Sunday , September 20 2020
Breaking News
Home / उत्तर प्रदेश / 2 महीने बाद सामने आई शालिनी, धर्मांतरण कर बनी फैसल की बीवी, परिवार से खतरा बताई

2 महीने बाद सामने आई शालिनी, धर्मांतरण कर बनी फैसल की बीवी, परिवार से खतरा बताई

कानपुर की 22 वर्षीय शालिनी यादव पुत्री जयचंद यादव 2 महीने पहले घर से लापता हो गई थीं। परिजनों ने शालिनी को खूब ढूँढा। सहेली, स्कूल, दोस्त, सखियां.. सबसे पड़ताल की जाती रही, बावजूद इसके शालिनी का कोई भी अता-पता नहीं चल सका। कल देर रात फेसबुक में अपलोड एक वीडियो के जरिए शालिनी बाहर आई। सोशल मीडिया पर आए वीडियो में शालिनी एक मुस्लिम युवक मोहम्मद फैसल के साथ नजर आती हैं। वह अपना आधार कार्ड दिखाकर अपनी पहचान बताती हैं। शालिनी एचआईजी बर्रा 6 कानपुर दझिण की रहने वाली हैं। शालिनी 29 जून को अपने कॉलेज में एग्जाम का बहाना बनाकर घर से लखनऊ के लिए निकली थी। इस वीडियो में शालिनी खुद कबूल करती है कि वह अपने दोस्त मोहम्मद फैसल जिसे वह बीते 6 सालों से जानती हैं, के साथ दो जुलाई को गाजियाबाद आकर मुस्लिम रीति-रिवाज से निकाह कर लिया।

शालिनी आगे कहती हैं कि उसने बिना किसी जोर जबरदस्ती के अपनी मर्जी से निकाह किया है। जिसके बाद उसने अपना धर्म परिवर्तन करते हुए गाजियाबाद न्यायालय में शादी रजिस्टर्ड करवा ली। अपनी शादी का सर्टिफिकेट दिखाते हुए लड़की अपने घरवालों पर आरोप लगाती हैं कि उसके भाई उसे धमकाने का प्रयास कर रहे हैं। लड़की कहती है कि उसके भाई अभिषेक यादव ने उससे कहा तुमने जो किया है, तुम्हें लगता होगा कि कुछ नहीं होगा। तुम्हें लगता है कि हम सब मान जाएंगे, लेकिन ऐसा कुछ भी नहीं है। साढ़े आढ मिनट के इस वीडियो में लड़की शालिनी ने अपने माँ भाई, भाभी सबके नाम गिनाए साथ ही उनसे लगातार बात होने का भी हवाला दिया।

शालिनी बताती हैं कि उसके घरवाले उसे घर आ जाने की बात कह रहे हैं। लड़की के भाई का दोस्त उसे किसी से कुछ बताने से मना करते हुए उसे चुपचाप गाड़ी से घर ले आने की बात कहता है। लड़की के पिता ने देर रात लड़की से बात की और उसे समझाया। लड़की का कहना है कि इस दौरान उसके पिता ने उसके शौहर फैसल से भी बात की। लड़की के पिता ने फैसल से उनके घरवालों को जानकारी होने की बाबत पूछा तो लड़के ने अपने घरवालों को घस शादी की जानकारी होने से इनकार कर दिया।

शालिनी और उसके शौहर का आरोप है कि शालिनी के घरवाले उसके शौहर के घर जाकर उसके परिवार को धमकाया है। शालिनी ने पिता पर आरोप लगाया है कि उन्होंने शालिनी को जिंदा या मुर्दा उनके हवाले सौंप देने का दबाव भी बनाया है। 14 जुलाई को थाना किदवई नगर थाने के दरोगा अखिलेश यादव व दो सिपाही उन दोनों को लेकर चाँदनी महल थाने ले गई। जब वह दोनों नहीं आए तो पुलिस ने उनसे एक अप्लीकेशन लिखवाकर वापस आ गई।

अंत में लड़की ने यह वीडियो बनाकर वायरल करने का कारण भी बताया। लड़की कहती है कि उसके पापा ने उसके शौहर व उसके परिवार पर मुकदमा लिखवाया है। मुकदमे में उसके शौहर पर आरोप है कि वह तमंचे की नोंक पर उसकी लड़की को ले गया है। दोनों ने अपनी जान को खतरा बताया है।

Check Also

बेरोजगारों की फौज को और बढ़ाने जा रही सरकार, अब नौकरी से निकालना होगा और भी आसान !

केंद्र सरकार जल्द ही कर्मचारियों के अधिकारों को कम करने के लिए एक विधेयक पास ...