Thursday , December 3 2020
Breaking News
Home / उत्तर प्रदेश / 736 में से 327 ट्रेनों में टिकट वेटिंग, निपटने को रेलवे ने की बड़ी प्लानिंग!

736 में से 327 ट्रेनों में टिकट वेटिंग, निपटने को रेलवे ने की बड़ी प्लानिंग!

मोदी सरकार की तरफ से इस फेस्टिव सीजन में सैकड़ों स्पेशल ट्रेनें चलाई गई हैं। 200 से अधिक तो फेस्टिवल स्पेशल ट्रेनें चलाई गई हैं, लेकिन अभी भी यात्रियों को वेटिंग लिस्ट का सामना करना पड़ रहा है। रेलवे के अधिकारियों की मानें तो अभी चल रही 736 स्पेशल ट्रेनों में से 327 ट्रेनों में वेटिंग लिस्ट दिखाई दे रही है। लेकिन टेंशन लेने की जरूरत नहीं है, क्योंकि रेलवे ने इस समस्या से छुटकारा पाने की तैयारी भी कर ली है।

यूं खत्म होगी वेटिंग लिस्ट की समस्या

वेटिंग लिस्ट को खत्म करने के लिए रेलवे ने तय किया है कि अब और अधिक ट्रेनें चलाई जाएंगी। इसके लिए अभी टिकटों का विश्लेषण चल रहा है। इसके बाद लोगों को कनफर्म सीट दिलाने के मकसद से रेलवे कुछ और ट्रेनें चला सकता है। ये ट्रेनें क्लोन ट्रेनें होने की संभावना है। रेलवे बोर्ड के चेयरमैन पहले ही ये कह चुके हैं कि जब-जब जरूरत पड़ेगी, रेलवे की तरफ से और ट्रेनें चलाई जाएंगी।

क्या होती हैं क्लोन ट्रेनें?

किसी वस्तु का क्लोन (Clone) बनाया जाता है, तो वह असल का नकल (Duplicate) होता है। उसी तरह क्लोन ट्रेन (Clone Train) भी असल ट्रेन की नकल होगी। जिन रूट पर जरूरत होगी, उस रूट पर क्लोन ट्रेन चलाई जाएगी। मान लिया जाए कि दिल्ली से पटना के बीच चलने वाली संपूर्ण क्रांति एक्सप्रेस (Sampoorn Kranti Express) में खूब मांग होगी तो उसी की नकल बनायी जाएगी।

20 अक्टूबर से चल रही हैं फेस्टिवल स्पेशल ट्रेनें

रेलवे ने फेस्टिव सीजन को देखते हुए 20 अक्टूबर से 392 फेस्टिवल स्पेशल ट्रेनें शुरू की थीं। ये ट्रेनें 30 नवंबर तक चलेंगी। दिवाली और छठ के मद्देनजर रेलवे ने ये ट्रेनें चलाई हैं। रेलवे समय-समय पर जरूरत के हिसाब से और ट्रेनें चला रहा है। अभी तक रेलवे ने 300 से अधिक मेल/एक्सप्रेस रेल गाड़ियों को सेवा में लगाया है जो समूचे देश में अब नियमित तौर पर चल रही हैं।

loading...
loading...

Check Also

गोबर के थैले में लपेटकर फेंका नवजात, दम घोटने को मुंह पर बांधा रुमाल, फिर भी बच गई जान

हनुमानगढ़ ;  जिले के पीलीबंगा के दुलमानी क्षेत्र में मंगलवार को एक थैले में नवजात ...