Tuesday , April 20 2021
Breaking News
Home / क्राइम / फांसी से पहले कान में ये बात बोलता है जल्लाद, सुनते ही अपराधी जाते हैं कांप

फांसी से पहले कान में ये बात बोलता है जल्लाद, सुनते ही अपराधी जाते हैं कांप

फ़ांसी का सीन फिल्मो में ही देखने को मिलता है. और वही से लोगो ने अंदाजा लगा दिया था की फ़ासी किस प्रकार दी जाती है. लेकिन फ़ासी को सच में बहुत ही सावधानी से दिया जाता है. फ़ासी देते समय कई सारे नियमो का पालन करना होता है.

क्या कहता है जल्लाद कैदी के कानो में

यह बात बहुत ही कम लोगो को पता होगी की फ़ासी देने से पहले जल्लाद कैदी के कानो में क्या बोलता है. जल्लाद एक ऐसा व्यक्ति होता है जिसे कैदी को मारने की जिम्मेदारी दी जाती है. ना चाहते हुए भी उसे अपनी जिमेदारी निभानी होती है. फांसी देने के दौरान एक प्रक्रिया होती है जिसे वो निभाता है.

जल्लाद कहता है “मुझे माफ़ कर दो, मैं हुक्म का गुलाम हु, मेरा बस चलता तो मैं आपको जीवन देकर सत्यमार्ग पे चलने की कामना करता|”

और यदि कैदी मुस्लिम है तो वो उसे सलाम करेगा और हिन्दू है तो उसे राम राम बोलेगा. इसके बाद वह उससे माफ़ी मांगते हुए आगे के शब्द बोलता है. इतना बोलने के बाद ही वह फ़ासी का फंदा खींच लेता है. और उस कैदी का निधन हो जाता है.

कितनी देर के लिए लटकाया जाता है फंदे में

फ़ासी का समय कोई निश्चित नहीं होता है. 10 मिनिट्स के बाद डॉक्टर के द्वारा फांसी के फंदे में चेक करके बता देते है की मृत है या नहीं. उसके बाद ही उसे फंदे से निकाल कर आगे की प्रक्रिया की जाती है.

क्या है फांसी का समय

फ़ांसी का समय सूर्योदय के पहले ही होता है जब सब लोग नींद में ही होते है. जेल प्रशासन के काम सूर्योदय के बाद शुरू हो जाते है. इस कारन से ही फ़ासी उस समय से पहले ही दी जाती है. जेल प्रशाशन के काम प्रभावित ना हो इसलिए ऐसा किया जाता है.

फ़ासी का फंदा देश में सिर्फ और सिर्फ बिहार के बक्सर में ही बनाया जाता है जहा के कैदी ही इसे तैयार करते है. यह परम्परा अंग्रेज़ो के समय से चली आ रही है. फ़ासी के फंदे को लेकर भी माप दंड तय किये गए है. फंदे की रस्सी की मोटाई डेढ़ इंच से ज्यादा मोटी रखने को कहा जाता है. हालाँकि, इस फंदे की कीमत कम ही रखी गयी है. आज से दस साल पहले फांसी का फंदा 182 रूपए में जेल प्रशासन को उपलब्ध कराया गया था.

loading...
loading...

Check Also

बीडीसी प्रत्याशियों की खरीद फरोख्त कर चुनाव में पर्चा वापसी में जुटे हिस्ट्रीशीटर सहित 7 गिरफ्तार

एक तमंचा, जिंदा कारतूस व एक लाख दस हजार 550 रुपये की नकदी व एक ...