Monday , January 25 2021
Breaking News
Home / क्राइम / गोतस्करी करते पकड़ा गया हेडकांस्टेबल, पुलिस का लोगो लगी गाड़ी में गौवंश लादे था बाबूलाल शर्मा

गोतस्करी करते पकड़ा गया हेडकांस्टेबल, पुलिस का लोगो लगी गाड़ी में गौवंश लादे था बाबूलाल शर्मा

जयपुर. राजस्थान पुलिस का गोतस्करों व अपराधियों से सांठगांठ का एक और संगीन मामला शनिवार काे सामने आया है। पुलिस के लिए यह शर्मसार करने वाली घटना है। पुलिस ने शनिवार काे गोतस्करों की धरपकड़ के लिए 3 जगह गाेविंदगढ़, लक्ष्मणगढ़ सहित रैणी थाना इलाके गांव गढ़ीसवाईराम में कार्रवाई की।

इस दाैरान एक हेडकांस्टेबल सहित 6 लोगों को गिरफ्तार किया है। इसके अलावा 27 गौवंशों काे मुक्त कराया गया है। गोविंदगढ़ थाना पुलिस ने शनिवार सुबह 7.30 बजे अलग-अलग जगह से दाे पिकअप गाडियों में गोकशी के लिए गोवंश लादकर हरियाणा की तरफ ले जाते 3 लोगों को पकड़ा । इनमें से रामबास फाटक के पास रोकी पिकअप को पुलिस के हेडकांस्टेबल 53 वर्षीय बाबू लाल शर्मा चला रहा था जिसे पकड़ कर पुलिस काे सुपुर्द किया।

सीओ साउथ ओमप्रकाश मीणा ने बताया कि सुबह 7.30 बजे पता चला कि रामबास फाटक के पास लाेगाें ने एक पिकअप काे राेक रखा है। जिसमें गोकशी के लिए गाय भरी हुई हैं। पुलिस माैके पर पहुंची ताे पिकअप खड़ी मिली और उसके अंदर चालक बैठा मिला। पुलिस ने गोवंश से लदी पिकअप गाड़ी काे अपने कब्जे लिया और चालक काे हिरासत में लेकर उसे थाने लाए। पूछताछ में सामने आया कि पिकअप चालक हेडकांस्टेबल बाबू लाल है। जाे पुलिस लाइन जयपुर शहर में हेडकांस्टेबल के पद पर तैनात है।

वहीं पुलिस काे पिकअप की तलाशी के दाैरान उसके अंदर 5 गोवंश ठूंस-ठूंस कर निर्दयतापूर्वक भरे मिले। इनमें 3 गाय व 2 बछड़े शामिल थे और सभी गौवंशों के मुंह व सींग रस्सियों से बांधे हुए थे। पुलिस ने आराेपी हेडकांस्टेबल बाबू लाल पुत्र सूरा राम निवासी नयाबास थाना जमवारामगढ़ जिला जयपुर काे गोवंश की तस्करी के आराेप में गिरफ्तार कर लिया।

पुलिस ने गोवंश से लदी दूसरी पिकअप गाड़ी काे कस्बे के रामगढ़ राेड पर पकड़ी और गोतस्कर आराेपी पिकअप चाक भंवर सिंह पुत्र जगदेव सिंह राजपूत निवासी डिग्गी जिला टाेंक व इस्लाम पुत्र फजरू निवासी ढाणा थाना पीनगंवा जिला नूंह मेवात हरियाणा काे गिरफ्तार किया है। पुलिस ने इनके कब्जे से पिकअप गाड़ी में भरे 6 गोवंश बरामद किए। इनमें 3 गाय, 2 बछड़े व एक बछड़ी शामिल है।

चालाकी : हेडकांस्टेबल पुलिस काे करता रहा गुमराह

पुलिस की पकड़ में आने के बाद हेडकांस्टेबल बाबू लाल से पहले ताे पुलिस काे काफी देर तक गुमराह करता रहा। पुलिस ने उससे गोवंश से संबंधित रवन्ना मांगा गया। लेकिन, उसके पास रवन्ना नहीं मिला। थानाधिकारी चंद्रशेखर शर्मा ने बताया कि हेडकांस्टेबल पहले ताे बहानेबाजी बनाता रहा और फिर बाेला कि मैं इन गायाें काे अपने मिलने वाले के घर छाेड़ने जा रहा हूं।

पुलिस ने उससे मिलने वाले व्यक्ति से फाेन पर बात कराने के लिए कहा पर वह नहीं करा सका। पुलिस काे शक हाे गया और उससे गहनता से पूछताछ की उसने गोवंश काे गोकशी के लिए हरियाणा की तरफ ले जाने की बात स्वीकार कर ली। थानाधिकारी चंद्रशेखर ने बताया कि तलाशी के दाैरान उसकी जेब में उसका पुलिस का आईडी कार्ड मिला। इसके बाद उसका पर्दाफाश हाे गया।

खुद चला रहा था पिकअप, लगा था पुलिस का लाेगाे

वैसे तो अलवर पहले से ही गाेतस्करी के लिए बदनाम है। लेकिन, ऐसा पहली बार सामने आया है कि गोवंश काे पिकअप में लादकर ले जाने वाला पुलिसकर्मी है। आराेपी पुलिस हैडकांस्टेबल बाबूलाल जिस पिकअप गाड़ी में गोवंश काे लाद कर ले जा रहा था उस पिकअप के आगे व पीछे उसने पुलिस का लाेगाे लगाया हुआ था। ताकि नाकाबंदी के दाैरान मिलने वाले पुलिस कर्मी पिकअप काे किसी स्टाफ कर्मी की गाड़ी समझे।

  • गाेतस्करी के आराेप में जयपुर पुलिस लाइन में कार्यरत हेडकांस्टेबल बाबूलाल काे गिरफ्तार किया है। जाे क्राइम करेगा, उसे सजा मिलेगी। चाहे पुलिस कर्मी ही क्याें ना हाे। प्रारंभिक जांच में पता चला कि आराेपी हैडकांस्टेबल बाबूलाल काफी समय से गैरहाजिर चल रहा था। पुलिस मामले की निष्पक्ष जांच करने में जुटी है। – तेजस्वनी गाैतम, एसपी, अलवर

उधर, लक्ष्मणगढ़ थाना पुलिस ने पिकअप में गोवंश लादकर ले जा रहे 3 आराेपी हंसराज पुत्र दुर्गा धाेबी, कानसिंह पुत्र जगदीश राजपूत व हनुमान पुत्र जयदेव शर्मा निवासी जयपुर काे गिरफ्तार किया है। पुलिस ने इनके कब्जे से 5 गोवंश बरामद किए है। इनमें एक मृत मिला है। इसी प्रकार रैणी थाना पुलिस ने गढ़ीसवाईराम-परवैणी मार्ग पर गोवंश से भरी एक गाड़ी पकड़ी है। पुलिस ने गाड़ी में लदे 11 गोवंश बरामद किए है।

loading...
loading...

Check Also

आम बजट से क्यों और कैसे जुड़ा रेल बजट, इस बार होगा क्या शेड्यूल?

1 फरवरी को आम बजट (Union Budget 2021) पेश होने वाला है. इसी बजट में ...