Sunday , October 25 2020
Breaking News
Home / उत्तर प्रदेश / हाथरस गैंगरेप पीड़िता ने दिल्ली में दम तोड़ा, बलात्कार को फर्जी बताने वाले क्या मौत पर यकीन करेंगे?

हाथरस गैंगरेप पीड़िता ने दिल्ली में दम तोड़ा, बलात्कार को फर्जी बताने वाले क्या मौत पर यकीन करेंगे?

उत्तर प्रदेश के हाथरस की बेटी करीब 15 दिन से अस्पताल में जिंदगी मौत की लड़ाई लड़ रही थी लेकिन दरिंदगी के घाव इतने गहरे थे कि वह भर नहीं पाए। खबर के मुताबिक दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल में हाथरस की बेटी ने दम तोड़ दिया।

14 सितंबर को हाथरस में इस बेटी के साथ गैंगरेप किया गया। दरिंदों ने हैवानियत की सारी हदें पार कर दी। रिपोर्ट के मुताबिक हाथरस के चंदपा इलाके में 14 सितंबर को उच्च जाति के चार दंबगों ने दलित परिवार की बेटी का गैंगरेप किया।

गैंगरेप की घटना के बावजूद स्थानीय पुलिस ने केस में लापरवाही बरती। घटना के दो दिन बाद गैंगरेप का केस दर्ज किया गया। मामला जब सोशल मीडिया पर उठाया गया तब पूरा शासन प्रशासन इसको फर्जी बताने में जुट गया।

पीड़िता के साथ दरिंदों ने इतनी बेरहमी दिखाई कि उसकी जीभ काट डाली वहीं उसके शरीर की कई हड्डियाँ भी तोड़ दी। पीड़िता को शुरुआत में अलीगढ़ मेडिकल अस्पताल में भर्ती कराया गया। आजाद समाज पार्टी के चंद्रशेखर रावण के अलीगढ़ पहुंचने पर सरकार नींद से जागी।

करीब 15 दिन बाद हाथरस की बेटी को दिल्ली के सफदरजंग में भर्ती कराया लेकिन तब बहुत देरी हो चुकी थी। सूबे में नाकामी छुपाते प्रशासनिक अधिकारी और अपराधी दोनों इस बेटी के मौत के जिम्मेदार है। सोशल मीडिया पर खबर आते ही सरकार पर सवाल उठने लगे हैं।

यूपी के पत्रकार ब्रजेश मिश्रा ने लिखा कि,ये शोक से भरी खबर है। जिसे पढ़कर इंसानियत से भरोसा हिल जाएगा। हाथरस की गुड़िया नहीं रही। गैंगरेप के बाद दलित बिटिया की जुबान काटी गई और भयानक जख्म दिए गए थे। गुड़िया की मौत उत्तर प्रदेश के लिए कलंक है। पुलिस दरिंदों को बचाती रही। 8 दिन लगे थे गैंगरेप धारा लिखने मे। आज शोक दिवस है।

वहीं आप सांसद संजय सिंह ने लिखा कि, योगी जी आपकी सरकार कहाँ है? छोटी-छोटी बच्चियों के साथ बलात्कार करके उनकी निर्मम हत्त्या कर दी जा SSP रंगदारी माँगता है नही मिलने पर हत्त्या करा देता है अभी भी खुलेआम घूम रहा है हाथरस की गुड़िया तो इस दुनिया से चली गई योगी जी और कितनी गुड़िया ऐसी दरिंदगी का शिकार होंगी?

इसके अलावा रिटायर्ड आईएएस अधिकारी सूर्य प्रताप सिंह ने कहा कि, पूरे समाज को शर्मिंदा होना चाहिए, चाहे किसी भी बेटी के साथ ऐसा हो। चलो, बोलते हैं कि हम सब शर्मिंदा हैं।

आपको बता दें कि, उत्तर प्रदेश में बेटियों की सुरक्षा पर सवाल उठने लगे हैं। योगी सरकार की पोस्टर लगाने की स्कीम और सुरक्षा देने की गारंटी सिर्फ कागजों तक सीमित होकर रह गई है। एंटी रोमियों दल पर खुद सवाल उठ रहे हैं।

loading...
loading...

Check Also

दबंगों ने गायब किया बच्चा और पत्नी को पहुंचाया अस्पताल, फरियाद की तो यूपी पुलिस बोली ‘पागल’

गोंडा : यूपी की मित्र पुलिस की कार्यशैली पर बड़े सवाल खड़े हो रहे हैं। ...