल भारत में ही नहीं बल्कि दुनिया की लगभग सभी देशों में स्कूल बसों का रंग पीला ही होता है। दरअसल इसके पीछे वैज्ञानिक कारण यह है कि पीले रंग में बाकी रंगों की तुलना में 1.24 गुना ज्यादा आकर्षण होता है जिसकी वजह से हम पीले रंग को जल्दी और दूर से आसानी से देेख सकते हैं। आपने देखा होगा की सर्दियों के दिनों में धुंध के समय में लोग अपनी गाड़ियों की हेडलाइन पर पीले रंग के कागज की परत लगाते हैं ताकि धुंध में अच्छी तरह दिखाई दे सके और कोई दुर्घटना ना हो।

स्कूल बसों का रंग पीला करने के पीछे भी यही कारण है कि किसी भी प्रकार की दुर्घटना ना हो, क्योंकि पीले रंग की बस धुंध और कम रोशनी में आसानी से नजर आ जाती हैं। आपको मालूम होगा की प्रति वर्ष भारत में सैकड़ों सड़क दुर्घटनाएं होती हैं और उनमें स्कूल बस भी शामिल हैं। इसलिए इन दुर्घटनाओं में होने वाले नुकसान को कम करने के लिए साल 2012 में सुप्रीम कोर्ट ने एक आदेश जारी किया था जिसमें कहा गया था कि सभी स्कूल बसों का रंग पीला होना अनिवार्य हैं। इसके अतिरिक्त कोर्ट ने स्कूल बसों की सेफ्टी के लिए कुछ अन्य सुझाव भी दिए थे जैसे स्कूल बसों के अंदर फर्स्ट एड की सुविधा उपलब्ध होनी चाहिए, सभी प्राइवेट स्कूल बसों के ड्राइवर का वेरिफिकेशन भी होना चाहिए।

यातायात साइन बोर्ड भी होते है पीले रंग के :

पीला रंग सिर्फ स्कूल बसों का ही नहीं होता, आपने देखा होगा कि बड़े-बड़े हाईवे और अन्य सड़क मार्गों पर यातायात सुरक्षा के लिए लगाए गए साइन बोर्ड भी पीले रंग के ही होते है ताकि हमें आसानी से नजर आ सकें। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि अमेरिका जैसे बड़े देश में भी स्कूल बसों का रंग पीला ही होता है।

तो अब आपको पता चल गया होगा कि आखिर स्कूल बसों का रंग केवल पीला ही क्यों होता है। अगर आपको हमारे द्वारा दी गई यह जानकारी पसंद आई हो तो शेयर जरूर कीजिए।

loading...
loading...

Check Also

‘हम मजदूरों को खुदाई में सोना मिला है, आप आधे दाम ही दे दो साहब!’

ग्वालियर : साहब हम मजदूर हैं। जेसीबी से खुदाई के दौरान हमें सोना मिला है। ...