Friday , October 23 2020
Breaking News
Home / ख़बर / खड़ी हो गई थी खट्टर की खाट, बीच में आए अमित शाह और बोले- मैं हूं ना..!

खड़ी हो गई थी खट्टर की खाट, बीच में आए अमित शाह और बोले- मैं हूं ना..!

हरियाणा में किसी भी पार्टी को बहुमत नहीं मिला है. खट्टे दिल के साथ ही सही, लेकिन मनोहर लाल खट्टर हरियाणा में दोबारा सत्ता की तैयारी कर रहे हैं. विधानसभा में 8 से चुन कर आये हैं, इनमें से 7 के भाजपा के संपर्क में होने की बात कही जा रही है. इन्हीं के सहयोग से भाजपा प्रदेश में फिर से सरकार बनाने का दावा पेश करने जा रही है.

प्रदेश की 90 सीटों में से सरकार बनाने के लिये 46 सीटों की आवश्यकता है, परंतु भाजपा को 40, कांग्रेस को 31, जननायक जनता पार्टी को 10, इनेलो और एचएलपी को 1-1 सीटें प्राप्त हुई हैं तथा 7 निर्दलीय चुनाव जीते हैं. एक समय भाजपा सरकार को फँसता देख कर कांग्रेस के मुँह में पानी आ गया था और पार्टी ने हरियाणा से दिल्ली दरबार तक खूब दौड़ भी लगाई, परंतु अंततः उसके ‘हाथ’ कुछ नहीं लगा और देखते ही देखते एक बार फिर सत्ता उसके हाथ से फिसल गई.

गुरुवार दोपहर को जब एक समय ऐसा आया कि हरियाणा में भाजपा की बढ़त 40 से घट कर 36 पर आ गई. 10 महीने पुरानी जननायक जनता पार्टी (JJP) ने 10 सीटों पर बढ़त बनाई तो कयास लगाये जाने लगे थे कि अब सत्ता की ‘चाबी’ जेजेपी के हाथ में है और इन 10 सीटों के साथ वह प्रदेश में किंगमेकर की भूमिका निभाएगी, परंतु जेजेपी अध्यक्ष दुष्यंत चौटाला की चाबी उनके हाथों में ही रह गई है जो उनके लिये सत्ता के द्वार नहीं खोल पाई.

पीएम मोदी और अमित शाह ने जिस तरह से चुनाव परिणामों पर अपनी प्रतिक्रिया दी है, उससे यह अनुमान लगाया जा रहा है कि बहुमत से दूर रहने के बावजूद वह निर्दलीयों के सहयोग से प्रदेश में एक बार फिर से सत्ता पर काबिज होगी. मोदी और अमित के आत्म विश्वास को देखते हुए एक संभावना यह भी व्यक्त की जा रही है कि कदाचित बीजेपी को जेजेपी का समर्थन प्राप्त हुआ है. भाजपा किसके सहयोग से सरकार बनाएगी, यह अभी तक पूरी तरह से स्पष्ट नहीं हो पाया है, लेकिन शुक्रवार तक ये तस्वीर भी पूरी तरह से साफ हो जाएगी

loading...
loading...

Check Also

तेजस्वी के 10 लाख नौकरियों के वादे पर तंज कस रहे नीतीश, भाजपा तो कर रही 19 लाख रोजगार की बात !

पटना. बिहार में पहले फेज की वोटिंग से छह दिन पहले भाजपा ने अपना घोषणापत्र ...