Wednesday , November 25 2020
Breaking News
Home / उत्तर प्रदेश / हजारों यूनिट बिजली का चूना लगा रहे घर पर लगे पुराने मीटर, स्मार्ट से भी चल रहा तेज

हजारों यूनिट बिजली का चूना लगा रहे घर पर लगे पुराने मीटर, स्मार्ट से भी चल रहा तेज

लखनऊ. अगर आपके घरों में साधारण पुराना मीटर भी लगा है तो भी आपको सचेत रहने की जरूरत है। क्योंकि साधारण मीटर तो स्मार्ट मीटर से भी ज्यादा यूनिट बिजली की खपत दिखा रहे हैं। यह साधारण मीटर ज्यादातर गांव में लगाए जा रहे हैं। अभी तक स्मार्टमीटर के 30 गुना तेज चलने की शिकायतें आईं और ऐसे मीटर पकड़े भी गए, लेकिन अब साधारण मीटर भी बिजली उपभोक्ताओं की जेब काटने में लगे हैं। गांव में लगे साधारण मीटर कभी करेंट दौड़ते ही हजारों यूनिट बिजली की खपत दिखा दे रहे हैं तो कहीं एकदम से लोड 86 किलोवाट तक पहुंच रहा है। ये मीटर खतरनाक भी इतने हैं कि पावर सप्लाई 240 वोल्ट देने पर मीटर इसे 490 वोल्ट दिखाता हैं, जिससे इसके दगने पर घरों में आग तक लग सकती है।

साधारण मीटर भी चल रहे तेज

बीत दिनों खुलासा हुआ कि लखनऊ में ऐसे स्मार्ट मीटर लगे हैं, जिनका लोड जंप होने के साथ ही वह 30 गुना तक तेज भी चल रहे थे। यूपी सरकार में ऊर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा ने इसकी उच्चस्तरीय जांच कराई। लेकिन अब प्रदेशभर के गांवों में सौभाग्य, झटपट समेत तमाम योजनाओं के कनेक्शनों में लगाए जा रहे मीटरों में भी ऐसी ही शिकायतें सामने आ रही हैं। पावरटेक कंपनी के मीटर में कमियों को लेकर जांच कराने की बात सामने आ रही है। मीटर की खामियों से बिजली उपभोक्ताओं के सामने बड़ी मुसीबत आ रही है।

मीटर में बड़ी खामियां

बीते दिनों मैनपुरी के अधिशासी अभियंता ओम प्रकाश ने आगरा विद्युत भंडार खंड के अधिशासी अभियंता को पत्र लिखकर बताया कि एक बिजली उपभोकेता के यहां पावरटेक का मीटर लगा। जिसमें बिजली सप्लाई होते ही रीडिंग 5913 यूनिट पर पहुंच गई। इसके अलावा एक अन्य जगह झटपट योजना में मीटर से कनेक्शन दिया गया। 27 को चेक करने पर रीडिंग तो 5915 आई, जबकि डिमांड शून्य ही रही। इस पर अधिशासी अभियंता ने पावरटेक कंपनी के मीटरों की विश्वसनीयता पर सवाल खड़ा करते हुए कहा कि इससे विभाग की छवि भी खराब हो रही है। इसके अलावा यूपी के अन्य जिलों से भी शिकायतें सामने आ रही हैं।

कराई जाए जांच

वहीं उत्तर प्रदेश राज्य विद्युत उपभोक्ता परिषद के अध्यक्ष अवधेश वर्मा ने स्मार्ट मीटर की तरह इन साधारण मीटरों की खामियों पर भी सरकार से उच्चस्तरीय जांच कराने की मांग की है। अवधेश वर्मा का कहना है कि उपभोक्ताओं को ठगने वाले इन मीटरों को लगाने पर तत्काल रोक लगे। अन्यथा विभाग की छवि तो धूमिल होगी ही साथ ही उपभोक्ताओं का भरोसी भी हम पर से उठेगा।

loading...
loading...

Check Also

सुमो का दावा- स्पीकर चुनाव के लिए हमारे विधायकों को फोन कर रहे लालू ; अगर NDA हारा तो जाएगी सरकार

पटना :  बिहार के पूर्व डेप्युटी सीएम सुशील कुमार मोदी ने आरजेडी सुप्रीम को लालू ...