Monday , September 28 2020
Breaking News
Home / ख़बर / 8.5 करोड़ लोगों के अकाउंट में 2-2 हजार रुपए भेजी सरकार, क्या आपको मिले ?

8.5 करोड़ लोगों के अकाउंट में 2-2 हजार रुपए भेजी सरकार, क्या आपको मिले ?

नई दिल्ली : आज प्रधानमंत्री मोदी ने 8.5 करोड़ किसानों के खाते में 2000-2000 रुपये की किस्त पीएम किसान योजना के तहत जारी की। इसके लिए उन्होंने 17000 करोड़ का फंड जारी किया है। कोरोना वायरस महामारी के दौरान यह योजना किसानों के लिए बहुत मददगार साबित हो रही है। इसके अलाव उन्होंने एक लाख करोड़ के ऐग्रीकल्चर इन्फ्रास्ट्रक्चर फंड के लिए फाइनैंसिंग फसिलटी लॉन्च की।

पीएम किसान योजना किस्त
यह पीएम किसान की छठी किस्त है। इस साल की यह दूसरी किस्त है। इस योजना के तहत रजिस्टर्ड किसानों को हर साल 6000 रुपये तीन किस्तों में, चार-चार महीने के अंतराल पर, में दी जाती है। हर किस्त में किसानों के अकाउंट पर 2000 ट्रांसफर किए जाते हैं।

ऐग्री इन्फ्रास्ट्रक्चर फंड क्या है?
यह वह फंड का जिसका इस्तेमाल कृषि संबंधी इन्फ्रास्ट्रक्चर तैयार करने में किया जाएगा। केंद्रीय कैबिनेट ने ऐग्रीकल्चर इन्फ्रास्ट्रक्चर फंड के लिए एक लाख करोड़ की मंजूरी दे दी है। इस फंड का इस्तेमाल फसल कटाई के बाद कृषि संबंधी इन्फ्रास्ट्रक्चर के लिए किया जाएगा। इसकी मदद से किसानों के लिए कोल्ड स्टोरेज तैयार करना, कलेक्शन सेंटर बनाना, फूड प्रोसेसिंग यूनिट लगाना जैसे काम किए जाएंगे।

इससे किसानों का क्या होगा?
अगर कृषि इन्फ्रास्ट्रक्चर तैयार होगा तो किसान के पास फल, सब्जी और अन्य कृषि उत्पादों के रखने के लिए बेहतर भंडारण की सुविधा होगी। कोल्ड स्टोरेज में किसान अपनी फसल रख पाएंगे। इससे फसलों की बर्बादी कम होगी और उचित समय पर उचित कीमत के साथ किसान अपनी फसल बेच पाएंगे। फूड प्रोसेसिंग यूनिट लग जाने से भी किसानों का बहुत फायदा होगा और हर साल होने वाले नुकसान से राहत मिलेगी।

मकसद क्या है?
इसकी मदद से किसानों को उनकी फसल के लिए ज्यादा पैसे मिलेंगे और उनकी इनकम बढ़ाने में मदद मिलेगी। सरकार किसानों की इनकम दोगुना करने के वादे पर बहुत तेजी से आगे बढ़ रही है। एक लाख करोड़ का फंड अलग-अलग फाइनैंसिंग इंस्टिट्यूशन की मदद से इकट्ठा किया जाएगा। 12 में 11 पब्लिक सेक्टर बैंक पहले ही MOUs साइन कर चुके हैं।

Check Also

पीपीई किट में खुद को डॉक्टर बताए सफाईकर्मी, महिला मरीज बोली- डॉक्टर तो दूर रहने को कहते हैं, आप छू रहे हो

गाेड्डा जिले के सिकटिया काेविड सेंटर में महिला मरीजाें से छेड़छाड़ की घटना सामने आई ...